Weather Update : यूपी में ठंड का सितम जारी, कृषि विज्ञानी बोले- फसलों को हो रहा फायदा

Weather Update- बेअसर साबित हो रही है सूरज की तपिश, मौसम विज्ञानियों का दावा अभी और बढ़ेगी गलन

By: Hariom Dwivedi

Published: 21 Jan 2021, 12:43 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
सुलतानपुर. सुलतानपुर सहित उत्तर प्रदेश के कई जिलों में कोहरे और ठंड का प्रकोप जारी है। दिन में धूप निकल रही है, लेकिन पछुआ हवायें गलन भरी सर्दी का अहसास करा रही हैं। लोग सर्दी से भले ही परेशान हैं, लेकिन यह ऐसा मौसम फसलों के लिए वरदान है। सुलतानपुर के कृषि विज्ञानी शशांक शेखर सिंह ने बताया कि मौसम फसलों के लिए अनुकूल है। अगर मौसम ऐसा ही बना रहा तो फसलों के उत्पादन में बढ़ोतरी होगी। पुरवा हवा नुकसानदायक साबित होती है, लेकिन पछुआ हवा फसलों के लिए वरदान है। उन्होंने बताया कि पुरवा हवा चलने पर रोग और कीटों का प्रकोप बढ़ जाता है। मौसम में नमी बनी रहती है तो पौधे अच्छा भोजन नहीं बना पाते हैं। फसलों को धूप की भी जरूरत होती है। ऐसे में धूप निकलने से आलू गोभी मटर की फसलों को खासा फायदा होगा।

रात को गिरेगा न्यूनतम पारा
ठंड कम होने का नाम नहीं ले रही है। गुरुवार को भी सुबह घना कोहरा छाया रहा और गलन भरी पछुआ हवाओं के चलते धूप खिलने के बाद भी ठंड कम नहीं हुई। गांव से शहर तक लोग अलाव का सहारा खोजते दिखे। घने कोहरा होने के चलते सुबह 10:00 बजे के बाद सूरज के दर्शन हुए और मौसम साफ हुआ और लोगों को ठंड से थोड़ी राहत मिली। मौसम वैज्ञानिकों का पूर्वानुमान है कि रात के न्यूनतम पारे में गिरावट हो सकती है।

सूर्यदेव ने दिलाई ठंड से राहत
इससे पहले बुधवार को चार दिनों बाद धूप निकलने से थोड़ी राहत मिली, जिसके चलते सड़कों पर सन्नाटा टूटा और बच्चों के साथ बड़ों ने भी मौसम के बदले अंदाज का लुफ्त उठाया। बाजारों में भी रोज की अपेक्षा ज्यादा हलचल देखी गई। बुधवार को सुबह 10 बजे सूर्यदेव के दर्शन के बाद ठंड से थोड़ी राहत मिली, लेकिन 15 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली पछुआ हवाएं ठंड का अहसास कराती रहीं। आचार्य नरेंद्र देव कृषि विश्वविद्यालय के मौसम विज्ञानियों के अनुसार बुधवार को धूप निकलने से तापमान में भी इजाफा हुआ है। बुधवार को जिले का अधिकतम तापमान 21 डिग्री और न्यूनतम 9 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया।

यह भी पढ़ें : कोहरे संग बर्फीली पछुआ हवाओं ने बढ़ाई गलन, अभी ठंड से राहत की उम्मीद नहीं

Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned