‘रामायण’ के कलाकारों को मिलती थी बेहद कम फीस, क्या आप जानते हैं?

By: Neha Gupta
| Published: 17 Apr 2021, 10:07 PM IST
‘रामायण’ के कलाकारों को मिलती थी बेहद कम फीस, क्या आप जानते हैं?
Ramayan Starcast

देश में कोरोना का खतरा बढ़ता ही जा रहा है। एक बार फिर से रामायण का प्रसारण शुरू हो गया है जिसे देखकर दीपिका चिखलिया ने इमोशनल मैसेज दिया है। सीरियल के कलाकारों के किस्से फिर से शुरू हो गए हैं।

नई दिल्ली | साल 2020 में लॉकडाउन के चलते दर्शकों को उनके फेवरेट सीरियल्स देखने को मिले थे। जिसमें रामानंद सागर की रामायण के पुन: प्रसारण ने इतिहास रच दिया था। इस शो को सबसे ज्यादा देखा जाने वाले सीरियल की लिस्ट में टॉप पर जगह मिली थी। अब जब देश में एक बार फिर पुराने हालात बनते दिख रहे हैं तो रामायण का प्रसारण फिर से किया जाने लगा है। जिसपर रामायण की सीता दीपिका चिखलिया काफी इमोशनल हो गई और उन्होंने खुशी ज़ाहिर करते हुए कहा कि इतिहास फिर से दोहराया जा रहा है। 16 अप्रैल के दिन रामायण ने मेगा रिकॉर्ड बनाया था।

रामायण के रीटेलिकास्ट होने के बाद से एक बार फिर उसके कलाकारों से लेकर चर्चा शुरू हो गई है। पुराने किस्से फिर से निकलकर सामने आने लगे हैं। जिसमें से एक कलाकारों की सैलरी भी है। हर कोई जानना चाहता है कि उस जमाने में सबसे ज्यादा पॉपुलर स्टार्स की फीस कितनी हुआ करती थी। चलिए आपको इस बारे में बताते हैं।

बहुत कम होती थी 80 के दशक में फीस

रामायण का प्रसारण 80 के दशक में हुआ था। इस सीरियल के प्रसारण के बाद रामायण के किरदारों की पॉपुलैरिटी का आलम ये था कि लोग उन्हें भगवान की तरह पूजने लगे थे। ऐसा सिर्फ उनके किरदार के कारण नहीं था बल्कि पर्दे पर कमाल के अभिनय से रामायण के एक्टर्स ने दर्शकों का दिल जीत लिया था। हालांकि उतना वेतन बेहद कम हुआ करता था। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो सभी कलाकारों की सैलरी इतनी कम थी कि वो उसमें एक घर बनाने का भी नहीं सोच सकते थे।

एक घर खरीद पाना नहीं था मुमकिन!

एक बार लक्ष्मण का किरदार निभाने वाले सुनील लहरी ने खुद इस बात का खुलासा किया था कि उस दौर में बहुत कम वेतन मिला करता था। उन्होंने कहा था कि फीस को लेकर बस इतना कह सकते हैं कि पीनट्स मिलते थे। उस दौरान इतने खर्चे नहीं हुआ करते थे तो फीस भी बहुत कम होती थी। जिस कारण काम चल जाया करता था। आज एक्टर बड़े सीरियल से घर बना सकता है लेकिन उस दौरान हमने पूरी रामायण शूट कर ली थी फिर भी घर बनाने का नहीं सोच सकते थे। तब इतनी भागमभाग नहीं थी, ना ही फ्यूचर को सिक्योर करने की इतना ज्यादा चिंता।