Video : 32 करोड़ का आलीशान बंगला बनवा रहा था कोल व्यवसायी, भीतर है 2 स्वीमिंग पुल भी, आईटी की नजर में चढ़ा

Video : 32 करोड़ का आलीशान बंगला बनवा रहा था कोल व्यवसायी, भीतर है 2 स्वीमिंग पुल भी, आईटी की नजर में चढ़ा

rampravesh vishwakarma | Publish: Feb, 15 2018 09:34:30 PM (IST) Ambikapur, Chhattisgarh, India

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने कोल व्यवसायी व उसके दोस्त के आधा दर्जन ठिकानों पर मारा छापा, अब तक करोड़ों की मिली संपत्ति

अंबिकापुर. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की विजिलेंस टीम ने अंबिकापुर में गुरुवार को कोल व्यवसायी व उसके दोस्त के आधा दर्जन ठिकानों पर छापा मारा। बताया जा रहा है कि कोल व्यवसायी 32 करोड़ रुपए का आलीशान बंगला बनवा रहा था। बंगले के भीतर 2 स्वीमिंग पुल सहित कई महंगी चीजें हैं। आलीशान बंगला ही इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की नजर में चढ़ गया था।

छापा मारने पहुंची टीम में 50 से भी अधिक अधिकारी-कर्मचारी शामिल हैं। छापा कार्रवाई के दौरान विभाग के कर्मचारी व अधिकारियों द्वारा किसी भी प्रकार की कोई जानकारी बाहर आने नहीं दी गई। दिनभर विभाग की इस छापामार कार्रवाई की चर्चा शहर में बनी रही।

 

अंबिकापुर के बड़े कोल व्यवसायी संजय मित्तल व उसके पाटर्नर विनोद अग्रवाल के घर में गुरुवार की सुबह इनकम टैक्स के अधिकारियों ने दबिश दी। बताया जा रहा है कि कोल व्यवसायी संजय मित्तल अग्रसेन वार्ड में एक विशाल मकान का निर्माण करा रहा था, जो ३२ करोड़ रुपए से अधिक का है। इसकी वजह से ही वे आयकर विभाग के नजर में आए थे।

नोटबंदी के दौरान भी उनके द्वारा जो रकम बैंक खातों में जमा की गई थी, उसके अनुसार कोई भी जानकारी विभाग के समक्ष सार्वजनिक नहीं की गई थी। इसके पूर्व विभाग द्वारा उन्हें नोटिस भी दिया गया था। लेकिन कोई पहल नहीं होने से गुरुवार को आयकर की विजिलेंस रायपुरबिलासपुर की टीम ने सबसे पहले उनके घर में छापा मारा।

जानकारी के अनुसार देर रात तक विभाग के कर्मचारी व अधिकारी दस्तावेजों को खंगालने में जुटे हुए थे। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अभी यही कार्रवाई दो दिनों तक चलने की उम्मीद है।


पाटर्नर के घर भी हुई कार्रवाई
संजय मित्तल के मित्र व कारोबार में साझेदार कुंडला सिटी निवासी विनोद अग्रवाल के घर पर भी आयकर विभाग ने छापा मारा। एक ही समय पर दोनों जगह कार्रवाई की जा रही है।


जमीन का भी करते हैं कारोबार
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार संजय मित्तल और विनोद अग्रवाल दोनों जमीन के कारोबार में भी लिप्त हैं। जमीन की खरीद फरोख्त में गड़बड़ी के भी कई मामले विभिन्न न्यायालयोंं में विचाराधीन है।

Ad Block is Banned