ढाई साल की बिटिया की निर्मम हत्या पर भाजपा सांसद ने दिया ऐसा बयान कि फिर से गर्माने लगा शांत होता माहौल...

ढाई साल की बिटिया की निर्मम हत्या पर भाजपा सांसद ने दिया ऐसा बयान कि फिर से गर्माने लगा शांत होता माहौल...
BJP MP satish gautam

suchita mishra | Updated: 14 Jun 2019, 12:16:09 PM (IST) Aligarh, Aligarh, Uttar Pradesh, India

भाजपा सासंद सतीश गौतम ने दूसरे समुदाय को लेकर ऐसी बात कही है कि टप्पल में शांत हो रहा माहौल फिर से गर्माने लगा है।

अलीगढ़। टप्पल में ढाई साल की मासूम बिटिया की बर्बरता से हत्या की घटना के बाद से इलाके का माहौल अब जाकर थोड़ा थोड़ा शांत होना शुरू हुआ था कि भाजपा सांसद ने अपने बयान से इसे फिर से गर्मा दिया। बच्ची के हत्यारों को लेकर भाजपा सांसद सतीश गौतम ने कहा कि हत्यारों को ऐसी सजा मिलेगी कि ये समुदाय कहीं भी ऐसा काम नहीं कर पाएगा। अलीगढ़ में तो कभी नहीं। भाजपा सांसद के इस बयान को पूर्व विधायक जमीर उल्लाह ने माहौल खराब करने वाला बयान बताया है।

यह भी पढ़ें
मासूम बच्ची की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट देख आपका कलेजा कांप उठेगा, बर्बरता की पराकाष्ठा पढ़ने के लिए जुटानी पड़ेगी हिम्मत

बता दें कि बुधवार को बच्ची के परिवारीजनों ने शुद्धि यज्ञ किया था। इस दौरान सांसद सतीश गौतम भी वहां पहुंचे थे। यज्ञ में आहुति देने के बाद सांसद ने मीडिया से बातचीत की और कहा कि बच्ची की हत्यारों को इस मामले में मिली सजा ऐसी नजीर बनेगी कि टप्पल और अलीगढ़ ही क्या, ये समुदाय विशेष कहीं भी ऐसी घटना को अंजाम देने के बारे में नहीं सोचेगा। गुरुवार को सांसद ने दोबारा इस बात को दोहराया।

यह भी पढ़ें
अलीगढ़ हत्या: स्वरा भास्कर ने ढाई साल बच्ची की हत्या पर जताया शोक तो फूट पड़ा यूजर्स का गुस्सा, जमकर सुनायी खरी-खोटी

पूर्व विधायक जमीर उल्लाह ने सांसद का इस बयान को निंदनीय बताया है। उनका कहना है कि सांसद ने मुसलमानों का अपमान किया है। वे राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, लोकसभा स्पीकर व राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग को पत्र लिखकर उनकी सदस्यता खत्म करने की मांग करेंगे।

बता दें कि टप्पल में 30 मई को बच्ची खेलते हुए लापता हो गई थी। 2 जून को बच्ची की लाश कूड़े के ढेर में मिली। शव को कुत्तों का झुंड नोंच रहा था। तेज दुर्गंध आ रही थी। बच्ची की आंखें बाहर निकली हुई थीं और हाथ शरीर से अलग पड़ा था। मासूम की बरामदगी में हुई देरी की वजह से उसके परिजनों ने अन्य लोगों के साथ मिलकर स्थानीय प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन किया। इसके बाद 4 जून को पुलिस ने जाहिद और असलम नामक दो आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा। बच्ची के शव को देखकर पहली बार में लगा कि उसके साथ दरिंदगी हुई है। हालांकि पुलिस का कहना है कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में बच्ची कें साथ रेप की पुष्टि नहीं हुई है। महज दस हजार रुपए की खातिर इस घटना को अंजाम दिया गया। फिलहाल पुलिस ने बच्ची के चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned