Video - यदि जुम्मे की नमाज तक एक्शन नहीं लिया गया तो जो कहीं नहीं हुआ वह यहां होगा - इमाम जामा मस्जिद

- क्रिकेट खेल के दौरान मारपीट, आरोप मॉब लिंचिंग का

- तीन नामजद सहित आधा दर्जन के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत

By: Narendra Awasthi

Published: 12 Jul 2019, 09:34 AM IST

उन्नाव. मदरसा के छात्रों के साथ उस में मारपीट हुई जब सभी क्रिकेट खेल रहे थे। इसी बीच लगभग आधा दर्जन लोग आए और उन्होंने मदरसा छात्रों के साथ मारपीट की। जिससे 4 छात्र घायल हो गए। घायल छात्र मदरसा पहुंचे और उन्होंने घटना की जानकारी दी। जिसके बाद एक समुदाय के लोग जामा मस्जिद में इकट्ठा हो गए। जानकारी मिलते ही मौके पर क्षेत्राधिकारी नगर सदर कोतवाली और क्षेत्राधिकारी नगर मौके पर पहुंचे और उन्होंने जामा मस्जिद लोगों से बातचीत की। इस संबंध में 6 लोगों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत किया गया है। घटना को मॉब लिंचिंग का नाम दिया जा रहा है।

सदर कोतवाली क्षेत्र का मामला

मामला सदर कोतवाली क्षेत्र के जीआईसी मैदान का है। जहां दारुल उलूम मदरसा के छात्र क्रिकेट खेल रहे थे। किसी भी ज्यादा दर्जन युवक मौके पर पहुंच गए और उन्होंने मारपीट करना शुरू कर दिया। जिसमें दारुल उलूम मदरसा में पढ़ने वाले छात्र अब्दुल वारिस (13) पुत्र अब्दुल हयात निवासी गोदाना मेरठ, मोहम्मद मखदूम (14) पुत्र मोहम्मद नदीम निवासी हीरापुर, मोहम्मद अली (13) पुत्र मोहम्मद मस्जिद निवासी छावनी, कानपुर मोहम्मद हारुन निवासी एकलाख नगर जाजमऊ घायल हो गए। घायल छात्र मदरसा पहुंचकर घटना की जानकारी दी।

 

जामा मस्जिद में एकत्र हुए मुस्लिम समुदाय के लोग

घटना की जानकारी मिलते ही जामा मस्जिद में इकट्ठा हो रहे लोगों के बीच सिटी मजिस्ट्रेट राकेश गुप्ता क्षेत्राधिकारी नगर उमेश चंद त्यागी के साथ कोतवाली प्रभारी दिनेश चंद्र मिश्रा मय फोर्स के मौके पर पहुंच गए और उन्होंने घटना की विस्तृत जानकारी ली। इस संबंध में क्षेत्राधिकारी नगर उमेश त्यागी ने बताया कि क्रिकेट खेलने के दौरान बच्चों के बीच आपस में लड़ाई हुई है जिसमें तीन को चोटें आई हैं जिनका इलाज कराया गया है और पीड़ित की तहरीर पर कोतवाली में शंकर धाराओं में मुकदमा पंजीकृत किया गया है आगे की कार्रवाई की जा रही है।

 

जामा मस्जिद इमाम की धमकी कुछ भी हो सकता है

घटना की जानकारी से समुदाय विशेष में तनाव फैल गया। जामा मस्जिद इमाम निसार अहमद मिस्बाही ने बताया कि शुक्रवार जुमे की नमाज तक यदि नामजद अभियुक्तों के खिलाफ कार्रवाई नहीं होती है तो कुछ भी हो सकता है। मदरसा के प्रधानाचार्य नईम ने बताया कि फेसबुक के माध्यम से आरोपियों के चेहरे पहचान करा दिए गए हैं। जुमे की नमाज तक यदि एक्शन नहीं लिया जाता है तो नमाज के बाद आगे के कदम उठाए जाएंगे।

Show More
Narendra Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned