आयकर के छापे में करोड़ों के खेल का खुलासा होने की उम्मीद

सिंचाई विभाग के अधिकारी और परिजनों के घर इनकम टैक्स का छापा

By:

Published: 10 Nov 2017, 03:39 PM IST

आगरा। सिंचाई विभाग में एक अधिकारी के घर इनकम टैक्स की टीम का छापा मारा। लॉयर्स कॉलोनी स्थित शिवालिक रेजीडेंसी में सिंचाई विभाग के अधीक्षण अभियंता राजेश्वर सिंह के ससुर के फ्लैट पर टीम ने कार्रवाई की है। राजेश्वर सिंह के एटा , दिल्ली, नोएडा, फरीदाबाद और गाजियाबाद में घरों पर एक साथ कार्रवाई हुई है। राजेश्वर सिंह ओखला कनाल के दिल्ली बेस्ड आगरा आफिस में तैनात हैं।

सात शहरों में एक साथ कार्रवाई
सिंचाई विभाग के इंजीनियर राजेश्वर सिंह यादव के सात शहरों में 20 से ज्यादा ठिकानों पर आयकर विभाग की छापेमारी हुई है। राजेश्वर सिंह के दिल्ली, नोएडा, फरीदाबाद, गाजियाबाद और एटा में इनकम टैक्स की छापामार कार्यवाई जारी है। वहीं राजेश्वर सिंह यादव के पैतृक गांव मेहनी में इनके आवास पर करोड़ों के सोने चांदी के जेवरात सहित दर्जनों बैंक एंकाउंटस की पासबुक भी मिली हैं। जिन्हें इनकम टैक्स की टीम बैंकों में भी चेकिंग कर रही हैं। वहीं अपने नाम से करोड़ों की वेशकीमती 200 बीघा से ज्यादा जमीन खरीदी है। अपने रिश्तेदारों और करीबियों को भी सैकड़ों बीघा जमीन ओर करोड़ों रुपये कीमत के प्लाट भी बांटे गए हैं। इनकमटैक्स की टीम का छापा अभी भी जारी है।

आगरा में श्वसुर के घर हुई कार्रवाई
आईटी की टीम ने आगरा में की कार्रवाई से खलबली मची हुई है। आगरा से इनकम टैक्स की इनवेस्टीगेटिव टीम एटा पहुंची है, तो आगरा में दूसरे शहरों की टीमों ने डेरा डाल रखा है। आगरा के लॉयर्स कॉलोनी स्थित शिवालिक रेजीडेंसी में करोड़ों रुपये की आलीशान कोठी पर छापामार कार्रवाई हुई है। सूत्र बताते हैं कि यहां से आयकर की टीम को बड़ी संख्या में बैंकों और प्लॉट से जुड़े दस्तावेज मिले हैं। आरोप लगे हैं कि राजेश्वर सिंह ने दिल्ली में आगरा कैनाल ऑफिस में तैनात रह कर अपने पद का दुरुपयोग कर बड़े पैमाने पर प्रापर्टी और अकूत संपत्ति बनाई थी। जिसकी जांच के बाद छापेमारी की गई है। बताया गया है कि राजेश्वर सिंह के निर्वतमान सपा सरकार के बड़े राजनेताओं से भी गहरे संबध हैं। नोटबंदी के दौरान जमा की गई रकम के साथ दस्तावेजों को भी आईटी की टीम खंगाल रही है।

income tax
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned