रोकना होगा भारत को विश्व में आत्महत्या की 'राजधानी' बनने से: डॉ राठौर

रोकना होगा भारत को विश्व में आत्महत्या की 'राजधानी' बनने से: डॉ राठौर

Amit Sharma | Publish: Sep, 10 2018 11:03:49 PM (IST) Agra, Uttar Pradesh, India

आत्महत्या करने वालों में 25 से 44 वर्ष के व्यक्तियों की संख्या 70% होती है। चूंकि भारत में युवा जनसंख्या अधिक है अतः भारत विश्व में आत्महत्या की राजधानी बनने की ओर बढ़ रहा है।

आगरा। अंतरराष्ट्रीय आत्महत्या रोकथाम संगठन एवं विश्व स्वास्थ्य संघठन के आह्वान पर हर वर्ष की भांति आज विश्व भर में 10 सितंबर को आत्महत्या रोकथाम दिवस आयोजित किया गया। उक्त शीर्ष संगठनों ने विश्व के मानसिक स्वास्थ्य के क्षेत्र में कार्यरत, प्रशासनिक, राजनैतिक, गैर-सरकारी संगठनों आदि को समाज में आत्महत्या की बढ़ती प्रवृत्ति/घटनाओं के रोकथाम हेतु जनजागृति के कार्यक्रम आयोजित करने की अपील की।

यह भी पढ़ें- IPS सुरेंद्र दास अौर उनकी पत्नी के बारे में सामने आ गई ये बातें, सुनकर उड़ जाएंगे आपके होश

dr ddinesh rathor

यह भी पढ़ें- खुदकुशी करने वाले आईपीएस सुरेंद्र दास का हरियाणा की लडक़ी से कनेक्शन

प्रभावी कदम उठाने जाने की आवश्यकता

इस दिवस को विश्व आत्महत्या रोकथाम दिवस तथा 10 सितंबर से प्रारंभ हो रहे सप्ताह को विश्व आत्महत्या सप्ताह के रोप में मनाया जाएगा। आज इसी के अंतर्गत आरोग्य भारती, आगरा महानगर द्वारा शहीद स्मारक पर जन जागरूकता के लिए प्रबुद्ध जनों की संगोष्ठी तत्पश्चात आत्महत्या के शिकार लोगों की आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन, दीप प्रज्वलित कर प्रार्थना की गई। इस कार्यक्रम में मानसिक स्वास्थ्य संस्थान के चिकित्सा अधीक्षक डा. दिनेश राठौर ने बताया कि प्रतिवर्ष विश्व में आठ लाख लोग आत्महत्या के कारण मृत्यु का शिकार बनते हैं। विश्व में प्रति 40 सेकंड में एक व्यक्ति आत्महत्या करता है। जिसमें 25 से 44 वर्ष के व्यक्तियों की संख्या 70% होती है। चूंकि भारत में युवा जनसंख्या अधिक है अतः भारत विश्व में आत्महत्या की राजधानी बनने की ओर बढ़ रहा है। इसकी रोकथाम के लिए हर स्तर से प्रभावी कदम उठाने जाने की आवश्यकता है।

यह भी पढ़ें- मृतक IPS अफसर के ससुर ने सुसाइड पर दिया बड़ा बयान, बेटी-दामाद के रिश्तों को लेकर कह दी ये बात

dr dinesh

यह भी पढ़ें- IPS पति की मौत के बाद सामने आई पत्नी रवीना की पहली प्रतिक्रिया, आंखों में आंसू लेकर कही ये बात, देखें वीडियो

ये रहे उपस्थित

कार्यक्रम में सत्यधर द्विवेदी, आर. के. सिंह राघव, बृज क्षेत्र संयोजक भाजपा नीति विषयक शोध विभाग, समाज सेवी राजीव चौहान, नितीन गुप्ता प्रांत कार्यकारिणी क्रीड़ा भारती आदि ने अपने विचार व्यक्त किए।

Ad Block is Banned