दरवेश यादव हत्याकांड: गोली मारने वाले मनीष शर्मा का जानिये क्या है हाल, यहां चल रहा इलाज

दरवेश यादव हत्याकांड: गोली मारने वाले मनीष शर्मा का जानिये क्या है हाल, यहां चल रहा इलाज
Up Bar Council Chief Murder Case

Dhirendra yadav | Publish: Jun, 18 2019 12:01:46 PM (IST) Agra, Agra, Uttar Pradesh, India

मनीष शर्मा को आइसीयू में वेंटीलेटर के सहारे रखा गया है।

आगरा। उत्तर प्रदेश बार काउंसिल की अध्यक्ष दरवेश यादव को गोली मारने वाले अधिवक्ता मनीष शर्मा जिदंगी और मौत के बीच जंग लड़ रहे हैं। आगरा के बाद अधिवक्ता को गुरुग्राम के अस्पताल में भर्ती कराया गया था। बताया गया है कि मनीष शर्मा की हालत में कोई खास सुधार नहीं हैं। वहीं अस्पताल से भी अभी कोई जवाब नहीं मिल रहा है। बताया ये गया है कि मनीष शर्मा को आइसीयू में वेंटीलेटर के सहारे रखा गया है। इलाज शुरू होने के बाद भी कोई सुधार नहीं नजर आया। उनका पल्स रेट भी ठीक नहीं है।

ये भी पढ़ें - 35 किलोमीटर की दूरी साथ में तय करने के लिये ये सुंदर लड़कियां लेती हैं महज 200 रुपये, इस तरह चल रहा ये बड़ा धंधा...

Up Bar Council Chief  <a href=murder Case" src="https://new-img.patrika.com/upload/2019/06/18/11_8-m_1_4700173_835x547-m_4724295-m.jpg">

स्थिर है हालत
अधिवक्ता मनीष शर्मा को गुरुग्राम के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां पांच दिन से मनीष शर्मा की हालत जस की तस बनी हुई है। सूत्रों की मानें तो मनीष शर्मा को अभी तक होश नहीं आया है। चिकित्सक उनके होश में आने का इंतजार कर रहे हैं, ताकि आगे इलाज यानि सर्जरी की जा सके। बताया ये भी गया है कि मनीष शर्मा अभी भी खतरे में हैं।

ये भी पढ़ें - इस तरीके से खाया आम, तो हो सकती है मौत, यकीन न हो तो पढ़ लें ये खबर

Up Bar Council Chief Murder Case

ये थी घटना
दीवानी परिसर में उत्तर प्रदेश बार काउंसिल की अध्यक्ष दरवेश यादव की गोली मारकर साथी अधिवक्ता मनीष शर्मा ने हत्या कर दी थी। इसके बाद मनीष शर्मा ने अपनी कनपटी में भी गोली मार आत्महत्या का प्रयास किया था। मनीष शर्मा की हालत सीरियस बनी हुई है। 13 जून को मनीष शर्मा को गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में पुलिस टीम उन्हें लेकर पहुंची। यहां डॉक्टरों की टीम ने पहले सर्जरी की बात कही थी लेकिन हालत ऐसी नहीं है कि सर्जरी की जा सके।

ये भी पढ़ें - पुलिस की इस प्लानिंग से अपहरणकर्ताओं के उड़े होश, अपहरण करने के बाद एलआईसी अधिकारी के पुत्र को रास्ते में भी छोड़ना पड़ गया..

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned