हवाई सफर में खो जाए सामान, तो इन बातों का रखें ख्याल

हवाई सफर में खो जाए सामान, तो इन बातों का रखें ख्याल

Jamil Ahmed Khan | Publish: Apr, 14 2018 01:19:03 PM (IST) | Updated: Apr, 14 2018 02:02:40 PM (IST) ट्रेवल

समय बचाती है हवाई यात्रा। आपको दूर जाना है और ट्रेन में ज्यादा समय लगने वाला है तो आप हवाई जहाज से जाने का विकल्प चुनते हैं।

समय बचाती है हवाई यात्रा। आपको दूर जाना है और ट्रेन में ज्यादा समय लगने वाला है तो आप हवाई जहाज से जाने का विकल्प चुनते हैं। लेकिन आजकल हवाई जहाज से यात्रा करने वालों को सामान खो जाने की भारी समस्या का सामना करना पड़ता है। यात्रा में सामान खो जाए तो यात्रा का आधा मजा वहीं खतम हो जाता है। यह दुर्घटना आए दिन किसी न किसी यात्री के साथ हो जाती है। एयरलाइन अपने नियमानुसार अनुसार खोए सामान का कुछ प्रतिशत ही हर्जाना देती है पर अक्सर सामान चोरी हो जाने के कारण लेने के देने पड़ जाते हैं। समय और पैसा तो नष्ट होता ही है। हवाई यात्रा करने से पहले और उड़ान के समय कुछ बातों को ध्यान में रखें।

लगेज हो लाइट
सफर में अपने साथ उतना ही सामान हो जितना जरूरी हो। भारी लगेज उठाने में परेशानी होती है। इनमें कीमती चीजें- कैमरा, लैपटॉप, जरूरी दस्तावेज, जेवर, पासपोर्ट आदि बंद करके चेकइन ना करें। ये जरूर है कि सामान खो जाने पर एअर लाइन्स आपको मुआवजा जरूर देगी लेकिन वो पर्याप्त नहीं होता। इसलिए कम ही सामान साथ रखें ये जरूरी है।

महंगी चीजें ना ले जाएं
सबसे पहले तो अपने साथ महंगी और कीमती चीजें साथ ना रखें। अगर इन्हें ले जाना भी पड़े तो बैग में रखकर चैकइन ना करें। इन चीजों को हैंड बैग में रखकर विमान में अपने साथ ले जाया जा सकता है। इससे सामान खोएगा नहीं और दूसरा आपको सामान के आने का बेल्ट पर इंतजार नहीं करना पड़ेगा।

बैग या सूटकेस अलग रंग का हो
एअरपोर्ट पर सामान ले जाने वाले बैग या सूटकेस दूसरों से अलग तरह के हों ये ध्यान रखें। ताकि बेल्ट पर आपको अपने सामान की पहचान जल्दी और आसानी से हो सके। इससे आप बैग चोरों से बच भी पाएंगे। शरीफ से नजर आने वाले चोर दूसरों के बैग आसानी से पार कर ले जाते हैं क्योंकि काले-नीले रंग के कॉमन कलर्स पर ध्यान नहीं जाता और आपका सामान आप तक पहुंचने से पहले ही चोरों के हाथ लग जाता है। ऐसे में अलग रंग होने पर आपका ध्यान सामान पर विशेष रूप से बना रहेगा। अपने लगेज पर कुछ आकर्षक रंग की पट्टिका, बेल्ट या रिबन लगाकर अलग लुक दे सकते हैं ताकि उसे दूर से ही पहचान पाएं।

सूटकेस सामान्य ही हो
हवाई सफर में चोरों को महंगे और कीमती सूटकेस अट्रैक्ट करते हैं। इसलिए लैदर के बड़े आकार वाले कीमती नजर आने वाले सूटकेस लेकर ना जाएं। इनके चोरी होने की ज्यादा संभावनाएं रहती हैं। चोरों को उनमें कीमती सामान होने की आशंका रहती है और वो विशेष रूप से इन्हें ही उड़ाना चाहते हैं।

जब चोरी हो जाए सामान
इतनी सावधानियां बरतने के बावजूद अगर आपका बैग चोरी हो जाए तो तुरंत बैगेज क्लेम काउन्टर पर चले जाएं। इससे बैग चोर को जल्दी पकड़े जाने की संभावनाएं बढ़ जाती हैं। एयरलाइन्स सामान्यत: एक निर्धारित समय सीमा के अंदर ही सामान खो जाने की शिकायत दर्ज कर सकती हैं। यदि उस समय सीमा के बाद शिकायत की जाती हैं तो हर्जाने की उम्मीद कम रह जाती है।

सावचेत बने रहें
जब आप बेल्ट पर से अपना सामान उठाते हैं तो अपने दूसरे बैग और लगेज की निगरानी बराबर रखें। हो सके तो अपने सामान की ट्राली अपने साथ वाले व्यक्ति या बच्चों को सौंप दें। ऐसा करने से भी सामान सुरक्षित रहेगा।

कनेक्टिंग फ्लाइट से बचें
बाहर जाते समय कोशिश करें कि दूसरे शहर की सीधी फ्लाइट लेें। कनेक्टिंग फ्लाइट में उड़ान के चेंज होने से भी कई बार सामान दूसरी फ्लाइट में चला जाता है या फिर चोरी हो सकता है। जितनी ज्यादा कनेक्टिंग उड़ानें हम लेते हैं सामान खोने की संभावनाएं भी उतनी ही बढ़ जाती हैं।

जानकारी और सुरक्षा जरूरी
टिकट बुक करवाते समय एअर लाइन्स से बीमा जरूर करवाएं। सामान्य रूप से यात्रा में सामान खोने पर पांच से आठ प्रतिशत तक का व्यय ही चुकाया जाता है। पर अच्छा यही है कि इस विषय में नवीनतम जानकारी एअरलाइन से ले ली जाय। जब सामान हमारा है तो सुरक्षा हमसे बेहतर और कौन कर सकता है। एक बार सामान खो जाए तो कुछ भी अपने हाथ में नहीं रहता। सुरक्षा में चूक ना हो इसी का ध्यान रखा जाना ज्यादा बेहतर होगा।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned