कोविड-19, जिला अस्पताल में 15 सौ रुपए में फर्जी पॉजिटिव,

जिला अस्पताल के स्टिंग ऑपरेशन ने किया बड़ा खुलासा

By: Narendra Awasthi

Published: 15 Dec 2020, 11:30 PM IST

उन्नाव. जिला अस्पताल के एक स्टिंग ऑपरेशन ने कोविड-19 बेसिक महामारी के आंकड़ों पर सवालिया निशान लगा दिया है। स्टिंग ऑपरेशन में कोविड-19 पैथोलॉजी विभाग का कर्मचारी पंद्रह सौ रुपए में कोविड-19 पॉजिटिव की रिपोर्ट देने का वादा करता है। स्टिंग ऑपरेशन का वीडियो सामने आने के बाद सीएमएस ने आरोपी पैथोलॉजी कर्मी के खिलाफ सदर कोतवाली में तहरीर देकर मुकदमा पंजीकृत कराया है इस संबंध में कोतवाली प्रभारी ने बताया कि सीएमएस की तहरीर पर संगत धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर आरोपी लैब पैथोलॉजी कर्मी को गिरफ्तार कर लिया गया है।

 

उमा शंकर दीक्षित संयुक्त चिकित्सालय का मामला

मामला जिला अस्पताल से जुड़ा हुआ है उमा शंकर दीक्षित संयुक्त चिकित्सालय के कोविड-19 पैथोलॉजी कक्ष का स्टिंग ऑपरेशन सामने आया है। जिसमें लैप करनी पंद्रह सौ रुपए में कोविड-19 पॉजिटिव रिपोर्ट देने का वादा करता है। इस संबंध में सीएमएस डॉक्टर बीबी भट्ट ने सदर कोतवाली में तहरीर देकर लखनऊ की सेवा प्रदाता एजेंसी अवनी परिधि कम्युनिकेशन प्राइवेट लिमिटेड द्वारा भेजे गए अमर बहादुर चौधरी के खिलाफ अभियोग पंजीकृत कराया है अपनी अपनी तहरीर में सीएमएस ने बताया है कि अमर बहादुर चौधरी को लैब टेक्नीशियन की मदद के लिए कोविड-19 केंद्र में लगाया गया था इसकी सीडी भी उन्होंने कोतवाली पुलिस को दी है। इस संबंध में कोतवाली प्रभारी दिनेश चंद्र मिश्र ने कहा कि तहरीर मिली है तहरीर के आधार पर आईपीसी की धारा 420 /467 /468 /471 मैं अभियोग पंजीकृत कर लिया गया है साथ ही आरोपी अमर बहादुर को भी गिरफ्तार किया गया है जांच के बाद आगे की कार्रवाई होगी

Narendra Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned