शीतला माता को लगाया ठंड़े पकवानों को भोग, सुख समृद्धि के लिए की कामना

जिलेभर में शुक्रवार को शीतलाअष्टमी का पर्व श्रद्धा व आस्था के साथ मनाया गया। पर्व को लेकर अलसुबह से ही महिलाएं सजधज कर हाथों में पूजा सामग्री के थाल लिए मंदिरों में माता शीतला की पूजा आराधना करने पहुंची।

By: pawan sharma

Published: 03 Apr 2021, 07:24 AM IST

टोंक. जिलेभर में शुक्रवार को शीतलाअष्टमी का पर्व श्रद्धा व आस्था के साथ मनाया गया। पर्व को लेकर अलसुबह से ही महिलाएं सजधज कर हाथों में पूजा सामग्री के थाल लिए मंदिरों में माता शीतला की पूजा आराधना करने पहुंची। जहां पर एक दिन पहले घर पर बनाए गए पुए, पकोड़ी, पूडी, राबड़ी, दही आदि पकवानों का (बास्योडा) भोग लगाया। वहीं महिलाओं के द्वारा व्रत रखे गए और माता शीतला से परिवार वालों की सुख समृद्धि के लिए दुआएं मांगी।

वहीं मंदिरों में पूजा अर्चना के दौरान कोरोना वायरस का असर भी देखने को मिला। इस दौरान महिलाओं ने माता से घर परिवार की सुख समृद्धि के साथ घर-परिवार को कोरोना वायरस से बचाए रखने की दुआएं भी मांगी। श्रद्धालुओं की ओर से कई स्थानों पर रात्री को मंदिरों में भजन कीर्तन के आयोजन भी किए गए। सामाजिक मान्यता के अनुसार शीतला अष्टमी के दिन शीतला मां का पूजन करने से चेचक, खसरा, बड़ी माता, छोटी माता जैसी बीमारियां नहीं होती और अगर हो भी जाए तो उससे जल्द छुटकारा मिलता है। ऐसी मान्यता है कि माता शीतला शांति की देवी हैं जो विभिन्न प्रकार की बीमारियों से भक्तों की रक्षा करती हैं।


मांगलिक गीत गाते हुए पहुंची
पीपलू. कस्बे के तेजाजी मंदिर समीप, सीताराम मंदिर समीप तथा गांधी बाजार स्थित शीतला माता चबूतरे पर महिलाओं ने शीतला माता की विधि विधान से पूजा अर्चना की और ठण्डे भोजन का भोग लगाया। पचेवर. शीतला अष्टमी के अवसर पर तालाब किनारे मन्दिर में महिलाओं ने ठण्डे पकवानों का भोग लगाया। सुबह से ही महिलाओं ने सज धज कर मांगलिक गीत गाते हुए शितला मन्दिर में जाकर ठण्डे पकवानों का भोग लगाया।

नए वस्त्र धारण किए
लाम्बाहरिसिंह. कस्बे सहित क्षेत्र के गावों में शीतलाष्टमी पर शीतलामाता मन्दिरों में महिलाओं का तांता लगा रहा। अल सुबह से ही महिलाएं नए वस्त्र धारण कर समूहों में मंगल गीत गाती हाथों में पूजा के थाल लिए मन्दिर पहुंची।

कहानी सुन प्रसादी ग्रहण की
मालपुरा. उपखण्ड क्षेत्र में महिलाओं द्वारा शीतला माता की पूजा कर ठंडे पकवानों का भोग लगाकर सुख-समृद्धि व आरोग्य की कामना की गई। शहर के पुरानी तहसील स्थित शीतला माता मंदिर, बम्ब तालाब की पाल स्थित मंदिर, बृजलाल नगर स्थित, इंद्रा कॉलोनी स्थित मंदिर सहित उपखण्ड क्षेत्र में महिलाओं ने शीतला माता के ठंडे पकवानो का भोग लगाकर पूजा अर्चना की।

पूजन किया
निवाई.शहर में महिलाओं ने गुरुवार की शाम को विभिन्न प्रकार के व्यजंन बनाए और शुक्रवार अलसुबह रक्तांचल पर्वत की तलहटी में स्थित शीतलामाता मंदिर पर जाकर ठंडे व्यजनों से माता की पूजा अर्चना की। ए.सं.देवली. शीतला सप्तमी पर्व अलग अलग तिथि से मनाया जा रहा है। कई जगह शुक्रवार को ही भोग लगाया। वहीं रविवार को पकवानों का भोग लगाकर पूजन किया जाएगा।

ठंडे पकवानों का भोग लगाया
दूनी. तहसील मुख्यालय सहित आस-पास के कस्बे-गांवों में शीतला सप्तमी पर शुक्रवार को महिलाओं ने शीतला माता की पूजा-अर्चनाकर बनाया ठंड़ा-बासी भोजन का भोग लगाकर समूह में कहानी सुन प्रसादी ग्रहण की।पारली. क्षेत्र में अल सवेरे महिलाएं शीतल व स्वच्छ जल के साथ ठंडे पकवानों का भोग लगाने शीतला माता के चौक पहुंची। महिलाओं ने माता का पूजन कर ठंडे पकवानों का भोग लगाया। पलाई कस्बे सहित क्षेत्र में अल-सुबह शीतलाष्टमी हर्सोल्लास के साथ मनाया गया। दिनभर पूजन के लिए शीतला माता के मन्दिर में महिलाओं का तांता लगा रहा। इधर लोगों ने ठंडे भोजन का सेवन किया।

pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned