अफगानिस्तान में तालिबानी हमले में 7 पुलिसकर्मियों की मौत, तीन घायल

HIGHLIGHTS

  • अफगानिस्तान ( Afghanistan ) के फराह प्रांत में तालिबान ( Taliban ) ने हमले को अंजाम दिया
  • प्रांतीय राजधानी फराह शहर के बाहरी इलाके में रिगी गांव में एक सुरक्षा चौकी पर हमला किया

By: Anil Kumar

Updated: 28 May 2020, 08:47 PM IST

काबुल। अफगानिस्तान ( Afghanistan ) में शांति बहाली को लेकर हुए शांति समझौते के बाद भी लगातार हमलों को सिलसिला जारी है। अब ताजा मामले में तालिबान ने एक हमले में सात पुलिसकर्मियों को मौत के घाट उतार दिया है।

यह हमला अफगानिस्तान के फराह प्रांत में तालिबान ने अंजाम दिया है। इस हमले में कम से कम सात पुलिसकर्मियों की मौत हो गई और तीन अन्य घायल हो गए। गुरुवार को अधिकारियों ने जानकारी देते हुए बताया कि तालिबान की ओर से ये हमला किया गया है।

Afghanistan: ईद के मौके पर Taliban ने आम जनता को दी राहत, तीन दिनों के संघर्षविराम का ऐलान

प्रांतीय पुलिस प्रवक्ता साहिबुल्लाह मुहिब ने सिन्हुआ समाचार एजेंसी को बताया, 'आतंकवादियों ने बुधवार को प्रांतीय राजधानी फराह शहर के बाहरी इलाके में रिगी गांव में एक सुरक्षा चौकी पर हमला किया। पुलिस और आतंकवादियों की झड़प में आतंकवादियों के भी हताहत होने की सूचना मिली है।’ माना जा रहा है कि आतंकवादियों ने घायल पुलिसकर्मियों को अपने कब्जे में लिया है।

संघर्ष विराम की घोषणा के बाद हुआ हमला

इस हमले को लेकर तालिबान की ओर से कोई प्रतिक्रिया व्यक्त नहीं की गई है। अधिकारियों ने बताया कि यह हमला तालिबान आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच तीन दिन तक चल रहे संघर्ष विराम के एक दिन बाद हुआ, जो मंगलवार को समाप्त हुआ था। तालिबान ने संघर्ष विराम का विस्तार नहीं किया है।

आपको बता दें कि अफगान सरकार और तालिबान के बीच संघर्ष विराम की घोषणा हुई थी, जिसके तहत अफगानिस्तान ने 900 तालिबानी कैदियों को मंगलवार को रिहा कर दिया था।

अफगानिस्तान: गोलीबारी की दो अलग-अलग घटना में 10 की मौत, 14 घायल

इसमें से 600 काबुल स्थित कुख्यात बगडाम (Bagram) जेल में बंद थे। अफगान सरकार ने तालिबान की तरफ से ईद-उल-फितर के मौके पर तीन दिवसीय युद्धविराम प्रस्ताव के जवाब में कैदियों की रिहाई का ऐलान किया था।

Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned