scriptनशा मुक्ति के लिए ली शपथ, नशे के बताये दुष्प्रभाव   | Patrika News
अलवर

नशा मुक्ति के लिए ली शपथ, नशे के बताये दुष्प्रभाव  

राजगढ़ पीजी महाविद्यालय में राष्ट्रीय सेवा योजना के संयुक्त तत्वावधान में नशामुक्ति पर शपथ एवं कार्यशाला का आयोजन किया गया।

अलवरJun 27, 2024 / 05:36 pm

Rajendra Banjara

राजगढ़ पीजी महाविद्यालय में राष्ट्रीय सेवा योजना के संयुक्त तत्वावधान में नशामुक्ति पर शपथ एवं कार्यशाला का आयोजन किया गया। महाविद्यालय प्राचार्य डॉ. के. एल. मीना ने बताया कि नशा एक सामाजिक बुराई है। नशा एक ऐसी बुराई है जिससे इंसान का अनमोल जीवन समय से पहले ही मौत का शिकार हो जाता है।

fgddfgdfg

नशे के लिए समाज में शराब, गांजा, अफीम जर्दा, गुटखा, तम्बाकू और धूमपान (बीडी, सिगरेट, हुक्का, चिलम) सहित चरस स्मैक ब्राउन शुगर जैसे घातक मादक पदार्थों का उपयोग किया जा रहा है। इन जहरीले और नशीले पदाथों के सेवन से मानसिक और आर्थिक हानि पहुंचाने के साथ ही इसमें सामाजिक वातावरण भी प्रदूषित होता है।

tdfgdfgdfg

डॉ. आचंल मीना ने अपने उद्बोदन में बताया कि कॉलेज में जो नए छात्र प्रवेश ले रहे है वे अपने आवेदन के साथ नशा नही करने का संकल्प पत्र भी दे। इस अवसर पर महाविद्यालय के डॉ. अशोक मीना, डॉ. जगफूल मीना, श्री पी.एम मीना, डॉ. अनिल कुमार शर्मा, कपिल देव कुण्डारा, डॉ. आंचल मीना आदि संकाय सदस्य, विद्यार्थी एवं नरेगा योजना में कार्य करने वाली श्रमिक महिलाओं ने भी नशा छोड़ने की शपथ ली।

Hindi News/ Alwar / नशा मुक्ति के लिए ली शपथ, नशे के बताये दुष्प्रभाव  

ट्रेंडिंग वीडियो