scriptIn town Barrow located in Alaska, the northernmost city in America, sun sets on November 18 and rises on January 23 | इस शहर में 18 नवंबर को डूबता है सूरज, फिर 23 जनवरी से पहले नहीं देता दर्शन | Patrika News

इस शहर में 18 नवंबर को डूबता है सूरज, फिर 23 जनवरी से पहले नहीं देता दर्शन

अमेरिका के अलास्का में एक ऐसा शहर है, जहां साल में करीब 66 दिनों तक सूर्योदन नहीं होता है और लोगों को इस दौरान भयंकर ठंड का सामना करना पड़ता है। शहर में कुछ घंटे के लिए रोशनी होती है, लेकिन चमकता सूरज नहीं दिखाई देता है।

नई दिल्ली

Published: July 01, 2022 10:03:10 pm

दुनिया में ऐसी कई जगह हैं जो अपने आप में बेहद विचित्र हैं। उनमें से एक जगह अमेरिका में भी है। अमेरिका का अलास्का दुनियाभर में अपनी खूबसूरती के लिए जाना जाता है। यहां के मनमोहक नजारे किसी का भी मन मोह लेते हैं। मगर यहां एक ऐसा भी शहर है जहां सर्दियों में सूरज दो महीने तक दिखाई नहीं देता है। इस शहर का नाम बैरो है जिसे उतकियागविक नाम से जाना जाता है। इस शहर में 18 नवंबर को जब सूरज डूबता है तो अगले साल के जनवरी महीने की 23 तारीख तक ही सूरज के दर्शन कर पाना मुमकिन हो पाता है।
In town Barrow located in Alaska, the northernmost city in America, sun sets on November 18 and rises on January 23
In town Barrow located in Alaska, the northernmost city in America, sun sets on November 18 and rises on January 23
यानी की पूरे 66 दिनों तक यहां अंधेरा छाया रहता है। बिल्कुल उसी तरह जैसे रात में होता है। दिन में कुछ घंटे रोशनी रहेती है लेकिन लोगों को चमकता सूरज नहीं दिखाई देता। ये वाकई रोचक बात है कि अपनी प्राकृतिक सौंदर्य के लिए पहचानी जाने वाली इस जगह पर सूरज का दीदार करने के लिए लोगों को तकरीबन दो महीने से भी ज्यादा इंतजार करना पड़ता है। इस शहर के लोग इस घटना को 'डेज ऑफ डार्कनेस' कहते हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि ये सब आखिर कैसे होता है? चलिए हम आपको बताते हैं की आखिर इसके पीछे की वजह क्या है?
दरअसल, उत्तरी ध्रुव की तरफ आगे बढ़ते हुए सर्दियों में कुछ जगहों पर दिन इतने छोटे होते हैं कि वहां रोशनी नहीं होती। आर्कटिक में पड़ने वाले उतकियागविक में भी यही आलम रहता है। ये शहर उत्तरी ध्रुव से 2 हजार 92 किलोमीटर की दूरी पर बसा है। उत्तरी ध्रुव पर आर्कटिक सर्कल होता है और दक्षिणी ध्रुव पर अंटार्कटिक सर्कल। उतकियागविक शहर आर्कटिक सर्कल की ऊंचाई पर स्थित है। आर्कटिक सर्कल के ऊंचाई पर होने की वजह से सूरज यहां क्षितिज से ऊपर नहीं जा पाता। इसलिए इसे 'पोलर नाइट्स' भी कहा जाता है।
यानी की जो शहर या देश उत्तरी ध्रुव के जितना करीब होगा, वां उतनी ही लंबी या तो राते होंगी या फिर दिन। बता दें कि पृथ्वी अपनी एक्सिस पर टेढ़ी खड़ी है। इसके कारण उसके दोनों पोल्स यानी नॉर्थ और साउथ पोल पर सूरज की रोशनी एक साथ नहीं पड़ती। यही कारण है कि नॉर्थ में अगर दिन रहता है तो साउथ पोल में उन दिनों रात होती है। उतकियागविक शहर में करीब 4 हजार की आबादी है। पोलर नाइट के दौरान उतकियागविक के लोगों को कड़ाके की ठंड का सामना करना पड़ता है।

यह भी पढ़ें

Bihar: सबूत के तौर पर बरामद बम को पटना कोर्ट में किया जा रहा था पेश, हो गया ब्लास्ट

नवंबर से जनवरी तक यहां तापमान काफी नीचे रहता है। कई बार यहां तापमान माइनस 10 से 20 डिग्री तक नीचे लुढ़क जाता है। इतना ही नहीं, दो महीने के अंधेरे में शहर का औसत तापमान माइनस 5 डिग्री से नीचे होता है। उतकियागविक शहर के लोगों को पोलर नाइट की आदत है और वे इसे सेलिब्रेट करते हैं। यही वजह है कि जिस दिन सूरज अस्त होता है, उस दिन लोग जश्न मनाते हैं और फिर जिस दिन सूरज निकलता है, उस दिन भी लोगों के बीच खुशी का माहौल होता है।
हालांकि सूर्योदय से जुड़ी यह घटना अकेले सिर्फ अमेरिका के शहर में ही नहीं होती है, बल्कि अलास्का के अलावा रूस, स्वीडन, फिनलैंड, ग्रीस और कनाडा के कुछ शहरों में भी होती है। कनाडा के ग्रीस फिओर्ड में तो 100 दिन तक अंधेरा रहने की स्थिति बन जाती है।

यह भी पढ़ें

रक्षा क्षेत्र में एक और बड़ी कामयाबी, बिना पायलट के उड़ने वाले विमान का भारत ने किया सफल परीक्षण

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

बिहार सीएम की शपथ लेने के साथ अपने ही रिकॉर्ड तोड़ने से चूके Nitish Kumar, 24 अगस्त को साबित करेंगे बहुमतपीएम मोदी का कांग्रेस पर बड़ा हमला, कितना भी 'काला जादू' फैला लें कुछ होने वाला नहींMumbai: सिंगर सुनिधि चौहान के खिलाफ शिवसेना ने पुलिस में दर्ज कराई शिकायत, पाकिस्तान स्पॉन्सर कार्यक्रम का लगाया आरोपदेश के 49वें CJI होंगे यूयू ललित, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने नियुक्ति पर लगाई मुहरकश्मीरी पंडित राहुल भट्ट की हत्या का बदला हुआ पूरा, सुरक्षाबलों ने तीन आतंकियों को मार गिरायासुनील बंसल बने बंगाल बीजेपी के नए चीफ, कैलाश विजयवर्गीय की हुई छुट्टीसुप्रीम कोर्ट से नूपुर शर्मा को बड़ी राहत, सभी FIR को दिल्ली ट्रांसफर करने के निर्देशBihar Mahagathbandhan Govt: नीतीश कुमार ने 8वीं बार ली बिहार के CM पद की शपथ, तेजस्वी यादव बने डिप्टी सीएम
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.