US President Election: पहले प्रेसिडेंशियल डिबेट के बाद ट्रंप को बड़ा झटका! 69 फीसदी लोग बहस से खुश नहीं

HIGHLIGHTS

  • US Presidential Debate: अमरीकी राष्ट्रपति चुनाव से पहले पहला प्रेसिडेंशियल डिबेट मंगलवार रात 9 बजे संपन्न हुआ।
  • डिबेट में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और जो बिडेन के बीच गर्मागरम तीखी बहस देखने को मिला।
  • CBS न्यूज के एक सर्वे में 48 फीसदी लोग बिडेन के समर्थन में दिखे, तो 41 फीसदी लोगों ने माना कि ट्रंप बहस में काफी आगे रहे।

By: Anil Kumar

Updated: 30 Sep 2020, 02:53 PM IST

वाशिंगटन। अमरीका में आगामी 3 नवंबर को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव ( US Presidential Election ) के लिए चल रहे ताबड़तोड़ चुनाव प्रचार के बीच पहला प्रेसिडेंशियल डिबेट मंगलवार रात 9 बजे संपन्न हो गया।

इस पहले प्रेसिडेंशियल डिबेट ( First Presidential Debate ) में राष्ट्रपति ट्रंप और जो बिडेन के बीच गर्मागरम बहस देखने को मिली। कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर दोनों ने ही एक-दूसरे पर तीखे हमले किए तो वहीं, बहस के दौरान हुए जुबानी नौक-झोक को लेकर अब आम लोगों की ओर से तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं सामने आने लगी है। बहस में तय मानकों का उल्लंघन कर आक्रामक व्यवहार अपनाने और बार-बार अपने प्रतिद्वंदी को टोकने को लेकर आम लोगों में नाराजगी है और डोनाल्ड ट्रंप की जमकर आलोचना कर रहे हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि चुनाव से पहले पहला प्रसिडेंशियल डिबेट के बाद ट्रंप को एक बड़ा झटका लगा है।

US Presidential Debate: ट्रंप ने कसा तंज, कहा-अगर बिडेन उनकी जगह होते तो कोरोना से दो करोड़ लोगों की मौत होती

दरअसल, इस बहस के बाद CBS न्यूज ने एक सर्वेक्षण ( CBS News Poll ) कराया, जिसमें 48 फीसदी लोग बिडेन के समर्थन में दिखाए दिए, तो वहीं महज 41 फीसदी लोगों ने माना कि ट्रंप बहस में काफी आगे रहे। इस इस सर्वेक्षण में जो सबसे बड़ी बात निकलकर सामने आई, वह ये है कि डिबेट को देखने वाले 10 में से 8 लोगों ने माना कि ये पूरी बहस नकारात्मक यानी नेगेटिव थी।

69 फीसदी लोग डिबेट से खुश नहीं

CBS ने अपने सर्वेक्षण में ये पाया कि पहला प्रसिडेंशियल डिबेट को देखने के बाद लोग बहुत ही बुरा महसूस कर रहे थे। 69 फीसदी लोगों ने नाराजगी जाहिर करते हुए माना कि यह डिबेट पूरी तरह से नकारात्मक थी।

बहस के दौरान लोगों को जो सबसे खराब लगी वह ये था कि किसी भी सवाल के लिए दोनों पक्ष को जवाब देने का मौका दिया गया, लेकिन ट्रंप अपने समय पर बोलने के बाद भी बिडेन के समय पर बीच-बीच में लगातार बोलते रहे। इसको लेकर लोगों ने नाराजगी जाहिर की है और ट्रंप की आलोचना हो रही है।

America: सुप्रीम कोर्ट की जज बनीं Amy Cone Barrett, राष्ट्रपति ट्रंप ने दी मंजूरी

ट्रंप के इस व्यवहार को देखते हुए बहस के मॉडरेटर वॉलेस ने कई बार उन्हें रोका। हालांकि इसके बावजूद भी वे कई बार उनकी बातों को दरकिनार कर बोलते रहे।

अब तक नहीं देखी ऐसी बहस

पहला प्रेसिडेंशियल डिबेट के बाद लोगों में काफी नाराजगी देखने को मिल रहा है। CSB के सर्वे में लोगों ने कहा कि अब से पहले इससे खराब प्रेसिडेंशियल डिबेट नहीं देखी गई। लोगों ने माना कि राष्ट्रपति ट्रंप का व्यवहार ठीक नहीं रहा। ऐसे में अब राजनीतिक जानकारों का मानना है कि ट्रंप के इस तरह के व्यवहार से उन्हें नुकसान हो रहा है।

पहले लोग कोरोना व अन्य मुद्दों को लेकर ट्रंप सरकार से नाराज हैं, तो वहीं प्रेसिडेंशियल डिबेट में ट्रंप के इस तरह के व्यवहार को लेकर लोगों में और भी नाराजगी देखने को मिल रही है। बहस पूरी होने के बाद जो बिडेन ने एक ट्वीट करते हुए कहा कि डोनाल्ड ट्रंप अब तक के सबसे खराब अमरीकी राष्ट्रपति साबित हो रहे हैं।

America: चुनाव से पहले ही राष्ट्रपति Trump ने मान ली हार! बोले- मेरा हारना देश के लिए बुरा होगा

मालूम हो कि 2016 के राष्ट्रपति चुनाव में प्रेसिडेंशियल डिबेट और अन्य चुनावी सर्वेक्षणों में ट्रंप के प्रतिद्वंदी हिलेरी क्लिंटन करीब 30 लाख वोटों से आगे थीं, लेकिन चुनाव के अंतिम परिणाम में ट्रंप ने बाजी मार ली। ऐसे में अभी के चुनावी सर्वे को लेकर कुछ भी अनुमान लगाना जल्दबाजी होगा।

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned