RPSC: चार सदस्यों के पद रिक्त, नियुक्ति का है इंतजार

raktim tiwari

Updated: 21 Oct 2019, 08:15:00 AM (IST)

Ajmer, Ajmer, Rajasthan, India

रक्तिम तिवारी/अजमेर. राजस्थान लोक सेवा आयोग (rpsc ajmer) में सदस्यों के चार पद खाली हैं। इसके चलते कामकाज का अतिरिक्त दायित्व अध्यक्ष सहित तीन सदस्यों पर बढ़ गया है। नए सदस्यों की नियुक्ति को लेकर आयोग की निगाहें सरकार पर टिकी हैं।

read more: Deepawali Festival : दीपावली फेस्टिवल पर इस बार युवाओं के लिए लाइट वेट

वर्ष 1949 में राजस्थान लोक सेवा आयोग सेवा का गठन किया गया था। इसका कार्य निर्धारण राजस्थान लोक सेवा आयोग नियम एवं शर्तें 1963 , राजस्थान लोक सेवा आयोग ( शर्तें एवं प्रक्रिया का मान्यकरण अध्यादेश -1975, नियम-1976) के तहत हुआ है। आयोग में शुरुआत से अध्यक्ष सहित पांच सदस्य होते थे। कांग्रेस सरकार (congress govt) ने अपने पिछले कार्यकाल (2013) में दो सदस्यों की संख्या बढ़ा दी। इससे आयोग सात सदस्यीय हो गया है।

read more: Governor Visit : राज्यपाल कलराज मिश्र आएंगे 30 को अजमेर

तीन सदस्य हो चुके सेवानिवृत्त
नियमानुसार आयोग में सदस्यों (rpsc members)का कार्यकाल 62 साल अथवा छह वर्ष की अवधि पूरी होने तक ही रहता है। आयोग के सदस्य रहे डॉ. आर. डी. सैनी का कार्यकाल 13 अप्रेल 2019 को खत्म हुआ था। उनके बाद 17 जून को डॉ. के. आर. बगडिय़ा और सुरजीत लाल मीना का कार्यकाल खत्म हुआ। अब आयोग में अध्यक्ष दीपक उप्रेती (deepak upreti) के अलावा सदस्य डॉ. शिवसिंह राठौड़, राजकुमारी गुर्जर और रामूराम राइका ही रह गए हैं।

read more: Railway News : पुणे-जयपुर के बीच चलेगी स्पेशल ट्रेन

बढ़ा कामकाज का बोझ
सदस्यों के रिक्त पद होने से आयोग की परेशानी बढ़ी हुई है। सदस्यों के अलावा अध्यक्ष दीपक उप्रेती को भी सहायक कृषि अधिकारी भर्ती के साक्षात्कार बोर्ड (interview board) में लगातार बैठना पड़ा। इसके अलावा आयोग के पास पुलिस, राजस्व मंडल, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, खान, उच्च शिक्षा सहित कई महकमों की डीपीसी का कामकाज रहता है। यह तमाम कार्य अध्यक्ष और सदस्य ही अंजाम देते हैं।

read more: Big issue: दूसरे शहरों का आसरा, स्पेशल कोर्स पढऩे का नहीं विकल्प

चार सदस्यों का इंतजार
आयोग को मौजूदा वक्त चार सदस्यों (four members)का इंतजार है। अध्यक्ष उप्रेती ने पिछले दिनों राज्यपाल कलराज मिश्र (kalraj mishra) और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) से चर्चा की है। वैसे आयोग पिछले आठ साल से छह सदस्यीय ही है। यहां सातवें सदस्यों की नियुक्ति कभी नहीं हुई है। इस दौरान पांच साल भाजपा का राज रहा। अब कांग्रेस फिर सत्ता में लौटी है।

read more: Elevated road : यहां एलिवेटेड रोड निर्माण में नहीं हो रही नियमों की पालना

यह होनी हैं अहम परीक्षाएं
प्राध्यापक (माध्यमिक शिक्षा) प्रतियोगी परीक्षा-2018, सहायक वन संरक्षक एवं रेंज अधिकारी ग्रेड प्रथम, परीक्षा-2018 फिजियोथेरेपिस्ट स्क्रीनिंग टेस्ट (चिक्तिसा शिक्षा विभाग) का आयोजन होगा। इसके अलावा सरकार और कार्मिक विभाग से साल 2020 की अहम भर्तियां भी मिलनी हैं।

read more: Pushkar Fair 2019 : पुष्कर आए तो कपड़े का थैला साथ लाएं

फैक्ट फाइल..
1 अध्यक्ष
7 सदस्य होते हैं आयोग में
1949 में हुआ है गठन

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned