script पाकिस्तान में चुनाव लड़ने को लेकर बोलीं सवेरा प्रकाश, 'मेरे चुनाव में उतरने से हिन्दुओं... | Who is savera prakash said about contesting elections in Pakistan Hindus get courage by my contesting elections | Patrika News

पाकिस्तान में चुनाव लड़ने को लेकर बोलीं सवेरा प्रकाश, 'मेरे चुनाव में उतरने से हिन्दुओं...

locationनई दिल्लीPublished: Dec 28, 2023 08:28:14 pm

Submitted by:

Shivam Shukla

Pakistan Election: 1947 के बाद से पहली बार कोई हिंदू महिला नेता पाकिस्तान में चुनाव लड़ने जा रही हैं। उन्होंने अपने एक बयान में कहा, "मुझे आवाम का भरपूर समर्थन और आशीर्वाद मिल रहा है। अल्पसंख्यक होने के बाद भी मुझे बहुत सपोर्ट मिल रहा है।

 savera prakash

who is savera prakash: पाकिस्तान में साल 2024 के शुरुआत में यानी 8 फरवरी से आम चुनाव होने वाले हैं। इस इलेक्शन के करीब आने के साथ ही, पड़ोसी देश में सियासी गरमाहट बढ़ती दिख रही है। चुनाव की उम्मीदवारी के लिए प्रत्याशियों ने अपना नामांकन कर दिया है। खास बात ये है कि इस आम चुनाव में एक हिंदू नेता ने भी अपना पर्चा दाखिल किया है। जिसकी वजह से वो भारत में सुर्खियों में छाई हुई हैं। इस महिला का नाम है डॉ सवेरा प्रकाश है।

पाकिस्तान की हिंदू नेता डॉ सवेरा प्रकाश वर्तमान में पाकिस्तान के खैबर पख्तूनखवा क्षेत्र की बुनेर सीट से पाकिस्तान पीपल्स पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ रहीं हैं। हालांकि इस चुनाव में उनका आसानी से जीतना बहुत मुश्किल है। एक इंटरव्यू के दौरान उन्होंने आजतक को अपनी चुनौतियों के बारे में खुलकर बातचीत की है।

पाकिस्तान में पहली हिंदू महिला नेता

बता दें कि आजादी के बाद यानी 1947 के बाद से पहली बार कोई हिंदू महिला नेता पाकिस्तान में चुनाव लड़ने जा रही हैं। उन्होंने अपने एक बयान में कहा, "मुझे आवाम का भरपूर समर्थन और आशीर्वाद मिल रहा है। अल्पसंख्यक होने के बाद भी मुझे बहुत सपोर्ट मिल रहा है। यहां लोगों ने मुझे 'डॉटर ऑफ बुनेर' का टाइटल दे दिया है, जो मेरे लिए सम्मान की बात है। मुझे ख़ुद विश्वास नहीं हो रहा कि मुझे इतना प्यार मिल रहा है।"

यह भी पढ़ें

कतर में 8 पूर्व नेवी ऑफिसर की मौत की सजा पर लगी रोक, जानें पूरा मामला

मंदिरों पर हमले की खबरों को बताया प्रोप्रोगेंडा

उन्होेंने पाकिस्तान में हिंदू लोगों और मंदिरों पर होने वाले हमलों पर बोलते हुए कहा 'मुझे ऐसा लगता है कि यह एक प्रोपेगेंडा है। पाकिस्तान में मस्जिदों में भी हमला होता है। मगर हां सभी अगर पढ़े लिखे होंगे तो मुझे लगता है हालात बेहतर होंगे, धार्मिक सहिष्णुता बढ़ेगी।'

यह भी पढ़ें

मुंबई से पैदल चलकर अयोध्या पहुंचेंगी शबनम, 1,425 किलोमीटर का तय करेंगी सफर




ट्रेंडिंग वीडियो