script इंडियन ओशन ट्रिपल जंक्शन में भूकंप का झटका, रिक्टर स्केल पर रही 5.6 की तीव्रता | Earthquake of magnitude 5.6 jolts Indian Ocean Triple Junction | Patrika News

इंडियन ओशन ट्रिपल जंक्शन में भूकंप का झटका, रिक्टर स्केल पर रही 5.6 की तीव्रता

locationनई दिल्लीPublished: Nov 27, 2023 12:20:07 pm

Submitted by:

Tanay Mishra

Earthquake In Indian Ocean Triple Junction: इंडियन ओशन ट्रिपल जंक्शन में आज भूकंप का मामला सामने आया है।

earthquake.jpg
Earthquake in Indian Ocean Triple Junction

दुनियाभर में पिछले एक साल में भूकंप के मामलों में तेज़ी से इजाफा हुआ है। हर दिन कहीं न कहीं एक से ज़्यादा भूकंप आते हैं। आज, सोमवार, 27 नवंबर को आए भूकंपों में इंडियन ओशन ट्रिपल जंक्शन (Indian Ocean Triple Junction) में आया भूकंप भी शामिल है। इंडियन ओशन ट्रिपल जंक्शन में आज आए भूकंप की रिक्टर स्केल पर तीव्रता 5.6 रही। भारतीय समयानुसार इंडियन ओशन ट्रिपल जंक्शन में आज सुबह 8 बजकर 4 मिनट पर भूकंप आया। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इंडियन ओशन ट्रिपल जंक्शन को रोड्रिग्स ट्रिपल जंक्शन - आरटीजे ( Rodrigues Triple Junction - RTJ) भी कहा जाता है। यह दक्षिणी हिंद महासागर में एक भूगर्भिक ट्रिपल जंक्शन है जहाँ 3 टेक्टोनिक प्लेटें मिलती हैं। ये 3 प्लेटें अफ्रीकी प्लेट, इंडो-ऑस्ट्रेलियाई प्लेट और अंटार्कटिक प्लेट हैं।


कितनी रही भूकंप की गहराई?

इंडियन ओशन ट्रिपल जंक्शन में आज आए इस भूकंप की गहराई 10 किलोमीटर रही।


नहीं हुआ नुकसान

इंडियन ओशन ट्रिपल जंक्शन में आज आए इस भूकंप से कोई नुकसान नहीं हुआ है।

चिंताजनक है भूकंप के मामलों का बढ़ना

पिछले एक साल में दुनियाभर में भूकंप के मामले बढ़ रहे हैं। दुनियाभर में पिछले एक साल में किसी न किसी जगह भूकंप के मामले देखने को मिलते हैं। कुछ भूकंपों से किसी तरह का नुकसान नहीं होता है, पर पिछले कुछ महीनों में कुछ ऐसे भी भूंकप देखने को मिले हैं जिनसे भारी तबाही मची है। पिछले साल इंडोनेशिया (Indonesia) में आए भूकंप और इस साल तुर्की (Turkey) और सीरिया (Syria) में आए भूकंप ने काफी तबाही मचाई थी। 8 सितंबर को मोरक्को (Morocco) में आए भूकंप, पिछले महीने 7 अक्टूबर को अफगानिस्तान (Afghanistan) में आए भूकंप और इस महीने 3 नवंबर को नेपाल (Nepal) में आए भूकंप ने भी काफी तबाही मचाई। हालांकि सभी भूकंप तबाही नहीं मचाते, पर भूकंप के मामलों का बढ़ना चिंताजनक है।

यह भी पढ़ें

गाज़ा में 4 दिवसीय युद्ध विराम का आज आखिरी दिन, हमास है इसे बढ़ाने के लिए तैयार

ट्रेंडिंग वीडियो