व्हाट्सएप, टिवटर और फेसबुक चलाने वालों के लिए जरूरी खबर, ऐसा किया तो सीधे होगी जेल

व्हाट्सएप, टिवटर और फेसबुक चलाने वालों के लिए जरूरी खबर, ऐसा किया तो सीधे होगी जेल

Abhishek Saxena | Publish: Sep, 10 2018 10:21:05 AM (IST) | Updated: Sep, 10 2018 10:23:16 AM (IST) Agra, Uttar Pradesh, India

आगरा पुलिस ने जारी की एडवायजरी, आईटी एक्ट सहित अन्य धाराओं में मुकदमा की चेतावनी

आगरा। सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट को लेकर आगरा पुलिस सतर्क है। पुलिस टीम द्वारा सोशल साइट्स, फेसबुक, व्हाट्सएप और टिवटर पर नजर रखी जा रही है। पुलिस ने सोशल मीडिया, फेसबुक, व्हाट्सएप और टिवटर पर पोस्ट डालने के लिए एडवाइजरी जारी की है। आगाह किया है कि नियम खिलाफ सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट और फ़ोटो डालने पर आईटी एक्ट और आईपीसी की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी। बता दें कि पिछले कुछ दिनों से सोशल मीडिया के जरिए अराजकता का माहौल पैदा करने की कोशिशें की जा रही हैं। आगरा में दो अप्रैल को भारत बंद के दौरान सोशल मीडिया पर कई प्रकार के संदेश वायरल हुए थे, जिसके बाद हिंसा और बवाल हुआ था। पुलिस की टीम अब सोशल मीडिया पर नजर रखे हुए हैं।

ये खबर भी पढ़ सकते हैं: भारत बंद: कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर के पंसदीदा क्षेत्र में बंद बेअसर

ये खबर भी पढ़ सकते हैं: SC ST Act: दलितों की पंचायत में लिया गया एक महत्वपूर्ण फैसला


अब लाइक करने वालों पर भी कार्रवाई

सोशल मीडिया पर अब तक बिना देखे और सोचे समझे लाइक और शेयर किया तो भारी पड़ सकता है। आगरा पुलिस ने एडवायजरी जारी करते हुए आगाह किया है कि सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट या धार्मिक, जातीय अथवा समाज में विद्वेष फैलाने वाले पोस्ट डालने वालों पर कार्रवाई की जाएगी साथ ही साथ लाइक और शेयर करने वालों पर भी कार्रवाई होगी। ग्रुप एडमिन भी इस प्रकार के किए गए किसी भी पोस्ट के लिए व्यक्तिगत रूप से जिम्मेदार होंगे और उनके विरुद्ध भी प्रथमतः कठोर कार्रवाई की जाएगी। अब तक लाइक और शेयर करने वालों पर कार्रवाई नहीं होती थी। लेकिन, आगरा पुलिस ने सख्त हिदायत दी है कि अब लाइक और शेयर करने वालों पर भी शिकंजा कसा जाएगा। ऐसे में सोशल मीडिया का इस्तेमाल बड़ी सावधानी से करना होगा।

ना डाले फोटो, पुलिस एडवायजरी जारी
आगरा पुलिस ने संदेश से जरिए एडवायजरी जारी करते हुए कहा है कि जो भी व्यक्ति सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट या धार्मिक, जातीय अथवा समाज में विद्वेष फैलाने वाले पोस्ट डालेगा, शेयर करेगा अथवा लाइक करेगा, उसके विरुद्ध आईटी एक्ट व आईपीसी की सुसंगत धाराओं के अन्तर्गत कठोर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। आगरा साइबर क्राइम सेल, मीडिया सेल व्हाट्सएप, फेसबुक, ट्विटर आदि सभी सोशल साइट्स पर अत्यंत सतर्क दृष्टि रखे हुए है। ग्रुप एडमिन भी इस प्रकार के किए गए किसी भी पोस्ट के लिए व्यक्तिगत रूप से जिम्मेदार होंगे और उनके विरुद्ध भी प्रथमतः कठोर कार्रवाई की जाएगी।

Ad Block is Banned