Weight loss - डाइटिंग से नहीं डाइट प्लान से कम हाेगा माेटापा

Weight loss - डाइटिंग से नहीं डाइट प्लान से कम हाेगा माेटापा
Weight loss - डाइटिंग से नहीं डाइट प्लान से कम हाेगा माेटापा

Yuvraj Singh Jadon | Updated: 23 Aug 2019, 02:28:22 PM (IST) वेट लॉस

वजन कम करने के लिए लाेग खाना बंद कर देते हैं, या फिर भोजन में कुछ जरूरी खाद्य पदार्थों से दूरी बना लेते हैं, बस यहीं पर हुई चूक सेहत पर भारी पड़ती है

स्लिम-फिट दिखने के लिए लोग डाइटिंग कर रहे हैं। इसमें वे खाना बंद कर देते हैं, या फिर भोजन में कुछ जरूरी खाद्य पदार्थों से दूरी बना लेते हैं। बस यहीं पर हुई चूक सेहत पर भारी पड़ती है। पतले या जीरो फिगर लुक के लिए खाना बंद करने से रक्त में शुगर की सामान्य मात्रा असंतुलित हो जाती है। ऐसे में शरीर लिवर, हड्डी, मांसपेशियों व फैट से ग्लूकोज लेना शुरू कर देता है। इस कारण मांशपेशियां टूटती हैं और व्यक्ति कमजोरी महसूस करता है। इम्युनिटी घटने से वह गंभीर रोगों की चपेट में आने लगता है।

ये होती दिक्कतें
खाना बंद करने से रक्त में कीटोन्स बनते हैं जिसे सिर्फ दिमाग प्रयोग में लेता है। इससे हृदय व ब्लड प्रेशर की गति धीमी होती है जिससे व्यक्ति की अचानक मौत हो सकती है। इसलिए विशेषज्ञ डाइटिंग न करने की सलाह देते हैं। ताकि शरीर को जरूरी पोषक तत्त्व मिल सकें।

गड़बड़ाता पाचन
संतुलित भोजन से फैट, कार्बोहाइड्रेट्स, प्रोटीन, विटामिन, मिनरल्स व एंटीऑक्सीडेंट्स मिलते हैं। खाना बंद होने पर इलेक्ट्रोलाइट इंबैलेंस की स्थिति बनती है। पोषक तत्त्वों की कमी से कोशिकाओं को पोषण नहीं मिलता और वे मरने लगती हैं। कुछ लोग दुबले पतले होते हैं लेकिन खाना बहुत खाते हैं। इसका मतलब है कि उनका पाचनतंत्र बढ़िया हैं।

थायरॉइड से भी बढ़ता वजन
थॉयराइड की तकलीफ से वजन बढ़ने के साथ थकान, सुस्ती, कमजोरी, लंबाई न बढ़ने, पेट के रोग, कब्ज आदि परेशानियां होती हैं। ऐसे में डॉक्टरी सलाह लें। वजन बढ़ने का कारण कुछ और है तो डाइटिंग से दिक्कत बढ़ भी सकती है।

इन बाताें पर करें अमल
- अचानक खाना बंद करने की बजाय खाने की मात्रा कम करें। काम के अनुसार कैलोरी लें। सिटिंग जॉब है या घरेलू महिला हैं तो 1500 कैलोरी , मेहनत का काम है तो दिन में 2400 कैलोरी लें।

- वजन अधिक है तो खाने का प्रतिशत बॉडी मास इंडेक्स के आधार पर तय करते हैं। सुबह नाश्ता जरूर करें। एक बार में अधिक खाने के बजाय टुकड़ों में खाना फायदेमंद है। 8 बजे से पहले डिनर लें व टहलें।

- फाइबरयुक्त डाइट लें जिसमें भुट्टा, ब्राउन राइस, बीन्स, अमरूद, ओट्स, मटर, सेब, बादाम, काजू, पत्ता गोभी शामिल करें। डाइटिंग न करें। इसके बजाय विशेषज्ञ की सलाह पर नियमित व्यायाम करें।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned