scriptगश्त के दौरान कांस्टेबल की मौत, चौथी सरकारी नौकरी के बाद RAS बनने का था सपना, राजकीय सम्मान से हुआ अंतिम संस्कार | Constable died during patrolling, dreamed of becoming RAS after fourth government job, last rites performed with state honours | Patrika News
टोंक

गश्त के दौरान कांस्टेबल की मौत, चौथी सरकारी नौकरी के बाद RAS बनने का था सपना, राजकीय सम्मान से हुआ अंतिम संस्कार

पीपलू उपखंड क्षेत्र के झिराना थाना क्षेत्र की ग्राम पंचायत बोरखंडीकलां के गांव हमजापुरा निवासी एक कांस्टेबल की बुधवार देर रात सड़क हादसे में मौत हो गई।

टोंकJun 28, 2024 / 03:48 pm

Akshita Deora

पीपलू उपखंड क्षेत्र के झिराना थाना क्षेत्र की ग्राम पंचायत बोरखंडीकलां के गांव हमजापुरा निवासी एक कांस्टेबल की बुधवार देर रात सड़क हादसे में मौत हो गई। पीपलू पुलिस उपअधीक्षक देशराज कुलदीप ने बताया कि क्षेत्र के हमजापुरा का रहने वाला धारा सिंह (33) पुत्र गुल्लाराम मीना डिग्गी थाने में तैनात था। बुधवार रात करीब दस बजे हैड कांस्टेबल सुरेश चौधरी, कांस्टेबल कजोड़, 112 के ड्राइवर विकास के साथ गश्त टीम में शामिल था। चांदसेन बांध के पास वह गाड़ी रुकवा कर सड़क के दूसरी ओर बाथरूम करने गया।
लौटते समय मालपुरा से जयपुर की ओर जा रहे एक ट्रैक्टर ड्राइवर ने लापरवाही से ड्राइविंग करते हुए धारा सिंह को टक्कर मार दी। इससे वह गंभीर घायल हो गया। बाद में उसे डिग्गी अस्पताल ले गए जहां करीब 15 मिनट में ही धारासिंह ने दम तोड़ दिया। पुलिस ने पोस्टमार्टम कराकर शव उसके परिजनों को सौंप दिया। मृतक के दो बच्चे हैं।
यह भी पढ़ें

पत्नी ने अपने ही घर में 2 घंटे तक पति के साथ कर डाला ऐसा, देखकर पुलिस के भी उड़ गए होश

पढ़ाई में था होशियार

बोरखंडीकलां सरपंच रामलाल मीणा ने बताया कि धारासिंह पढ़ाई में होशियार था। 2014 में रेलवे में नौकरी पर लगा था। फिर परीक्षा देकर करीब डेढ़ साल बाद जेल प्रहरी में नौकरी लग गया। फिर कुछ माह बाद आरएसी में कांस्टेबल पद पर ज्वाइन किया। चौथी नौकरी 2018 में राजस्थान पुलिस में लगी। धारासिंह का आरएएस बनने का सपना था। इसके लिए वह ड्यूटी के बाद जितना भी समय मिलता था उसमें ज्यादातर समय वह आरएएस परीक्षा की तैयारी करता था। धारा की मौत के बाद परिजनों सहित गांव हमजापुरा, बोरखंडीकलां में कोहराम मच गया।

सम्मान से किया अंतिम संस्कार

कांस्टेबल धारा सिंह का उनके गांव में गार्ड ऑफ ऑनर देकर राजकीय सम्मान से अंतिम संस्कार किया गया। जानकारी के अनुसार मृतक के बच्चे, पत्नी और भांजी अविकानगर (मालपुरा) में रह रहे थे। धारासिंह ओर तीन भाई थे। जिसमें वह दूसरे नंबर का था। पुलिस ने धारा का राजकीय सम्मान के साथ उसके पैतृक गांव में अंतिम संस्कार किया। इस दौरान मालपुरा डिप्टी राजेन्द्र कुमार, पीपलू डिप्टी देशराज कुलदीप, डिग्गी थानाधिकारी कप्तान सिंह, झिराना थानाधिकारी राजेश गुर्जर, बोरखंडीकलां सरपंच रामलाल मीणा समेत अन्य पुलिस अधिकारी और पुलिसकर्मी सहित जनप्रतिनिधि, ग्रामीण मौजूद रहे।

Hindi News/ Tonk / गश्त के दौरान कांस्टेबल की मौत, चौथी सरकारी नौकरी के बाद RAS बनने का था सपना, राजकीय सम्मान से हुआ अंतिम संस्कार

ट्रेंडिंग वीडियो