BIG BREAKING-बाहुबली मुख्तार अंसारी को तगड़ा झटका, बेटे अब्बास अंसारी पर इस मामले में दर्ज हुआ मुकदमा

BIG BREAKING-बाहुबली मुख्तार अंसारी को तगड़ा झटका, बेटे अब्बास अंसारी पर इस मामले में दर्ज हुआ मुकदमा
Mukhtar Ansari and Abbas Ansari

Devesh Singh | Updated: 12 Oct 2019, 08:56:50 PM (IST) Varanasi, Varanasi, Uttar Pradesh, India

शूटर बेटे की बढ़ सकती है मुश्किले, जानिए क्या है कहानी

वाराणसी. बाहुबली मुख्तार अंसारी को सबसे तगड़ा झटका लगा है। बेटे अब्बास अंसारी के खिलाफ पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। अब्बास अंसारी पर धोखाधड़ी और आम्र्स एक्ट के तहत ही एपआईआर की गयी है। आरोप है कि अब्बास ने एक ही लाइसेंसी असलहे को अलग-अलग लाइसेंस नंबर पर उपयोग किया है और लखनऊ पते पर लिये गये असलहे को दिल्ली के पते पर ट्रांसफर कराया गया है इसकी जानकारी भी पुलिस को नहीं दी गयी।
यह भी पढ़े:-Weather Alert मौसम में होना वाला है बड़ा उलटफेर, पहले से करें यह तैयारी

बाहुबली मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी पर मुकदमा दर्ज होने के बाद से हड़कंप मचा हुआ है। अब्बास अंसारी बहुत अच्छे शूटर है और शूटिंग में कई मेडल भी जीत चुके हैं। यूपी चुनाव २०१७ में मुख्तार अंसारी जेल में रहते हुए मऊ सदर से पर्चा दाखिल किया था चुनाव प्रचार की सारी जिम्मेदारी अब्बास अंसारी ने ही संभाली थी और अपने पिता को चुनाव जिताने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी थी। लोकसभा चुनाव 2019 में अखिलेश यादव व मायावती के गठबंधन के तहत मुख्तार अंसारी के भाई अफजाल अंसारी को गाजीपुर संसदीय सीट से टिकट मिला था। पीएम नरेन्द्र मोदी की लहर के बाद भी अफजाल अंसारी ने केन्द्रीय राज्यमंत्री रहे मनोज सिन्हा को लाखों वोटों से चुनाव हराया था इस जीत में भी अब्बास अंसारी की बड़ी मेहनत थी।
यह भी पढ़े:-16 साल की उम्र में किया था पहला कत्ल, दोनों हाथों से चलाता है गोली, बनना चाहता था दूसरा श्रीप्रकाश शुक्ला

पिता की राजनीतिक विरासत संभालने को तैयार है अब्बास अंसारी
बाहुबली मुख्तार अंसारी के राजनीतिक विरासत को संभालने के लिए अब्बास अंसारी तैयार है। २०१७ में अब्बास अंसारी चुनाव लड़े थे लेकिन हार का सामना करना पड़ा था इसके बाद वह खुद की जमीन को मजबूत करने में जुट गये हैं। इसी बीच अब्बास अंसारी पर मुकदमा दर्ज हो जाने से अंसारी बंधु की परेशानी बढ़ सकती है। मुकदमे पर अब्बास अंसारी व अफजाल अंसारी का पक्ष जानने के लिए सम्पर्क करने का प्रयास किया गया था लेकिन सम्पर्क नहीं हो पाया।
यह भी पढ़े:-यह है खूनी फ्लाईओवर, ले चुका है 15 लोगों की जान, ढाई गुना बढ़ चुकी है लागत

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned