दक्षिण अफ्रीकी देशों में इडाई चक्रवात ने मचाई तबाही, यूएन ने जताई संवेदना

  • यूएन महासचिव एंटोनियो गुटेरेस के उप प्रवक्ता फरहान हक ने इडाई चक्रवात से हुए विनाश पर एक गंभीर रिपोर्ट दी है।
  • दक्षिणी अफ्रीकी देशों में आई इडाई चक्रवात सबसे भयावाह प्राकृतिक आपदाओं में से एक: हक
  • इस चक्रवात में कम से कम 360 लोगों की चली गई जान।

By: Anil Kumar

Updated: 23 Mar 2019, 11:16 AM IST

संयुक्त राष्ट्र। दक्षिण अफ्रीका में हाल में ही आया चक्रवात इडाई सबसे भयावाह प्राकृतिक आपदाओं में से एक है। दरअसल यह बता संयुक्त राष्ट्र के प्रवक्ता फरहान हक ने कहा है। उन्होंने कहा है कि हाल के वर्षो में जहां तक उनकी स्मृति जाती है, उसके हिसाब से चक्रवात इडाई दक्षिणी अफ्रीकी देशों में आई सबसे भयावह प्राकृतिक आपदाओं में से है। इस तूफान ने कम से कम 360 लोगों की जान ली है। स्थानीय मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस के उप प्रवक्ता फरहान हक ने चक्रवात की वजह से हुए विनाश पर एक गंभीर रिपोर्ट दी है। चक्रवात ने मलावी, मोजाम्बिक व जिम्बाब्वे के हिस्सों को प्रभावित किया है।

मोजाम्बिक: चक्रवात के बाद सामने आई बर्बादी की तस्वीर, 1000 से अधिक लोगों के मरने की आशंका

हमें काफी कुछ करने की जरूरत है: हक

बता दें कि फरहान हक ने आगे कहा है कि यह इडाई चक्रवात दक्षिणी अफ्रीका में आई सबसे भयावह राष्ट्रीय आपदाओं में एक हो सकता है और हमें काफी कुछ करने की जरूरत होगी। संयुक्त राष्ट्र कार्यालय के कॉआर्डिनेशन ऑफ ह्यूमेनेटेरियन अफेयर्स ने कहा कि मलावी में करीब 10 लाख लोग प्रभावित हुए हैं। यहां 56 लोगों की मौत हुई है व 577 लोग घायल हुए हैं। 82,700 से ज्यादा लोगों के विस्थापित होने की आशंका है। सरकार के अनुसार, मोजाम्बिक में कम से कम 202 लोगों के मारे जाने की पुष्टि हुई है। हक ने कहा कि मृतकों की संख्या बढ़ सकती है। यूनिसेफ के अनुसार, 260,000 बच्चों के प्रभावित होने की आशंका है। हक ने कहा कि जिम्बाब्वे में कम से कम 102 मौतें हुईं हैं और 200 से ज्यादा लोग के घायल होने की सूचना है और 200 से ज्यादा लोग लापता बताए जा रहे हैं।

 

Read the Latest India news hindi on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले India news पत्रिका डॉट कॉम पर.

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned