कोराना पॉजिटिव पिता की मौत के बाद बेटे ने अंतिम संस्कार से किया इनकार, मृत पिता का चेहरा भी नहीं देखा

Covid-19: डॉक्टरों (Doctors) की लाख समझाइश के बाद भी नहीं माना संवेदनहीन (Senceless) हो चुका पुत्र, अंत में प्रशासन द्वारा कराया गया अंतिम संस्कार (Funeral), एक और वृद्ध ने कोविड अस्पताल (Covid hospital) में तोड़ा दम, मृतकों की संख्या पहुंची 76

By: rampravesh vishwakarma

Published: 11 Dec 2020, 11:30 PM IST

अंबिकापुर. कोरोना (Covid-19) का नाम सुनते ही अपना हो या पराया लोग डरना शुरू कर देते हैं। लोग नजदीक जाने से इंकार करते हैं। मेडिकल कॉलेज अस्पताल स्थिति कोविड सेंटर में शुक्रवार को कोरोना पीडि़त दो वृद्धों की मौत हो गई। इसमें से एक के बेटे ने पिता के शव का अंतिम संस्कार (Funeral) करने से भी इंकार कर दिया।

अस्पताल प्रशासन द्वारा बेटे को लाख समझाने के बाद भी वह नहीं माना, जबकि अस्पताल प्रबंधन द्वारा उसे बताया गया कि बॉडी को पूरे सुरक्षित आपको सौंपा जाएगा और आप उसका अंतिम संस्कार सुरक्षित तरीके से कर सकते हैं। अंत में अस्पताल प्रशासन ने इसकी जानकारी एसडीएम (SDM) को दी। इसके बाद प्रशासन की निगरानी में शव का अंतिम संस्कार कराया गया।


शहर के महामायापारा निवासी 60 वर्षीय पुरूष की तबियत खराब होने पर २९ नवंबर को मेडिकल कॉलेज अस्पताल लाया गया था। यहां चिकित्सकों ने कोरोना संदिग्ध मानते हुए उसे आइसोलेशन में रखा था। कोरोना जांच के बाद रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर उसे कोविड सेंटर में भर्ती कराया गया।

उसे सांस लेने में काफी परेशानी थी। यहां इलाज के दौरान शुक्रवार की सुबह मौत हो गई। इसकी जानकारी डॉक्टर द्वारा मृतक के पुत्र को दी गई। इसके बाद पुत्र ने शव ले जाने व अंतिम संस्कार करने से ही इंकार (Refused) कर दिया। उसका कहना था कि कहीं परिवार के सभी सदस्य कोरोना पॉजिटिव न हो जाएं।

वह इतना संवेदनहीन हो गया कि उसने मृत पिता का चेहरा (Face) भी नहीं देखा और न ही नजदीक गया। अस्पताल के डॉक्टरों द्वारा समझाने के बाद भी उसने शव ले जाने से मना कर दिया।

डॉक्टरों द्वारा समझाया गया कि बॉडी को पूरी सुरक्षित तरीके से दिया जाएगा और परिवार वाले सुरक्षित तरीके से अंतिम संस्कार कर सकते हैं। इसके बावजूद वह नहीं माना।


प्रशासन द्वारा कराया गया अंतिम संस्कार
कोरोना से मृत वृद्ध का अंतिम संस्कार करने से पुत्र द्वारा इंकार करने पर अस्पताल प्रशासन ने इसकी जानकारी एसडीएम को दी। इसके बाद जिला प्रशासनकी निगरानी में शव का अंतिम संस्कार कराया गया। इससे पूर्व भी एक मामला सामने आ चुका है।


इधर 75 वर्षीय वृद्ध की भी मौत
शहर के सुभाषनगर निवासी 75 वर्षीय वृद्ध का एनएचएमएम हॉस्पिटल रायपुर में इलाज चल रहा था। यहां से डिस्चार्ज होने पर उसे वापस लाया गया था। शुक्रवार की सुबह 5.30 बजे अचानक तबियत खराब होने पर उसे कोविड सेंटर अंबिकापुर लाया गया। सांस लेने में परेशानी होने पर उसे आईसीयू में भर्ती कराया गया था। यहां इलाज के दौरान दोपहर एक बजे उसकी मौत हो गई।


अब तक 76 की जा चुकी है जान
मेडिकल कॉलज के कोविड अस्पताल में कोरोना (Corona) से अब तक 76 कोरोना संक्रमितों की मौत हो चुकी है। इसमें सरगुजा के 45, सूरजपुर के 10 बलरामपुर के 4, कोरिया के 15 व जशपुर के 2 कोरोना संक्रमितों की मौत इलाज के दौरान कोविड अस्पताल में हो चुकी है।

Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned