scriptIsrael-Hamas War : गाजा में मारे गए जांबाज भारतीय कर्नल वैभव अनिल काले को अंतिम सम्मान | Israel-Hamas War: Last respects to retired Colonel Vaibhav Anil Kale who was killed in Gaza | Patrika News
विदेश

Israel-Hamas War : गाजा में मारे गए जांबाज भारतीय कर्नल वैभव अनिल काले को अंतिम सम्मान

Indian embassy officials pay last respects to retired Colonel Kale killed in Gaza : इज़राइल हमास युद्ध के चलते इज़राइल में भारतीय दूतावास के अधिकारियों ने गाजा ( Gaza)में मारे गए कर्नल वैभव अनिल काले (Colonel Vaibhav Anil Kale) को अंतिम सम्मान दिया।

नई दिल्लीMay 17, 2024 / 11:51 am

M I Zahir

Col-Anil-Kale

Col-Anil-Kale

Indian embassy officials pay last respects to retired Colonel Kale killed in Gaza : इज़राइल-हमास युद्ध ( Israel-Hamas War) के चलते गाजा ( Gaza) में मारे गए संयुक्त राष्ट्र में सुरक्षा सेवा समन्वयक भारतीय कर्नल वैभव अनिल काले (Colonel Vaibhav Anil Kale) को इज़राइल में भारतीय दूतावास ( Indian Embassy) के अधिकारियों ने अंतिम सम्मान दिया। उनकी पार्थिव देह भारत लाई जा रही है।

अफसर शामिल हुए

दूतावास के अधिकारियों के साथ इज़राइल के विदेश मंत्रालय, इज़राइल रक्षा बलों और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा और सुरक्षा विभाग ( UNDSS) के वरिष्ठ अधिकारी भी शामिल हुए।

पार्थिव शरीर भारत की अंतिम यात्रा पर

इज़राइल में भारतीय दूतावास ने एक्स को बताया, “दूतावास के अधिकारियों ने @IsraelMFA, @IDF, @UNDSS और अन्य संयुक्त राष्ट्र संगठनों के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ मिल कर कर्नल वैभव अनिल काले (सेवानिवृत्त) को अंतिम सम्मान दिया। जिन्होंने गाजा में अपनी जान गंवाई, उनका पार्थिव शरीर भारत की ओर अपनी अंतिम यात्रा पर है।”

वाहन में हुई थी मौत

कर्नल काले (46) की राफा से खान यूनिस क्षेत्र में एक अस्पताल ले जाते समय वाहन में मृत्यु हो गई थी। जानकारी के अनुसार, वैभव संयुक्त राष्ट्र में सुरक्षा सेवा समन्वयक के रूप में शामिल हुए और एक महीने पहले गाजा में तैनात हुए थे।

दो साल पहले सेवानिवृत्ति ली थी

काले को भारतीय सेना की जम्मू-कश्मीर राइफल्स रेजीमेंट में नियुक्त किया गया था और उन्होंने संयुक्त राष्ट्र में शामिल होने के लिए दो साल पहले सेवानिवृत्ति ले ली थी।

पार्थिव शरीर लाने में मदद कर रहा संयुक्त राष्ट्र

विदेश मंत्रालय ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र और इज़राइल में भारतीय मिशन कर्नल वैभव अनिल काले (सेवानिवृत्त) के पार्थिव शरीर को भारत लाने में सहायता कर रहे हैं, जो संयुक्त राष्ट्र कर्मचारी के रूप में काम करते हुए गाजा में मारे गए थे।

अधिकारियों के संपर्क में बने हुए

विदेश मंत्रालय ने एक आधिकारिक बयान में कहा,”न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र में हमारा स्थायी मिशन और तेल अवीव और रामल्लाह में हमारे मिशन शवों को भारत वापस लाने में सभी सहायता कर रहे हैं और घटना की जांच के संबंध में संबंधित अधिकारियों के संपर्क में बने हुए हैं।”

हमलों की निंदा,जांच की मांग

महासचिव ने भी संयुक्त राष्ट्र कर्मचारियों पर ऐसे सभी हमलों की निंदा की और पूरी जांच की मांग की। बयान में कहा गया है, “महासचिव संयुक्त राष्ट्र कर्मचारियों पर सभी हमलों की निंदा करते हैं और पूरी जांच की मांग करते हैं। वहीं मारे गए स्टाफ सदस्य के परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त करते हैं।

Hindi News/ world / Israel-Hamas War : गाजा में मारे गए जांबाज भारतीय कर्नल वैभव अनिल काले को अंतिम सम्मान

ट्रेंडिंग वीडियो