Anupama 16th September Written Update: अनुपमा-अनुज की दोस्ती पर उठने लगे हैं सवाल, बॉ ने भी छोड़ा बेटी का साथ

By: Shweta Dhobhal
| Published: 16 Sep 2021, 10:18 AM IST
Anupama 16th September Written Update: अनुपमा-अनुज की दोस्ती पर उठने लगे हैं सवाल, बॉ ने भी छोड़ा बेटी का साथ
Anupama

अनुज कपाड़िया ने अनुपमा के आइडिया को पसंद करते हुए उसे अपना पार्टनर बनाने का ऑफर दिया है। ये बात सुनकर एक बार फिर वनराज अनुपमा के खिलाफ हो चुका है। वनराज-काव्या के अलावा इस बार बॉ और पारितोष भी अपने पुराने अवतार में वापस लौट चुके हैं। जिससे अनुपमा काफी परेशान है।

नई दिल्ली। अनुपमा की तरक्की और अनुज कपाड़िया संग उसकी दोस्ती वनराज को रास नहीं आ रही है। अनुज कपाड़िया अनुपमा के दिए आइडिया को पसंद करता और उसे अपना पार्टनर बनने का ऑफर मिलता है। ये बात सुनते ही वनराज खूब तमाशा करता है और अनुपमा पर कई गलत आरोप लगता है। वनराज अनुपमा और अनुज की लव स्टोरी के बारें में भी कहता है। वहीं बॉ भी अनुपमा पर दबाव बनाती है कि वो अनुज संग काम नहीं करेगी। अनुपमा की ऐसी हालत देख बाबू जी, समर और किंचल काफी दुखी हो जाते हैं।

अनुपमा-अनुज की दोस्ती पर उठे सवाल

बॉ भी अनुपमा से अनुज कपाड़िया और काका के आने की वजह पूछती है। पारितोष भी अनुपमा और अनुज कपाड़िया की दोस्ती पर सवाल उठाता है। ये सुनकर अनुपमा बॉ और पारितोष पर गुस्सा उतारती है। अनुपमा कहती है कि जब काव्या घर आती थी। तब किसी ने नहीं पूछा है। वनराज कहता है कि वो जानता है कि ऐसी तरक्की कब मिलती है। अनुपमा को मिले ऑफर से वनराज, काव्या, पारितोष और बॉ उसके खिलाफ हो जाते हैं।

सभी अनुपमा पर कई आरोप लगाते हैं। बॉ अनुपमा को कहती है कि वो ऐसे आदमी के साथ काम नहीं करेगी जिसके दिल में उसके लिए कुछ है। वनराज भी अनुज कपाड़िया के ऑफर को मना करने को कहता है। अनुपमा बताती है कि वो वनराज की अब पत्नी नहीं है।

अनुपमा की मदद करेगा अनुज कपाड़िया

वहीं दूसरी ओर काका अनुज कपाड़िया को अनुपमा के सिर पर चढ़े लोन के बारें में बात करते हैं। अनुज कहता है कि अनुपमा एक बार उसका ऑफर मान ले। वो सब ठीक कर देगा।

काव्या को वनराज ने फंसाया अपनी बातों में

वनराज गुस्से में कमरे में आता है। वनराज कहता है कि अनुज कपाड़िया ने मीटिंग वगैरह का सब नाटक किया था। वनराज कहता है कि अनुज चाहता था कि वो अनुपमा को ये ऑफर दे। काव्या वनराज को कहती है कि वो ठंडे दिमाग से इस बारें में सोचें। बेशक अनुपमा का आइडिया अनुज कपाड़िया को पसंद आया, लेकिन उसने हम दोनों को भी जॉब ऑफर की है। बातों ही बातों में काव्या वनराज से पूछती है कि वो क्यों इतना जल रहा है अब अनुपमा उसकी पत्नी नहीं है।

वनराज कहता है कि वो इसलिए गुस्सा कर रहा क्योंकि अनुज कपाड़िया संग काम करते हुए अगर अनुपमा उनकी बॉस होगी तो कितना बुरा लगेगा। वनराज कहता है कि उसके कहने पर ना सही पर अनुपमा बॉ की बात जरुर मानेगी।

अनुपमा की हालत देख दुखी समर, बाबू जी और किंचल

बॉ, समर और पारितोष कमरे में बैठकर अनुपमा संग हो रही बातों गुस्सा होते हैं। बाबू जी कहते हैं कि उन्हें यकीन नहीं होता है कि उनके घर में ये सब हो रहा है। समर बाबू जी से कहता है कि वो अनुपमा से बात करें, लेकिन इस बार वो नहीं उसकी दोस्त उन्हें समझाएगी। वहीं दूसरी ओर काका और अनुज कपाड़िया अनुपमा के बारें में बात करते हैं। अनुज बताता है कि 26 साल पहले प्यार का इजहार ना करना गलता था, लेकिन 26 साल बाद प्यार जताना भी गलत है।

देविका ने समझाया अनुपमा को

अनुपमा डांस एकेडमी में तड़ाव कर अपना गुस्सा उतारती है। तड़ाव करते हुए अनुपमा को बॉ, वनराज और काव्या की बातें याद आती है। अनुपमा थक कर जाती है। तभी अनुपमा की दोस्त देविका आ जाती है। देविका को देख अनुपमा भड़क जाती है। देविका अनुपमा से बात करने की कोशिश करती है। अनुपमा कहती है कि उसकी वजह से घर में अनुज वाली बात पहुंची है। देविका अनुपमा को कहती है कि उसका एक्स पति और उसकी पत्नी हमेशा उसकी जिंदगी में घुसे रहते हैं।

पारितोष जैसे बेटे को एक थप्पड़ मारना चाहिए और उसका दिमाग और नजरिया ठीक करना चाहिए। देविका अनुपमा को कहती है कि वो अपने परिवार से प्यार करें, लेकिन खुद से भी थोड़ा सा प्यार करें।

वनराज पारितोष अनुपमा पर लगा पाएंगे रोक

वहीं दूसरी ओर एक बार फिर से वनराज और पारितोष एक साथ हो गए हैं। पारितोष कहता है कि मां हमेशा डांस और किचन में खाना बनाती हुई आई है। ऐसे में वो कैसे फाइव स्टार होटल को संभाल पाएगी। ना ही उन्होंने को होटल मैनजमेंट का कोर्स किया है। वनराज इस बात का फायदा उठता है और कहता है कि वो अनुपमा के आगे बढ़ने से नहीं परेशान हां लेकिन अनुज जैसे लोगों से वो परेशान है। पारितोष कहता है कि शायद अनुज कपाड़िया अच्छा आदमी हो, लेकिन वो उन्हें अपनी मां के आसपास नहीं देखना चाहता है।

वनराज पारितोष को कहता है कि जब उनका अफेयर था। तब लोगों ने उन्हें कितना सुनाया था। अनुपमा को तो लोग छोड़ेंगे नहीं। पारितोष कहता वो मां से बात करेगा। इसी दौरान पारितोष वनराज से पूछता है कि उसे क्या लगता है अनुज कपाड़िया के बारें में, सभी जानते हैं कि अनुज पहले से ही मां को पसंद करता था। वनराज कहता है कि अगर अनुज की बीवी और गर्लफ्रेंड होती तो शायद दिक्कत नहीं होती। लेकिन उसकी गर्लफ्रेंड या कोई वाइफ नहीं है। पारितोष कहता है कि अगर ऐसा हुआ तो वो अनुज कपाड़िया को छोडे़गा नहीं।

देविका ने दिखाया अनुपमा को आइना

अनुपमा कहती है कि बॉ को बुरा लगेगा। अनुपमा बताती है कि बॉ ने अपने बेटे के खिलाफ जाकर उनका साथ दिया था। देविका कहती है कि बॉ ने कोई एहसान नहीं किया। उनका बेटा इतना गलत था कि कोई भी उसका साथ नहीं देता। देविका कहती है कि उसका बेटा भी अपनी सास राखी दवे की पीछे-पीछे घूमता है। अनुपमा देविका को डांटती है और कहती है कि वो उसे उनके परिवार के खिलाफ भड़काना बंद करें। देविका कहती है कि वो उसे भड़का नहीं रही है। वो तब तक समझाएगी जब तक उसे समझ नहीं आ जाएगा।

( Precap- सभी खुशी से घर में मिठाई खा रहे होते थे। तभी वनराज मिठाई खाते हुए पूछता है कि किस बात की है। अनुपमा कहती है कि मेरी तरफ से है। अनुपमा वनराज की जेब से पेन निकलाती है और कहती है कि उसने अनुज कपाड़िया का ऑफर एक्सेप्ट कर लिया है। ये सुनकर वनराज दंग रह जाता है। )