काले कानून के विरोध में सर्व समाज का प्रदर्शन, लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार को चेताया

काले कानून के विरोध में सर्व समाज का प्रदर्शन, लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार को चेताया

Abhishek Saxena | Publish: Aug, 30 2018 04:25:15 PM (IST) | Updated: Aug, 30 2018 05:26:44 PM (IST) Agra, Uttar Pradesh, India

लोकसभा चुनाव के लिए सवर्ण समाज का ये संकेत बहुत कुछ कहता है, 'मोदी तेरी तानाशाही, नहीं चलेगी-नहीं चलेगी', काला एक्ट खत्म करने को सर्व समाज का विरोध प्रदर्शन

आगरा। खंड-खंड में मत बांटो, काले एक्ट को भंग करो। मोदी तेरी तानाशाही, नहीं चलेगी-नहीं चलेगी। काला कानून बंद करो-बंद करो, जैसे नारो के साथ भारत माता के जयकारे। हजारों की भीड़। कुछ के सिर पर टोपी तो कुछ भगवाधारी। सुभाष पार्क से कलेक्ट्री तक पहुंचे सर्वसमाज के रैले ने यह साबित कर दिया कि जिस तरह वोट के लिए लोक सभा व राज्य सभा में सभी दलों के सांसद एक हो गए वैसे ही एससीएसटी एक्ट जैसे काले कानून के विरोध में सर्वसमाज के लोग एकजुट होकर सरकार के विरोध में खड़े हैं।

कलेक्ट्री पर किया कूच
दोपहर 11 बजे से सुभाष पार्क अखिल भारतीय वैश्य एकता परिषद के नेतृत्व में सर्वसमाज के लोगों एकत्र होने लगे। 11.30 बजे प्रदर्शन करते हुए हजारों की संख्या में लोग कलेक्ट्री की ओर बढ़ने लगे। सुरक्षा की दृष्टि से जगह-जगह पुलिस का पहरा था। हाथों में एससीएसटी एक्ट विरोधी स्लोगन की तख्तियां थीं। कलेक्ट्री पहुंच कर जिलाधिकारी कार्यालय के बाहर अखिल बारतीय वैश्य एकता परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. सुमन्त ने सभा को सम्बोधित किया। बताया कि जब तक इस काले कानून को भंग नहीं किया जाता, लड़ाई जारी रहेगी। वोटों की राजनीति के लिए देश को खंड-खंड मत करो। एक देश में जाति आधारित अलग-अलग कानून सिर्फ भ्रष्टाचार, हिंसा और दिलों में भेदभाव को बढ़ाएगा। एक देश में सबके लिए एक कानून होना चाहिए। मांग न मानी गईं तो यह सिर्फ ट्रेलर है। देश भर में आंदोलन किया जाएगा। प्रदर्शन में अछनेरा, फतेहपुरसीकरी, कागारौल, खेरागढ़, जगनेर, खंदौली, किरावली, रायभा आदि से लोग शामिल हुए।

 

sc st act

ये होगी आगे की रणनीति

अखिल भारतीय वैश्य एकता परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. सुमन्त गुप्ता ने आगे की रणनीति के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि

-स्थानीय विधायकों व सांसदों को घेरकर ज्ञापन दिया जाएगा।

-2 अक्टूबर को अछनेरा से दिल्ली राजघाट तक सर्वसमाज के बैनर तले पदयात्रा निकाली जाएगी।

-30 सितम्बर को अखिल भारतीय वैश्य एकता परिषद के शाहजहांपुर तिलहर कस्बे में आयोजित राष्ट्रीय अधिवेशन में एससीएसटी एक्ट का ही मुख्य मुद्दा होगा।

98 वर्षीय स्वतंत्रता सेनानी चिम्मनलाल भी हुए शामिल
स्वतंत्रता सेनानी 98 वर्षीय चिम्ममनलाल जैन भी प्रदर्शन में शामिल हुए। अपनी उपस्थिति दर्ज कराते हुए उन्होंने एससीएसटी एक्ट के प्रति विरोध दर्ज कराया। सवाल किया कि क्या देश की आजादी के लिए शहीदों ने इस दिन के लिए कुर्बानी दी थी कि वोट की राजनीति के लिए भाई-भाई को लड़ाया जाए। मनों में भेद पैदा किया जाए। एक देश में सबके लिए एक कानून क्यों नहीं। जाति आधारित राजनीति कब तक चलेगी। वृद्धावस्था के कारण वह चारपहिया वाहन में बैठकर सुभाष पार्क से कलेक्ट्री तक पहुंचे।

इन संगठनों ने लिया भाग
अखिल भारतीय वैश्य एकता परिषद, अखिल बारतीय क्षत्रीय महासभा, क्षत्रिय सभा आवास विकास कॉलोनी बोदला, राष्ट्रीय राजपूताना यूथ ब्रिग्रेड, अनारक्षित समाज पार्टी, क्षत्रीय सभा आगरा, क्षत्रीय सभा दयालबाग, क्षत्रिय सभा यमुनापार, समान अधिकार पार्टी, क्षत्रिय समाज बालाजीपुरम, ब्रह्मण समाज, राष्ट्रीय ब्राह्मण महासभा, गरीब सेना, कर्ण राजपूत समाज, अखिल भारत हिन्दू महासभा के अलावा, मुस्लिम, जैन, यादव व दलित समाज के लोगों ने भी भाग लिया।

ज्ञापन लेने कार्यालय से बाहर आए डीएम
जिलाधिकारी ने ज्ञापन लेने के लिए पदाधिकारियों को कार्यालाय में बुलाया तो लोगों ने इसका विरोध कर जिलाधिकारी को बाहर आकर ज्ञापन लेने की मांग की। इस पर जिलाधिकारी बाहर आए और ज्ञापन लिया। डॉ. सुमन्त गुप्ता, रवि प्रसाद अग्रवाल, विनय अग्रवाल, मुरारीलाल गोयल व मुराली प्रसाद अग्रवाल ने ज्ञापन सौंपा।

 

इनकी रही विशेष उपस्थिति
राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. सुमन्त गुप्ता, रवि प्रसाद अग्रवाल, विनय अग्रवाल, मुरारीलाल गोयल व मुराली प्रसाद अग्रवाल, विनोद अग्रवाल, हाजी आरके उस्मानी, जुनैद अहमद, कुलदीप शर्मा, देवेश शुक्ला, जितेन्द्र सिंह सिकरवार, इं. आरएस तोमर, उपेन्द्र कुमार सिकरवार, किशन उपाध्याय, सुमन गोयल, मनोज शर्मा जितेन्द्र पाराशर, द्वारिका प्रसाद, संजीव सिंह, सौरभ शर्मा, राजीव सक्सेना, बाबा बालयोगी, बेनी सिंह, संत कुमार प्रजापति, पाषर्दों में अमित ग्वाला, विवेक तोमर, हरिओम गोयल, दीपक अग्रवाल के अलावा मनीष अग्रवाल, मखेन्द्र सिंह, चेतन वर्मा (कुशवाह) अमित बंसल, उमेश अग्रवाल, लक्ष्मी कुमार मित्तल, त्रिभुवन कठेरिया, छीतरमल अग्रवाल, डॉ. राकेश गुप्ता, संजय अग्रवाल, सुमन गोयल, आशा अग्रवाल, राकेश गुप्ता, शकुन बंसल, ज्ञान बंसल, शैलू अग्रवाल, केएम सिंघल, विवेक गर्ग, अविनाश गुप्ता, शैलेन्द्र अग्रवाल, आरके सिंह राघव, राजीव चौहान, रविन्द्र कुमार गुप्ता, महेन्द्र खंडेलवाल, राकेश गुप्ता, ज्ञान प्रकाश, अनिल पोरवाल, विष्णु कुशवाह, सुमन गोयल, आशा अग्रवाल, मीरा कुशवाह, कुसुम शर्मा, रेखा सिंह, बॉबी अग्रवाल, बबिता अग्रवाल आदि उपस्थित थे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned