Anupama 10th May 2021 Written Updates : काव्या ने की सुसाइड करने की कोशिश, अनुपमा का फूटा वनराज पर गुस्सा

By: Shweta Dhobhal
| Published: 10 May 2021, 11:36 AM IST
Anupama 10th May 2021 Written Updates : काव्या ने की सुसाइड करने की कोशिश, अनुपमा का फूटा वनराज पर गुस्सा

अनुपमा के लेटेस्ट एपिसोड में काव्या आत्महत्या करने की कोशिश करती हैं। जिसे देख अनुपमा और वनराज का पूरा परिवार हैरान और परेशान हो जाता है। काव्या की हालत देख अनुपमा वनराज को खूब खरी-खोटी सुनाती हैं।

 

 

नई दिल्ली। छोटे पर्दे का पॉपुलर शो अनुपमा में बड़ा ट्विस्ट देखने को मिल रहा है। अनुपमा को तलाक देने से और काव्या से शादी करने से मना कर देने के बाद से काव्या पर दुखों का पहाड़ टूट चुका है। पूरा परिवार अनुपमा और वनराज के तलाक को रोकने की कोशिश में लगा हुआ है। इस बीच काव्या आत्महत्या की कोशिश करती हैं। काव्या को बेहोश देख सभी लोग हैरान और परेशान हो जाते हैं। वहीं अनुपमा वनराज पर गुस्सा जाहिर करते हुए कहती हैं कि उनकी वजह से काव्या इस हालत में हैं। चलिए आपको बतातें हैं कि अनुपमा के लेटेस्ट एपिसोड में क्या होगा ।

काव्या पर टूटा दुखों का पहाड़

वनराज संग शादी के सपने देख रही काव्या पर तब दुखों का पहाड़ टूट जाता है। जब वनराज उनकी आंखों में आंखें डालकर कहते हैं कि वह उनसे शादी नहीं करेंगे और ना ही अनुपमा को तलाक देंगे। काव्या घर के कोने में बैठकर अपने और वनराज के परिवार संग बिताए तमाम उन पलों को याद करती हैं। जिसमें उनकी खूब बेइज्जी होती है।

समर को भी चुभने लगा वनराज-अनुपमा का तलाक

काव्या की वजह से समर और नंदनी की सगाई रुक जाती है। इस बारें में बात करते हुए समर और नंदनी कहते हैं कि उन्हें सगाई कैंसिल कर देनी चाहिए। जिसे सुन समर कहते हैं कि इस सगाई में ही उनकी मां की खुशी है। वहीं नंदनी इस बात पर असहमती जताई हैं। वह कहती हैं कि पहले वनराज और अनुपमा आंटी की जिंदगी में काफी दुख है। वहीं समर को लगने लगा है कि उनके पिता अनुपमा को लेकर बदल रहे हैं। ऐसे में उनका तलाक उन्हें बहुत चुभ रहा है। वहीं नंदनी समर को याद दिलाती हैं कि अनुपमा आंटी इस तलाक के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। ऐसे में सभी को उनका साथ देना चाहिए।

बा ने लगाई ठाकुर जी के सामने गुहार

वहीं बेटे और बहू के तलाक से परेशान बा ठाकुर जी के सामने हाथ जोड़कर खूब आंसू बहाती हैं। वह ठाकुर जी पर नाराजगी जातते हुए कहती हैं कि वह उनकी इतनी छोटी सी भी मनोकामना पूरी नहीं कर सकते हैं। क्या वह उनके बहू और बेटे का तलाक नहीं रोकवा सकते हैं। जिस पर उन्हें बहू किंचल समझाती हैं कि भगवान ठाकुर जी भी एक की सुनेंगे। अनुपमा या फिर उनकी। वहीं बा अपनी पोती से बात करते हुए उससे बताती हैं कि अनुपमा और वनराज के तलाक को रोकने के लिए उन्होंने एक आखिरी कोशिश की है। बा ने अनुपमा की मां को बुलाया है।

काव्या ने की खुदखुशी करने की कोशिश

वनराज के शादी करने के मना करने से काव्या बुरी तरह से टूट जाती हैं और वह आत्महत्या कर लेती हैं। घर में मौसी को इस हालत में देख नंदनी डर जाती है और वह जोरों से चिल्लाने लगती हैं। यह सुन वनराज-अनुपमा और उनका परिवार परेशान होकर काव्या के घर की ओर जाते हैं। जहां वह देखते हैं कि काव्या पर बेड पर बेहोश पड़ी है और कुछ दवाइयां नीचे पड़ी हुई हैं। यह देख पूरा परिवार घबरा जाता है। अनुपमा काव्या को नामक का पानी पिलाती हैं। जिसके बाद डॉक्टर अद्वैत को बुलाया जाता है। डॉक्टर के आने के बाद वह काव्या का ट्रीटमेंट करने लगते हैं।

अनुपमा ने सुनाया वनराज

काव्या की ऐसी हालत देख अनुपमा वनराज से काफी गुस्सा हो जाती हैं। अनुपमा वनराज से पूछती हैं कि आखिर उन्होंने ऐसा क्या कहा कि उन्होंने यह कदम उठाया। इस बात वनराज की चुप देख वह समझ जाती हैं कि वनराज ही ने कुछ काव्या से कहा है। जिसके बाद वह वनराज पर भड़कते हुए कहा कि उनसे तो प्यार करना ही गलत है। अनुपमा कहती हैं कि प्यार के बदले अगर किसी को प्यारल ना मिले तो वह जानती हैं कि कैसा महसूस होता है। साथ ही अनुपमा कहती हैं कि वह काव्या की ऐसी हालत नहीं देख सकती हैं और यही वजह है कि वह काव्या के साथ ऐसा करते हुए नहीं करने देंगी।

अनुपमा को मारा काव्या को थप्पड़

काव्या के होश में आते ही वनराज उनसे बात करने के लिए जाते हैं लेकिन उनका चेहरा देखने से काव्या मना कर देती है। तभी अनुपमा काव्या के पास जाती है और उन्हें एक थप्पड़ जड़ देती है। जिसे देख बा और उनकी ननंद भी हैरान हो जाती है। अनुपमा अपनी चिंता जाहिर करते हुए कहती हैं कि "उन्होंने कहा था कि जब-जब वह गलती करेंगी। वह इसी तरह उन्हें थप्पड़ मारेंगी। जिसके बाद वह उन्हें गले लगा देती हैं। अनुपमा काव्या को समझाते हुए कहती हैं कि जिंदगी की कीमत उनसे पूछो जो जिंदगी में आखिरी सांसे गिन रहा है।

अनुपमा बताती हैं कि कैसे एक पल में उनकी पूरी दुनिया उजड़ गईं। बावजूद इसके उन्होंने कभी ऐसा कोई कदम नहीं उठाया। वह काव्या को हिम्मत देते हुए कहती हैं कि प्यार में गिरो मत उठो। प्यार में ठोकर गिरकर संभालों।"

(Precap- अनुपमा के एपिसोड में आज काव्या आत्महत्या करने की कोशिश करती है। जिसे देख अनुपमा वनराज पर भड़क जाती है। अनुपमा काव्या को हिम्मत देती है। साथ ही वह वनराज को काव्या के साथ कुछ भी गलत ना होने की बात कहती हैं।)