चीन की नापाक चाल, समझौते के बीच लद्दाख में भारतीय सीमा पर तैनात किए 'सुपर सोल्‍जर', तस्वीरें आईं सामने

HIGHLIGHTS

  • चीन ने अपने सैनिकों के लिए 'एक्सोस्केलेटन सूट' बनाया हैगत जो उन्‍हें भारी वजन ले जाने में मदद करता है।
  • इस तरह के सुरक्षाकवच वाले सूट से लैस सैनिकों को चीन ने पूर्वी लद्दाख में तैनात किया है।

By: Anil Kumar

Updated: 15 Feb 2021, 03:45 PM IST

बीजिंग। पूर्वी लद्दाख सीमा पर भारत-चीन के बीच बीते कई महीनों से जारी तनातनी अब समाप्त होता नजर आ रहा है। दोनों देशों के सैन्य अधिकारियों के बीच लंबी बातचीत के बाद सीमा पर जारी गतिरोध को खत्म करने पर सहमति बनी और इसको लेकर कदम उठाए जा रहे हैं।

लेकिन चीन की पुरानी आदतों के मद्देनजर उनकी बातों और वादों पर भरोसा नहीं किया जा सकता है। संभवतः इस बार भी कुछ ऐसा ही प्रतीत हो रहा है। जहां एक ओर दोनों देशों के बीच समझौते के अनुरुप कदम उठाए जा रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ चीन अपनी नापाक चाल चलनी शुरू कर दी है।

लद्दाख में सेना के जवानों की तरह वैज्ञानिकों की होगी ट्रांसफर, जानिए कैसे व क्यों

दरअसल, चीन ने अब अपने सैनिकों को 'सुपर सोल्‍जर' में बदलना शुरू कर दिया है। चीन ने ऐसे सैनिकों के लिए एक आयरनमैन की तरह से 'एक्सोस्केलेटन सूट' बनाया है जो उन्‍हें भारी वजन ले जाने में मदद करता है।

इस तरह के सुरक्षाकवच वाले सूट से लैस सैनिकों को चीन ने पूर्वी लद्दाख में तैनात किया है। यह यही इलाका है जहां पर दोनों ही देशों के बीच पिछले कई महीने से तनाव चल रहा है। रूसी न्‍यूज वेबसाइट आरटी के मुताब‍िक चीन के सरकारी टीवी चैनल सीसीटीवी ने अपनी रिपोर्ट में PLA सै‍निकों के यह सूट पहनकर गश्‍त लगाने को द‍िखाया गया है।

बता दें कि चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) द्वारा 'एक्सोस्केलेटन सूट' पहनकर सीमा पर गश्‍त लगाने की यह खबर ऐसे समय पर आई है जब पिछले दिनों बीजिंग पर भारतीय सैनिकों के खिलाफ अपने सबसे घातक माइक्रोवेब वेपन के इस्‍तेमाल का आरोप लगा था।

नागरी इलाके में तैनात किए गए हैं चीनी सैनिक

चीन सेंट्रल टेलीविजन (सीसीटीवी) ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि चीन ने अपने सैनिकों को लद्दाख सीमा के पास नागरी इलाके में तैनात किया है। एक्सोस्केलेटन सूट की मदद से इन सैनिकों ने अग्रिम मोर्चे पर तैनात अपने साथी सैनिकों को चीनी नए साल का तोहफा पहुंचाया। रिपोर्ट में ये नहीं बताया गया है कि इस सूट को किसने बनाया है।

China: सैन्यकर्मियों की सैलरी में 40 फीसदी का इजाफा, इसी साल से मिलेगा बढ़ा हुआ वेतन

चीनी सरकार के मुखपत्र ग्लोबल टाइम्स ने बताया है कि एक्सोस्केलेटन सूट की मदद से चीनी सैनिक गश्ती और संतरी ड्यूटी जैसे मिशन में अत्याधिक प्रभावकारी है। जिन सैनिकों को यह सूट सबसे पहले दिया गया है वे दक्षिण-पश्चिम चीन के तिब्बत स्वायत्त क्षेत्र में में स्थित नागरी में तैनात हैं।

बता दें कि इस इलाके में चीन का एक महत्वपूर्ण एयरफोर्स बेस भी है। जो भारत के खिलाफ चीनी आक्रमण का बड़ा केंद्र बन सकता है। नागरी में तैनात चीनी सैनिकों ने इस सूट को पहनना भी शुरू कर दिया है। नागरी समुद्रतल से 5000 मीटर से ज्यादा की ऊंचाई पर स्थित है।

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned