एक और आरक्षक की पिटाई, पहले कुत्ते को घर के सामने शौच कराया, मना किया तो युवकों ने फोड़ा सिर

Constable beaten: ड्यूटी के लिए सुबह घर से निकल रहा था आरक्षक (Constable), घर के सामने 2 युवकों को कुत्ते (Dog) को शौच कराते देख किया था मना, युवकों ने साथियों के साथ मिलकर पीटा

By: rampravesh vishwakarma

Updated: 05 Mar 2021, 05:13 PM IST

अंबिकापुर. लगता है अंबिकापुर शहर में लोगों के बीच अब पुलिस का खौफ नहीं रहा। यही कारण है कि आए दिन पुलिस पर हमले (Attack on police) हो रहे हैं। 7 दिन के भीतर कोतवाली में पदस्थ 2 आरक्षकों की पिटाई हो चुकी है।

ताजा मामला शुक्रवार सुबह का है। वर्दी पहनकर आरक्षक ड्यूटी करने घर से निकल रहा था, इसी बीच घर के सामने पड़ोस के 2 युवक कुत्ते को शौच करा रहे थे। यह देख आरक्षक ने मना किया तो युवकों ने अपने साथियों को वहां बुला लिया और घर में घुसकर उसकी पिटाई (Constable beaten) कर दी।

इस दौरान उन्होंने आरक्षक का सिर भी फोड़ दिया। आरक्षक की शिकायत पर गांधीनगर पुलिस ने युवकों के खिलाफ अपराध दर्ज कर लिया है।


शहर के गोधनपुर निवासी शम्मी साकेत तिवारी कोतवाली में आरक्षक है। इन दिनों वह डायल 112 में ड्यूटी कर रहा है। शुक्रवार की सुबह करीब 7.30 बजे वह वर्दी पहनकर घर से ड्यूटी के लिए जा रहा था। वह बाहर निकला ही था कि घर के सामने पड़ोस के 2 युवक रानू सिंह व प्रिंस सिंह अपने कुत्ते को शौच करा रहे थे।

यह देख आरक्षक ने दोनों को मना किया। इस दौरान थोड़ा विवाद हुआ। इसी बीच युवकों ने अपने अन्य साथियों को वहां बुला लिया, फिर सभी ने घर में घुसकर आरक्षक की पिटाई (Constable beaten) शुरु कर दी। मारपीट के दौरान युवकों ने आरक्षक का सिर भी फोड़ दिया। वारदात को अंजाम देने के बाद युवक वहां से फरार हो गए।


थाने में दर्ज कराई रिपोर्ट
मारपीट में घायल आरक्षक (Constable) ने मामले की शिकायत गांधीनगर थाने में दर्ज कराई है। रिपोर्ट पर पुलिस ने आरोपी रानू सिंह, प्रिंस सिंह समेत अन्य युवकों के खिलाफ धारा 452, 294, 506, 323 व 30 के तहत अपराध दर्ज कर उनकी खोजबीन शुरु कर दी है।


सप्ताहभर में दूसरी घटना
अंबिकापुर कोतवाली में पदस्थ आरक्षक से मारपीट की सप्ताहभर में यह दूसरी घटना है। इससे पूर्व 27 फरवरी की रात कांग्रेस पार्षद समेत 9 युवकों ने कोतवाली परिसर में घुसकर आरक्षक सतेंद्र दुबे की पिटाई की थी।

इस मामले में देर से अपराध दर्ज करने को लेकर पुलिस (Surguja Police) की काफी किरकिरी भी हुई थी। यह मामला अभी शांत भी नहीं हुआ है कि एक और आरक्षक पिट गया।

Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned