डांस, एरोबिक, स्पोर्ट्स एक्टिविटी का तालमेल है मॉडर्न योग

डांस, एरोबिक, स्पोर्ट्स एक्टिविटी का तालमेल है मॉडर्न योग

Yuvraj Singh Jadon | Publish: Jul, 09 2019 12:25:21 PM (IST) वेट लॉस

सेहतमंद रहने के लिए हम दिल-दिमाग को दुरुस्त रखने के लिए कुछ ऐसे योगासनों को दिनचर्या में शामिल कर सकते हैं

सेहतमंद रहने के लिए हम दिल-दिमाग को दुरुस्त रखने के लिए कुछ ऐसे योगासनों को दिनचर्या में शामिल कर सकते हैं जो पहले की तुलना में कुछ नवीनता लिए है। इनका फायदा है कि इनके नियमित अभ्यास से किसी एक अंग पर ही नहीं बल्कि पूरे शरीर पर सकारात्मक असर होता है। ये कॉम्बिनेशन वाले योग हैं जिनमें एक या दो योगासनों को मिक्स कर नया रूप देते हैं। जानें इनके बारे में-

रिद्मिक योग
इसमें योग के दौरान शरीर के पोश्चर, ध्यान व लचीलेपन पर फोकस करते हैं। योग के साथ किए गए डांस के दौरान धुन के साथ ताल को मैच करना जरूरी होता है। इसमें दो लोग एकसाथ एक ही ताल में समान मुद्रा में डांस करते हैं। इसे आर्टिस्टिक और इंटीग्रल योग का हिस्सा भी कहते हैं।

फायदा : मेडिटेशन के रूप में इससे तनाव दूर होता है। इसके अलावा शरीर को लचीला बनाने में भी यह उपयोगी है।

फ्री फ्लो योग
यह योग का ऐसा मॉडर्न प्रकार है जिसे एक व्यक्ति, कपल या कई लोगों का ग्रुप भी कर सकता है। इसमें बॉडी के हर भाग यानी सिर से लेकर पंजों तक का मूवमेंट आसान होता है। विशेषज्ञों के अनुसार इस स्टाइल में आर्टिस्टिक, रिद्मिक, एक्रो व एथलेटिक्स सभी शामिल हैं।

फायदा : मेडिटेशन के रूप में इसके अभ्यास से तनाव दूर होता है। इसके अलावा शरीर को लचीला बनाने में यह उपयोगी योग है। इससे बॉडी टोंड और स्फूर्ति से भरपूर रहती है। अंगों की अंदरूनी मांसपेशियां मजबूत होती हैं।

एक्रो योग
योग व एक्रोबेटिक्स से एक्रो योग बनता है। यह आर्टिस्टिक योग की तरह है जिसे कपल या पार्टनर योग भी कहते हैं। इसमें योग मुद्राओं के अलावा डांस, खेलकूद गतिविधियां, मार्शलआट्र्स आदि शामिल होते हैं। इनके अलावा उन सभी गतिविधियों को इसमें शामिल करते हैं जिनसे बॉडी का मूवमेंट होता रहे। इस योग को दो लोग साथ में करते हैं।

फायदा :
शारीरिक सक्रियता बढ़ने के साथ मानसिक संतुलन बनाने में भी मदद मिलती है। जोड़दर्द में राहत देता है।

आर्टिस्टिक योग
यह मॉडर्न स्टाइल का योग है जिसमें योगासनों व डांस को साथ में करते हैं। बॉडी का मूवमेंट होने के साथ मांसपेशियों की स्ट्रेचिंग भी होती है। खास बात यह है कि इसे किसी भी समय कर सकते हैं। इसेे आमतौर पर दो लोग एकसाथ मिलकर करते हैं। जिसमें दोनों के पोश्चर अलग होते हैं। इसके अलावा एक व्यक्ति भी इसे कर सकता है।

फायदा : जो लोग ज्यादा मेहनत से बचकर वजन कंट्रोल रखना चाहते हैं व डांस के शौकीन हैं उनके लिए यह अच्छा योग है।

एथलेटिक योग
इसमें किन्हीं दो तरह के खेलों में किए जाने वाले वर्कआउट को योग के साथ करते हैं। जैसे क्रिकेट व फुटबॉल में की जाने वाली स्ट्रेचिंग योगमुद्राओं में रहकर करते हैं।
फायदा : मजबूती और लचीलेपन के साथ व्यक्ति का स्टेमिना बढ़ता है। इस दौरान योग की मुद्रा में रहने से एकाग्रक्षमता और दिमागी रूप से मजबूती में इजाफा होता है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned