script Massive fire: फिर से जला सूरत: सचिन इलाके की केमिकल फैक्ट्री में हुआ बड़ा विस्फोट, 24 कर्मचारी झुलसे | Massive fire due to explosion in chemical factory at JIDC area Surat | Patrika News

Massive fire: फिर से जला सूरत: सचिन इलाके की केमिकल फैक्ट्री में हुआ बड़ा विस्फोट, 24 कर्मचारी झुलसे

locationसूरतPublished: Nov 29, 2023 04:48:21 pm

Submitted by:

Khushi Sharma

Massive fire: सूरत के सचिन इलाके में केमिकल बनाने वाली ईथर इंडस्ट्रीज के स्टोरेज टैंक में अचानक विस्फोट से भीषण आग लग गई। आग लगने के बाद स्टाफ में भगदड़ मच गई। घटना की खबर मिलते ही दमकल की तीन से ज्यादा गाड़ियां मौके पर पहुंची। इस आग में 24 कर्मचारी झुलस गए। उन्हें इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया।

सचिन इलाके की केमिकल फैक्ट्री में हुआ बड़ा विस्फोट, 24 कर्मचारी झुलसे
Massive fire: फिर से जला सूरत: सचिन इलाके की केमिकल फैक्ट्री में हुआ बड़ा विस्फोट, 24 कर्मचारी झुलसे

Massive fire: शहर के सचिन जीआईडीसी में स्थित विशेष केमिकल निर्माण कंपनी एथर इंडस्ट्रीज लिमिटेड में मंगलवार रात अचानक भीषण आग लग गई, जिससे दो दर्जन से अधिक कर्मचारी झुलस गए। उनमें चार से पांच व्यक्तियों की हालत गंभीर है।

केमिकल फैक्ट्री में विस्फोट से हड़कंप, दर्दनाक हादसा
सचिन जीआईडीसी क्षेत्र में बड़े रासायनिक उद्योग स्थित हैं। ईथर उद्योग में ज्वलनशील रसायन तैयार किये जाते हैं। इस फैक्ट्री में भी बड़े पैमाने पर केमिकल का प्रोडक्शन किया जाता है। यह घटना बीती रात 2 बजे के करीब की है। आग लगने का कारण रसायान से भरे स्टोरेज टैंक में अचानक विस्फोट होना बताया जा रहा है।
आग लगने के बाद कंपनी में काम करने वाले कर्मचारियों में हड़कंप मच गया। घटना की खबर मिलते ही दमकल की तीन से ज्यादा गाड़ियां फायर फाइटर्स के साथ मौके पर पहुंची। मगर आग इतनी ज्यादा थी कि पूरी तरह से आग पर काबू पाने रे लिए 12 दमकल की गाड़ियां लगानी पड़ी। इस आग में 24 कर्मचारी झुलस गए। उन्हें इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया।

एसएमसी के मुख्य अग्निशमन अधिकारी (CFO) बसंत पारीक ने बताया कि आग की उत्पत्ति एक रासायनिक भंडारण टैंक में हुई थी। तत्काल प्रतिक्रिया प्रयासों के बावजूद, आग की तेज लपटों पर काबू पाने में फायर ब्रिगेड को लगभग पांच घंटे लग गए, कूलिंग ऑपरेशन सुबह 8 बजे तक जारी रहा।

धमाके के कारण कई लोग झुलस गए

जानकारी मिली कि केमिकल से भरे बड़े टैंक में रिसाव से विस्फोट हुआ और देखते ही देखते अन्य सभी टैंक उसकी चपेट में आते गए जिससे आग इतनी भीषण हो गई।
प्रत्यक्षदर्शी श्रवण मोहुला बोले, ''हमारे यहां रात में कई कर्मचारी काम करते थे।'' हमारा नियमित काम चल रहा था। इसी बीच अचानक धमाका हुआ और हम भागने लगे। धमाके की वजह से कई लोग झुलस गए। मैं भागकर बाहर आया तो कुछ घायलों को लेकर अस्पताल पहुंचा जा चुका थाय़। कुछ अन्य कर्मचारियों को सचिन के निजी अस्पताल के साथ-साथ अन्य अस्पतालों में स्थानांतरित कर दिया गया है।

ईथर इंडस्ट्रीज
यह कंपनी 4-(2-मेथॉक्सीथाइल) फिनोल (4एमईपी), 3-मेथॉक्सी-2-मिथाइलबेंजॉयल क्लोराइड (एमएमबीसी), थियोफीन-2-इथेनॉल (टी2ई) जैसे उन्नत मध्यवर्ती और विशेष रसायनों के निर्माण में माहिर है। , ऑर्थो टोलिल बेंजो नाइट्राइल (ओटीबीएन), एन-ऑक्टाइल-डी-ग्लूकामाइन, डेल्टा-वेलेरोलैक्टोन, और बिफेन्थ्रिन अल्कोहल-भारत में इन जैसे रसायनों का उत्पादक है। फिल्हाल आग पर काबू पा लिया गया है और अब कूलिंग ऑपरेशन चल रहा है।

ट्रेंडिंग वीडियो