खत्म हुआ इंतजार, बाबा विश्वनाथ के दर्शन के लिए खुले द्वार, वृदांवन में भी मंदिरों में दर्शन शुरू

Corona Virus Cases में उल्लेखनीय कमी देखने के बाद राज्य सरकार से बाजार और अन्य व्यापारिक गतिविधियों को शुरू करने की अनुमति मिलने के बाद वाराणसी जिले में स्थित काशी विश्वनाथ मंदिर भी भक्तों के दर्शन के लिए खोल दिया गया है

By: Karishma Lalwani

Published: 08 Jun 2021, 03:39 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

वाराणसी. उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस (Corona Virus) संक्रमण में उल्लेखनीय कमी देखने के बाद राज्य सरकार से बाजार और अन्य व्यापारिक गतिविधियों को शुरू करने की अनुमति मिलने के बाद वाराणसी जिले में स्थित काशी विश्वनाथ मंदिर भी भक्तों के दर्शन के लिए खोल दिया गया है। मंदिर खोले जाने के साथ ही आरटीपीसीआर रिपोर्ट (RTPCR Report) लेकर आने की अनिवार्यता को भी खत्म कर दिया गया है। यानी कि अब बगैर आरटीपीसीआर रिपोर्ट के भक्त दर्शन कर सकेंगे। पहले काशी विश्वनाथ मंदिर (Kashi Vishwanath Mandir) में आरटीपीसीआर रिपोर्ट लेकर आना अनिवार्य था।

बगैर रिपोर्ट के दर्शन

काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन के लिए पहुंचने वाले हर श्रद्धालु को प्रवेश दिया जाएगा। इसके लिए कोरोना निगेटिव की रिपोर्ट का होना जरूरी नहीं होगा। कोरोना के मामलों में आई कमी के बाद मंदिर प्रशासन ने यह फैसला किया है। यह नई व्यवस्था 8 जून से ही लागू हो गई है। मंदिर पहुंचने वाले श्रद्धालुओं को कोरोना प्रोटोकॉल के मुताबिक बगैर कोरोना निगेटिव रिपोर्ट के दर्शन की इजाजत दी जा रही है।

सोशल डिस्टेंसिंग के साथ दर्शन

काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन के लिए सभी भक्तों को कोरोना गाइडलाइंस नियमों का पालन करना होगा। हैंड सैनिटाइजेशन और सोशल डिस्टेंसिग के नियमों के अलावा मंदिर में प्रवेश के लिए मास्क को अनिवार्य किया गया है। बिना मास्क के किसी भी भक्त को मंदिर में प्रवेश नहीं मिलेगा।

वृदांवन में भी मंदिरों में दर्शन शुरू

वृंदावन में भी बांके बिहारी के मंदिर आम भक्तों के लिए एक सप्ताह पहले खुल चुके हैं। मंदिर खुलते ही भक्तों की भीड़ उमड़ने लगी है। शुरुआत में भक्तों की कमी देखी गई लेकिन समय बीतने के साथ ही अब भीड़ उमड़ने लगी है। न दो गज की दूरी का पालन हो रहा है न ही मास्क की चिंता है। पुलिस और मंदिर प्रबंधन के प्रबंध भी धराशायी हो रहे हैं। मंगलवार को बड़ी संख्या में लोग बगैर मास्क के रहे। मंदिर के गेट पर भी प्रवेश को लेकर आपाधापी नजर आया। मंदिर प्रबंधक मुनीश शर्मा ने कहा कि एक जून से मंदिर में भक्त अपने आराध्य के दर्शन कर रहे हैं। लेकिन कोविड के नियमों का पालन जरूरी होगा। वीकेंड में शनिवार और रविवार को मंदिर में ठाकुरजी के दर्शन नहीं होंगे। बाकी दिन सुबह 8 से दोपहर 12 बजे तक और शाम 5:30 बजे से 7 बजे तक मंदिर खुला रहेगा।

ये भी पढ़ें: काशी विश्वनाथ कॉरिडोर परिसर में जर्जर भवन के गिरने से दो मजदूरों की मौत, पीएम मोदी ने जताया शोक

ये भी पढ़ें: काशी विश्वनाथ कॉरिडोर में हादसा, जर्जर मकान गिरने से दो की मौत, सात घायल

Corona virus COVID-19
Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned