scriptDm visited villages as the water level of Chambal and Yamuna increased | आगरा: खतरे के निशान पर बह रही चंबल, 12 गांवों से कटा संपर्क | Patrika News

आगरा: खतरे के निशान पर बह रही चंबल, 12 गांवों से कटा संपर्क

चंबल इलाके में करीब 38 गांवों में चंबल नदीं ने नींद उड़ा दी हैं। इन गांवों में मंगलवार को ग्रामीण रात भर जागते रहे।

आगरा

Published: August 04, 2021 12:30:45 pm

आगरा. राजस्थान और एमपी में मूसलाधार बारिश से पिनाहट में चंबल नंदी खतरे के निशान पर बह रही है। बरसात के कारण नदियां उफान पर हैं। जिले के एक दर्जन गांवों में बाढ़ जैसे हालात हो गए हैं। गांवों को जोड़ने वाले रास्ते पानी में डूब गए हैं। जिलाधिकारी प्रभु नारायण सिंह प्रभावित गांवों का जायजा लिया। पांच गांवों में स्टीमर से आवाजाही शुरू कराई है।
agra_chambal.jpg
यह भी पढ़ें

आगरा: पुलिस चौकी में लड़कों की मौजमस्ती, दरोगा की कुर्सी पर बैठ मेज पर रखे पैर

जिले में यमुना लाल निशान से तीन कदम दूर बह रही है। मंगलवार शाम को वाटरवर्क्स पर जलस्तर 492 फीट पहुंच गया। 495 फीट लो फ्लड लेवल है। यमुना के उफान से दयालबाग, मोहनपुर, खासपुर, बाईपुर मुस्तकिल समेत एक दर्जन गांव में खेत डूब गए हैं। गोकुल बैराज से रिकार्ड 49281 क्यूसेक पानी यमुना में छोड़ा गया है।
रातों में सो नहीं रहे हैं ग्रामीण

चंबल इलाके में करीब 38 गांवों में चंबल नदीं ने नींद उड़ा दी हैं। इन गांवों में मंगलवार को ग्रामीण रात भर जागते रहे। झरना पुरा, पुरा डाल, जेबरा, डगोरा, उमरैठा पुरा, क्योरी, रेहा आदि गांवों से रास्ते पूरी तरह से डूब गए हैं। धांधू पुरा, पुरा भगवान, मुकुटपुरा, हरलाल पुरा, उमरैठा, क्यारी, बरहा, सिमराई गांवों के फसलें जलमग्न हो गईं हैं।
हालात चिंताजनक

चंबल से धौलपुर और पिनाहट में हालात चिंताजनक हो गए हैं। धौलपुर में यमुना नदी खतरे के निशान से 12 मीटर ऊपर बह रही है। यहां 130 मीटर पर लाल निशान है। मंगलवार शाम धौलपुर में चंबल का जलस्तर 141 मीटर पहुंच गया है। पिनाहट में चंबल 129 मीटर पर पहुंच गई है। 130 मीटर पर खतरे का निशान है। बाढ़ नियंत्रण कक्ष के रिपोर्ट मुताबिक बुधवार तक पिनाहट में चंबल लाल निशान से तीन मीटर ऊपर 133 मीटर तक पहुंच सकती है।
इन गावों शुरू हुई स्टीमर से आवाजाही

डीएम प्रभु नारायण सिंह ने बाढ़ प्रभावित गांवों का जायजा लेने के बाद गोहरा, रानीपुरा, भटपुरा, मऊ की मढ़ैया और गुढ़ा गांव में स्टीमर से आवाजाही शुरू करा ही है। बरसात में नदियां उफान पर हैं।
प्रशासन ने संभाला मोर्चा

जिलाधिकारी प्रभु नारायण सिंह ने बताया कि एडीएम वित्त एवं राजस्व और एसडीएम को प्रभावित गांव में 24 घंटे निगरानी के निर्देश दिए हैं। राजस्व विभाग की टीमें सक्रिय हैं। प्रभावित ग्रामीणों को ऊंचे स्थानों पर रहने की सलाह दी गई है। स्थिति बेकाबू होते ही ग्रामीणों को विस्थापित किया जा सकता है। प्रभावित गांव में एडीएम व एसडीएम ने राजस्व टीमों के साथ आपदा प्रबंधन के लिए मोर्चा संभाल लिया है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

कोरोना: शनिवार रात्री से शुरू हुआ 30 घंटे का जन अनुशासन कफ्र्यूशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेCM गहलोत ने लापरवाही करने वालों को चेताया, ओमिक्रॉन को हल्के में नहीं लें2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव

बड़ी खबरें

पीएम मोदी की सुरक्षा में चूक मामले की जांच कर रहीं जस्टिस इंदु मल्होत्रा को SFJ ने दी धमकीहरक रावत की बीजेपी से छुट्टी पर सीएम पुष्कर धामी का बड़ा बयान, बोले- पार्टी पर बना रहे थे दबावपंजाब में टल सकते हैं चुनाव! चन्नी सरकार की मांग पर चुनाव आयोग की अहम बैठक आजभारत में एक दिन में कोरोना के 2.71 लाख नए मामले आए सामने, 314 की मौतPandit Birju Maharaj: कथक सम्राट पंडित बिरजू महाराज का निधन, 83 साल की उम्र में ली अंतिम सांसबिल्डर ने पांच दोस्तों से कराया पत्नी का गैंगरेप, हैवानियत ऐसी कि बिना कपड़ों के रखता था बंधक बनाकरसीएम की बड़ी घोषणा, पंचों-सरपंचों को फिर मिले ये अधिकारUP Election 2022- 'आप' ने उतारे प्रत्याशी, वाराणसी से डॉक्टर, वकील, समाजसेविका और पार्षद को टिकट, जानें सभी के बारे में
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.