जाॅॅॅगिंग अाैर याेग आनुवंशिक मोटापा कम करने में मददगार - शाेध

आनुवांशिक माेटापे ( Genetic obesity ) से प्रभावित हैं ताे नियमित जाॅॅॅगिंग करना आपके लिए फायदेमंद रहेगा

By: युवराज सिंह

Updated: 03 Aug 2019, 09:33 AM IST

पीएलओएस जेनेटिक्स में प्रकाशित एक नए अध्ययन के अनुसार यदि आप आनुवांशिक माेटापे ( genetic obesity ) से प्रभावित हैं ताे नियमित जाॅॅॅगिंग करना आपके लिए फायदेमंद रहेगा। 30 से 70 वर्ष के बीच के 18,424 हान चीनी वयस्कों पर किए शाेध में बात सामने आर्इ है।

शोधकर्ताओं ने उनके बॉडी मास इंडेक्स, शरीर के वसा प्रतिशत और कमर के आकार को मापा, और रक्त के नमूनों के माध्यम से आनुवांशिक जानकारी भी एकत्र की और उनसे उनके व्यायाम की दिनचर्या के बारे में पूछा। शोधकर्ताओं ने उम्र, जेंडर और जीवनशैली जैसे धूम्रपान और शराब पीने के कारकों को भी ध्यान में रखा।

प्रत्येक प्रतिभागी का उच्च बीएमआई से जुड़े जीन पर आधारित मोटापे के आनुवंशिक जोखिम के लिए मूल्यांकन किया।शोधकर्ताओं ने उच्च जोखिम वाले जीन, जिनमें माेटापे का ज्यादा खतरा था, वाले प्रतिभागियों पर स्वस्थ वजन स्तर लाने के लिए 18 प्रकार के व्यायामों पर नजर रखी।

उन्होंने पाया कि जाे लाेग नियमित रूप से जॉगिंग कर रह थे, उनमें उच्च जोखिम वाले जीन हाेने के बावजूद भी स्वस्थ बीएमआई व वसा प्रतिशत हाेने की संभावना अधिक थी। जाॅॅगिंग से उनके वजन ही नहीं बल्कि अन्य आनुवंशिकी नकारात्मक प्रभावाें में भी कमी आर्इ।

शाेध के लेखक के अनुसार जाॅॅॅगिंग आैर योग का प्रभाव एक जैसा था, लेकिन ये तब ही प्रभावी है जब इन्हें लंबे समय तक किया जाए।इसके अलावा चलना ( walking ), तेज चलना ( power Walking ) आैर पहाड़ चढ़ना ( mountain climbing ) एेसी गतिविधियां है जिससे आनुवांशिक माेटापे की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है।

अध्ययन के अनुसार, साइकलिंग, तैराकी, स्ट्रेचिंग और नृत्य आदि आनुवांशिक मोटापे के खतरे काे घटाने प्रभावी नहीं थे।

शोधकर्ताओं ने निष्कर्ष निकाला कि जॉगिंग और व्यायाम हर किसी के लिए फायदेमंद हाेने के साथ आनुवंशिक ताैर पर माेटापे ( Genetic obesity ) से परेशान लाेगाें के लिए भी प्रभावी है।

Show More
युवराज सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned