इस मंदिर में प्रसाद के रुप में मिलती है चाय, दर्शन के लिये आते हैं हजारो भक्त

प्रसाद में मिलती है है मूंग दान और चाय

By: Tanvi

Published: 03 Jan 2020, 04:17 PM IST

देशभर में कई अनोखे मंदिर हैं, इन मंदिरों में अनोखे प्रसाद भी मिलते हैं। कहीं प्रसाद में नूडल्स दिये जाते हैं, कहीं चॉकलेट तो देश के एक मंदिर के बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं जहां प्रसाद में लड्डू, चिरोंजी या नारियल नहीं बल्कि चाय का प्रसाद मिलता है। जी हां, केरल के कण्णूर में मुथप्पन मंदिर है। यह प्रसिद्ध मंदिर वलपट्टणम नदी के किनारे स्थित है, इसका खूबसूरत नजारा और अनोखी परंपरा दूर-दूर तक प्रसिद्ध है।

 

इस मंदिर में प्रसाद के रुप में मिलती है चाय, दर्शन के लिये आते हैं हजारो भक्त

 

प्रसाद में मिलती है है मूंग दान और चाय

मुथप्पन मंदिर में श्री मुथप्पन की पूजा की जाती है। स्थानीय मान्यता के अनुसार श्री मुथप्पन देव इष्टदेव यहां के लोकदेवता हैं और ये वेदिक देव नहीं माने जाते हैं। इन्हें भगवान विष्णु और शिव जी का अवतार माना जाता है। यहां प्रसाद के रुप में यहां साबूत मूंग की दाल और साथ में चाय दी जाती है। दर्शन के बाद एक दोने में उबला हुआ साबूत मूंग दाल और साथ मे चाय भी दी जाती है, जिसे प्रसादम कहा जाता है।

 

निःशुल्क भोजन और आवास की व्यवस्था

कहा जाता है कि मुथप्पन देवता ने हमेशा कमजोरों के हितों की रक्षा की। यहां आने वाले सभी लोगों को निःशुल्क भोजन और आवास का इंतजाम भी होता है। यहां की खासियत है कि यहां श्वानों को बहुत पवित्र माना जाता है, क्योंकि वे भगवान मुथप्पन के वाहन हैं। मुथप्पन मंदिर अपने थीयम के लिए बहुत प्रसिद्ध है। थीयम, कथकली से मिलता जुलता एक लोक नृत्य है। इसके कलाकार विभिन्न पौराणिक पात्रों की कथाओं को प्रस्तुत करते हैं।

इस मंदिर में प्रसाद के रुप में मिलती है चाय, दर्शन के लिये आते हैं हजारो भक्त

ऐसे पहुंचे मुथप्पन मंदिर

ये स्थान केरल के कन्नूर जिले के तलिप्परम्बा से लगभग 10 किमी की दूरी पर है। यहां का नजदीकी रेलवे स्टेशन कन्नूर है जोकि लगभग 20 किमी दूरी पर हैं। वहीं नजदीकी एयरपोर्ट कालिकट (कोष़िक्कोड) इंटरनेशनल एयरपोर्ट है। जो लगभग लगभग 136 कि.मी.दूर है।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned