Video: सीईओ और तहसीलदार पर भडक़ीं सांसद रेणुका, कहा- अंधेरी कोठरी में ले जाकर बेल्ट से ठोंकना मुझे भी आता है

Beaten in quarantine center case: क्वारेंटाइन सेंटर में सीईओ और तहसीलदार द्वारा युवक से मारपीट का मामला, युवक से मिलने पहुंचीं थीं सांसद रेणुका सिंह, युवक ने कहा- सीईओ ने बाल पकडक़र मुझे मारा, लात मारी तो ईंट पर गिरा

By: rampravesh vishwakarma

Published: 23 May 2020, 07:10 PM IST

अंबिकापुर. बलरामपुर के क्वारेंटाइन सेंटर में दिल्ली से लौटे युवक की जनपद सीईओ और तहसीलदार द्वारा पिटाई के मामले ने तूल पकड़ लिया है। युवक से मिलने केंद्रीय राज्य मंत्री व सरगुजा सांसद रेणुका सिंह डौरा गांव के क्वारेंंटाइन सेंटर में पहुंची थी। युवक के शरीर पर चोट देख वे भडक़ गईं।

उन्होंने आक्रामक लहजे में सीईओ और तहसीलदार को धमकी देते हुए कहा कि अंधेरी कोठरी में ले जाकर बेल्ट से ठोकना मुझे भी आता है। उन्होंने युवक की पिटाई मामले की जांच करने के निर्देश कलक्टर व एसपी को दिए हैं।


बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के बलरामपुर क्वारेंटाइन सेंटर में दूसरे राज्यों से आए कई लोगों को ठहराया गया है। 15 मई को दिल्ली से लौटे बलरामपुर निवासी दिलीप गुप्ता पिता चंद्रिका गुप्ता को भी क्वारेंटाइन किया गया था। युवक ने वहां की अव्यवस्था का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया था।

इसकी सूचना मिलते ही 16 मई की रात करीब 11 बजे तहसीलदार शबाब खान व जनपद सीईओ विनय गुप्ता क्वारेंटाइन सेंटर में पहुंचे। यहां उन्होंने दिलीप गुप्ता की पिटाई कर दी और मोबाइल भी लूट ली थी। यही नहीं, युवक को बलरामपुर क्वारेंटाइन सेंटर से निकालकर ग्राम डौरा के क्वारेंटाइन सेंटर में शिफ्ट कर दिया गया।

17 मई को युवक के पिता ने इसकी शिकायत बलरामपुर थाने में की लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई। इसके बाद दिलीप के पिता ने 20 मई को मामले की शिकायत कमिश्रर व आईजी से की थी।

वहीं राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम ने भी छत्तीसगढ़ के मुख्य सचिव को पत्र लिखकर सीईओ व तहसीलदार के खिलाफ कार्रवाई करने की बात कही थी।


युवक से मिलने पहुंची सांसद रेणुका
क्वारेंटाइन सेंटर में युवक की पिटाई की खबर मिलते ही 22 मई को सरगुजा सांसद रेणुका सिंह युवक से मिलने डौरा क्वारेंटाइन सेंटर पहुंचीं। यहां युवक ने बताया कि बलरामपुर क्वारेंटाइन सेंटर में खाने-पीने, नहाने की अव्यवस्था व गंदगी को लेकर उसने वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल किया था।

इसके बाद सीईओ और तहसीलदार ने रात में पहुंचकर उसे गालियां दी। वहीं सीईओ विनय गुप्ता ने बाल पकडक़र पिटाई की तथा मोबाइल लूटने के लिए लात मारी तो वह ईंट पर गिर गया। उसने अपनी कमर के ऊपर लगी चोट भी सांसद को दिखाई।


सीईओ-तहसीलदार पर भडक़ीं सांसद
युवक के शरीर पर चोट देखकर सांसद रेणुका सिंह भडक़ गईं। उन्होंने तहसीलदार और सीईओ को कड़ी फटकार लगाई। आक्रामक तेवर में उन्होंने कहा कि किसी भी अधिकारी की दादागिरी नहीं चलेगी, हम सरकार में नहीं हैं ये मत कोई सोचे। उन्होंने कहा कि 15 साल तक हमने भी यहां शासन किया है। भगवाधारी कार्यकर्ताओं को कमजोर मत समझना।

तहसील और जनपद में बैठकर भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ भेदभाव करना छोड़ दो। उन्होंने कहा कि अंधेरी कोठरी में ले जाकर बेल्ट से ठोकना मुझे भी आता है। मैं बस सांसद रहती तो पूरे क्षेत्र में घूमती लेकिन भारत सरकार की मंत्री हूं, इस कारण दिल्ली में रहना होता है, लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि यहां की जनता और कार्यकर्ता निरीह हैं।

उन्होंने कहा कि सरकार पूरा पैसा लगाने को तैयार है कि जोन को कोरोना से बचाना है लेकिन आपलोग मनमानी करने पर तूले हो।


कलक्टर व एसपी को जांच करने के दिए निर्देश
युवक की पिटाई के मामले में सांसद रेणुका सिंह ने बलरामपुर कलक्टर व एसपी को जांच करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि जांच के बाद दोषियों पर कार्रवाई करें।

COVID-19 COVID-19 virus
Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned