Mahant Narendra Giri Death : आनंद गिरि के खिलाफ एफआईआर, छह हिरासत में, महंत नरेंद्र गिरि का कल होगा पोस्टमार्टम

Mahant Narendra Giri Death- प्रयागराज के जार्ज टाउन थाने में आनंद गिरि के खिलाफ धारा 306 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है

By: Hariom Dwivedi

Updated: 21 Sep 2021, 08:01 PM IST

लखनऊ. Mahant Narendra Giri Death- अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि के खुदकुशी मामले में उनके प्रमुख शिष्य व कथित उत्तराधिकारी आनंदगिरि के खिलाफ एफआआईआर दर्ज की गई है। जार्ज टाउन थाने में उनके खिलाफ धारा 306 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। एफआईआर में आद्या तिवारी और संदीप तिवारी का नाम नहीं है। सुसाइड नोट में इन दोनों के नाम का भी जिक्र था। सूत्रों के मुताबिक, पुलिस ने करीब आधा दर्जन से अधिक लोगों को हिरासत लिया है, जिनसे पूछताछ की जा रही है। महंत नरेंद्र गिरि के गनर अजय कुमार सिंह से भी पूछताछ की जाएगी। फिलहाल मौत से जुड़े मामले की जांच के लिए एक टीम गठित की गई है। टीम को खुद एडीजी प्रेम प्रकाश और मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. एसपी सिंह मॉनिटरिंग कर रहे हैं।

मंगलवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने प्रयागराज के बाघम्बरी मठ स्थित महंत के आवास पर पहुंचकर उन्हें श्रद्धांजलि दी। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि हाईकोर्ट के सिटिंग जज से पूरे मामले की जांच कराये जाने की मांग की। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मामले की जांच जारी है इसलिए बेवजह की बयानबाजी से बचना चाहिए। दोषियों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा।

यह भी पढ़ें : चेलों की बेवफाई से परेशान होकर अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष ने लगाई फांसी

सीबीआइ जांच कराने की तैयारी
महंत नरेंद्र गिरि की मौत का मामला गरमा गया है। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के उपाध्यक्ष देवेंद्र सिंह ने मामले की सीबीआइ जांच के लिए इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की है। उधर, इस रहस्य से पर्दा हटाने के लिए योगी आदित्यनाथ सरकार मामले की सीबीआइ जांच के लिए गृहमंत्रालय को पत्र लिखने की तैयारी में है।

पंचक के कारण नहीं हो सका पोस्टमार्टम
मंगलवार को पंचक की वजह से अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी का पोस्टमार्टम नहीं हो सका। अब बुधवार को तीन डॉक्टरों के पैनल से पोस्टमार्टम कराया जाएगा। पोस्टमार्टम से पहले शव पर लेप न लगाने का भी निर्णय लिया गया है, क्योंकि केमिकल लगाने से शरीर की स्थिति में बदलाव हो सकता है। पोस्टमार्टम एडीजी, मण्डलायुक्त, आईजी और डीआइजी समेत पांच सदस्यीय टीम की निगरानी में होगा। पोस्टमार्टम के बाद बुधवार को ही अखाड़ा परिषद अध्‍यक्ष को श्रीमठ बाघम्‍बरी गद्दी में समाधि दी जाएगी। मंगलवार को उनका पार्थिव शरीर जनता दर्शन के लिए रखा गया।

यह भी पढ़ें : बमुश्किल दस्तखत करने वाले महंत ने कैसे लिखा 12 पन्ने का सुसाइड नोट? मौत की जांच सीबीआइ से कराने की तैयारी

Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned