बिन बरसे आया खुशियों का मानसून, नर्मदा का पानी सीधे शिप्रा के त्रिवेणी घाट पहुंचा

बिन बरसे आया खुशियों का मानसून, नर्मदा का पानी सीधे शिप्रा के त्रिवेणी घाट पहुंचा
monsoon,Narmada river,pipeline,shipra river,Narmada Valley Development Authority,Narmada project,Triveni Ghat,

Lalit Saxena | Updated: 15 Jun 2019, 12:18:21 PM (IST) Ujjain, Ujjain, Madhya Pradesh, India

निगमायुक्त ने पीएचई अधिकारियों के साथ किया निरीक्षण, पेयजल संकट के दौरान बनेगी संजीवनी

उज्जैन. भले ही अभी बादलों से मानसून नहीं बरसा हो, लेकिन उज्जैन के लिए खुशियों का मानसून जरूर बरस गया। शुक्रवार को पाइप के जरिए नर्मदा का पानी सीधे शिप्रा के त्रिवेणी घाट पहुंचा। इंदौर जिले के ग्राम उज्जैनी से डली 68 किलो मीटर लंबी पाइप लाइन की नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण द्वारा सफल टेस्टिंग की गई। 139 करोड़ के इस प्रोजेक्ट से अब नर्मदा का 190 एमएलडी शुद्ध पानी बगैर किसी रुकावट या रास्ते में कम होने की बजाय सीधे शिप्रा में आ सकेगा। अब जब भी स्नान पर्व या पेयजल के लिए जरूरत होगी एनवीडीए उज्जैन को पानी दे देगा। दो साल में ये प्रोजेक्ट पूरा हो पाया है।

नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण ने ग्राम उज्जैनी से शिप्रा त्रिवेणी तक 1550 एमएम व्यास की ये पाइपलाइन डाली है। शुक्रवार को उज्जैनी तक बिछी नर्मदा लाइन से इसे कनेक्ट कर पानी छोड़ा गया, जिससे पानी सीधे त्रिवेणी तक पहुंच गया। निगमायुक्त प्रतिभा पाल, पीएचई इई धर्मेंद्र वर्मा, एई अतुल तिवारी, गऊघाट डैम प्रभारी संतोष दायमा व अन्य अधिकारियों ने मौका निरीक्षण किया। त्रिवेणी पर आया पानी सीधे स्टॉप डैम होते हुए गऊघाट तक पहुंचा। अब इस पानी को पेयजल उपयोग में भी लिया जाएगा।

36 घंटे में पहुंच जाएगा उज्जैन पानी

पाइप लाइन का काम लगभग पूर्ण हो चुका है। अब नर्मदा का पानी उज्जैनी से करीब 36 घंटों में त्रिवेणी पहुंच जाएगा। इसके लिए देवास के शिप्रा बैराज के लिए एक वॉल्व बनाया गया है। जरूरत के हिसाब से देवास के इस वॉल्व को बंद कर सीधे उज्जैन पानी भेजा जा सकेगा। एनवीडीए अधिकारियों के अनुसार रास्ते में वॉल्व के साथ छेड़छाड़ नहीं होगी तो उज्जैन तक पानी महज 36 घंटे में पहुंच जाएगा।

नरवर नॉलेेज सिटी के लिए होगी लिफ्टिंग
68 किमी में कहीं भी पानी लिफ्ट करने की जरूरत नहीं पड़ी है। ग्रेविटी के आधार पर पानी उज्जैन तक पहुंच रहा है। नरवर नॉलेज सिटी के लिए ११ एमएलडी पानी देना निर्धारित है। इसके लिए पानी लिफ्ट करेंगे।

ये है पूरा प्रोजेक्ट
इंदौर जिले के ग्राम उज्जैनी से ये पाइप लाइन डली है। इस पाइपलाइन ने कुल 68 किमी की दूरी तय की।
त्रिवेणी शनि मंदिर श्मशान घाट के पास आउटलेट बनाया है। उज्जैनी के शिप्रा बैराज में पानी होने पर सीधे पानी त्रिवेणी भेजा जा सकेगा।

नर्मदा-शिप्रा पाइप लाइन प्रोजेक्ट में पाइप लाइन बिछाने का काम पूर्ण हो गया है। पाइप लाइन की टेस्टिंग की गई है। कुछ आंशिक कार्य और है उन्हें भी पूर्ण कर लिया जाएगा। अब सीधे उज्जैन के शनि मंदिर तक नर्मदा का पानी छोड़ेंगे।
- एचआर चौहान, सीई, नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned