PATRIKA BIRD FAIR : अजमेर में एक बार फिर पक्षियों का महाकुम्भ

राजस्थान पत्रिका का चौथा अंतरराष्ट्रीय बर्ड फेयर 17 से, 3 दिन चलेगा आयोजन, कई कार्यक्रम-प्रतियोगिता होंगी

अजमेर.

फिर एक बार। ऐतिहासिक आनासागर झील की खूबसूरती होगी। देसी-विदेशी पक्षियों की अठखेलियां और कलरव और आप-हम। मौका होगा राजस्थान पत्रिका के सामाजिक सरोकार के तहत आयोजित किए जाने वाले बर्ड फेयर का, जिसकी साक्षी बनेगी हमारी स्मार्टसिटी।

17 जनवरी से तीन दिन चलने वाले इस बर्ड फेयर में हमें झील में प्रवासी परिन्दों का कलरव देखने को मिलेगा तो उन्हें जानने और समझने का मौका भी। राजस्थान पत्रिका की ओर से लगातार चौथे साल अंतरराष्ट्रीय बर्ड फेयर का आयोजन किया जा रहा है।

जिला प्रशासन, नगर निगम और अजमेर विकास प्राधिकरण के सहयोग से आयोजित यह बर्ड फेयर तीन दिन चलेगा। इसमें जहां प्रकृति से जुडऩे का मौका मिलेगा तो कई कार्यक्रम और प्रतियोगिताओं में भागीदारी निभाकर पुरस्कार जीतने का अवसर भी।

READ MORE : आप भी देखें मकर संक्रांति पर सूर्यास्त की खूबसूरत तस्वीरें

आनासागर झील किनारे विभिन्न स्थानों पर आयोजित होने वाले इस बर्ड फेयर की रूपरेखा तैयार कर ली गई है। आयोजन के लिए जिला कलक्टर विश्वमोहन शर्मा ने अतिरिक्त कलक्टर (शहर) सुरेश सिंधी को जिम्मेदारी दी है।

महापौर धर्मेन्द्र गहलोत ने नगर निगम अधिकारियों को सभी तैयारियां पूरी करने के निर्देश दिए हैं। एडीए के सचिव किशोर कुमार ने एडीए अधिकारियों को कार्यक्रम में सहयोग के लिए कहा है। एडीएम सिटी सुरेश सिंधी ने कार्यक्रम स्थल पर अधिकारियों के साथ व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

READ MORE : भ्रमजाल : कौन जाने, अजमेर जिले में कितनी ग्राम पंचायत

पहले दिन के मुख्य आकर्षण

बर्ड फेयर के पहले दिन 17 जनवरी शुक्रवार को ऐतिहासिक बारादरी पर सुबह 10 बजे उद्घाटन समारोह होगा। इसमें जनप्रतिनिधि व प्रशासनिक अधिकारी मौजूद रहेंगे।

उद्घाटन समारोह के दौरान ही विद्यार्थियों के लिए चित्रकला प्रतियोगिता होगी। विजेताओं को 19 जनवरी को होने वाले समापन समारोह में पुरस्कृत किया जाएगा।

उद्घाटन समारोह स्थल पर फोटो प्रदर्शनी लगाई जाएगी। पक्षियों के जानकार और नियमित बर्ड वॉचिंग करने वाले विशेषज्ञ इनकी प्रजाति, रंगरूप, व्यवहार और गतिविधियों की जानकारी भी देंगे।

शाम 5 बजे आनासागर झील की सागर विहार पाल पर बर्ड वॉचिंग कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। इस दौरान प्रवासी पक्षियों की उड़ान, झुंड के रूप में पक्षियों का झील में उतरना, जल क्रीड़ा और पानी में मछलियां आदि भोजन तलाशने जैसी गतिविधियां देखी जा सकेंगी।

dinesh sharma Desk
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned