scriptUS President believes ties with India most important relationships | 2+2 Summit: भारत के साथ हमारे संबंध सबसे अहम और महत्वपूर्ण - US President Joe Biden | Patrika News

2+2 Summit: भारत के साथ हमारे संबंध सबसे अहम और महत्वपूर्ण - US President Joe Biden

11 अप्रैल से भारत- अमेरिका के बीच शुरू होने जा रही ‘2+2’ वार्ता से पहले व्हाइट हाउस की ओर से बड़ा बयान सामने आया है। व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव जेन साकी ने कहा कि, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन का मानना है कि भारत-अमेरिका के रिश्ते दुनिया में सबसे अहम है और उम्मीद है कि होने वाली वार्ता हमारे रिश्तों को और बेहतर बनाएगी

नई दिल्ली

Updated: April 09, 2022 12:55:01 pm

व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव जेन साकी ने शुक्रवार को कहा कि राष्ट्रपति जो बाइडेन का मानना है कि अमेरिका-भारत साझेदारी दुनिया में अमेरिका का सबसे महत्वपूर्ण रिश्ता है। अगले सप्ताह बाइडेन प्रशासन के तहत भारत-अमेरिका 2+2 वार्ता के बारे में बोलते हुए, व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव ने कहा कि राष्ट्रपति को उम्मीद है कि वार्ता भारत के साथ अमेरिका के काम और हिंद-प्रशांत क्षेत्र में साझा लक्ष्यों को आगे बढ़ाना जारी रखेगी।
2+2 Summit: भारत के साथ हमारे संबंध सबसे अहम और महत्वपूर्ण - US President Joe Biden
2+2 Summit: भारत के साथ हमारे संबंध सबसे अहम और महत्वपूर्ण - US President Joe Biden
जेन साकी ने कहा, "राष्ट्रपति बाइडेन का मानना है कि भारत के साथ हमारी साझेदारी दुनिया में हमारे सबसे महत्वपूर्ण संबंधों में से एक है। जैसा कि आप जानते हैं, उन्होंने मार्च में प्रधानमंत्री मोदी और अन्य क्वाड नेताओं से मुलाकात की थी। उन्हें उम्मीद है कि इस 2+2 में सेक्रेटरी ब्लिंकन और सेक्रेटरी ऑस्टिन भारत के साथ हमारे काम और हिंद-प्रशांत क्षेत्र और दुनिया भर में हमारे साझा लक्ष्यों को आगे बढ़ाते रहेंगे।"
रक्षा सचिव लॉयड जे ऑस्टिन-3 11 अप्रैल को पेंटागन में एक सम्मानित सम्मान समारोह में भारतीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का स्वागत करेंगे। भारत और अमेरिका रविवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, विदेश मंत्री (ईएएम) एस जयशंकर और उनके संबंधित अमेरिकी समकक्षों के बीच 2 + 2 वार्ता आयोजित करने के लिए तैयार हैं।
विदेश मंत्रालय (MEA) के बयान में कहा गया है, "वार्ता दोनों पक्षों को रणनीतिक मार्गदर्शन प्रदान करने और संबंधों को और मजबूत करने के लिए एक दृष्टि प्रदान करने के उद्देश्य से विदेश नीति, रक्षा और सुरक्षा से संबंधित भारत-अमेरिका द्विपक्षीय एजेंडा में क्रॉस-कटिंग मुद्दों की व्यापक समीक्षा करने में सक्षम बनाएगी।"
बयान में आगे कहा गया, "2+2 वार्ता महत्वपूर्ण क्षेत्रीय और वैश्विक विकास के बारे में विचारों का आदान-प्रदान करने का अवसर प्रदान करेगी और हम आम हित और चिंता के मुद्दों को हल करने के लिए मिलकर कैसे काम कर सकते हैं।"

अमेरिकी विदेश विभाग ने एक मीडिया नोट में सूचित किया है कि विदेश मंत्री एंटनी जे ब्लिंकन और रक्षा सचिव रविवार को वाशिंगटन डीसी में अपने भारतीय समकक्षों का स्वागत करेंगे।
तो वहीं, अमेरिकी बयान में कहा गया था, "2+2 मंत्रिस्तरीय हमारे साझा उद्देश्यों को अमेरिका-भारत रणनीतिक साझेदारी के दायरे में आगे बढ़ाने का एक महत्वपूर्ण अवसर है। हमारे लोगों से लोगों के बीच संबंधों और शिक्षा सहयोग को बढ़ाने, महत्वपूर्ण और उभरती हुई प्रौद्योगिकी के लिए विविध, लचीली आपूर्ति श्रृंखलाओं का निर्माण, हमारी जलवायु कार्रवाई और सार्वजनिक स्वास्थ्य सहयोग को बढ़ाने, और दोनों देशों में कामकाजी परिवारों के लिए समृद्धि बढ़ाने के लिए एक व्यापार और निवेश साझेदारी विकसित करना शामिल है।"
अमेरिकी विदेश विभाग ने अमेरिका और भारत के बीच बढ़ती प्रमुख रक्षा साझेदारी को उजागर करने का भी मौका होगा यह कहते हुए संवाद में कहा, "दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्रों के बीच संबंध सामान्य मूल्यों और लचीला लोकतांत्रिक संस्थानों की नींव पर बने हैं। भारत एक नियम आधारित अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था के प्रशांत हित जो संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता की रक्षा करते हैं, मानवाधिकारों को बनाए रखते हैं और क्षेत्रीय और वैश्विक शांति और समृद्धि का विस्तार करते हैं।"
विदेश मंत्री, जो 11-12 अप्रैल को अमेरिका का दौरा करेंगे, अपने समकक्ष, विदेश मंत्री ब्लिंकन से भी अलग से मुलाकात करेंगे और भारत-अमेरिका रणनीतिक वैश्विक साझेदारी को आगे बढ़ाने के लिए अमेरिकी प्रशासन के वरिष्ठ सदस्यों से भी मुलाकात करेंगे। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने ब्रीफिंग के दौरान यह जानकारी दी।

यह भी पढ़ें

सुबह किया प्रेगनेंसी टेस्ट, रिजल्ट आया नेगेटिव, मगर जब गई नहाने तो दे दिया बच्चे को जन्म

2+2 वार्ता से पहले, विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने मंगलवार को यूक्रेन की स्थिति सहित क्षेत्रीय और वैश्विक प्राथमिकताओं की समीक्षा करने के लिए विदेश मंत्री जयशंकर से फोन पर बात की। बता दें, दोनों देशों के बीच पिछली 2+2 मंत्रिस्तरीय वार्ता अक्टूबर 2020 में नई दिल्ली में आयोजित की गई थी।
भारत और संयुक्त राज्य अमेरिका ने पिछले साल सितंबर में वाशिंगटन में द्विपक्षीय 2+2 अंतर-सत्रीय बैठक की और दक्षिण एशिया, हिंद-प्रशांत क्षेत्र और पश्चिमी हिंद महासागर में विकास पर आकलन का आदान-प्रदान किया।

यह भी पढ़ें

Fodder scam case: झारखंड उच्च न्यायालय ने CBI को लालू यादव की जमानत याचिका पर जवाब देने के लिए दिया एक सप्ताह का समय

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्सयहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतिशुक्र का मेष राशि में गोचर 5 राशि वालों के लिए अपार 'धन लाभ' के बना रहा योगराजस्थान के 16 जिलों में बारिश-आंधी व ओलावृ​ष्टि का अलर्ट, 25 से नौतपाजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथइन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठा7 फुट लंबे भारतीय WWE स्टार Saurav Gurjar की ललकार, कहा- रिंग में मेरी दहाड़ काफीशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफ

बड़ी खबरें

टाइम मैगजीन ने जारी की 100 प्रभावशाली लोगों की लिस्ट, जेलेंस्की, पुतिन के साथ 3 भारतीय भी शामिलHaj 2022: दो साल बाद हज पर जाएंगे मोमिन, पहला भारतीय जत्था 4 जून को होगा रवानाआ गया प्लास्टिक कचरे का सफाया करने वाला नया एंजाइमWomen's T20 Challenge: पहले ही मैच में धमाकेदार जीत दर्ज की सुपरनोवास ने, ट्रेलब्लेजर्स को 49 रनों से हरायाअनिल बैजल के इस्तीफे के बाद Vinai Kumar Saxena बने दिल्ली के नए उपराज्यपालISI के निशाने पर पंजाब की ट्रेनें? खुफिया एजेंसियों ने दी चेतावनीममता बनर्जी ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना, कहा - 'भाजपा का तुगलगी शासन, हिटलर और स्टालिन से भी बदतर'लगातार बारिश के बीच ऑरेंज अलर्ट जारी, केदारनाथ यात्रा पर लगी रोक, प्रशासन ने कहा - 'जो जहां है वहीं रहे'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.