एनकाउंटर के भय से पूर्व विधायक के बेटे की कार लेकर सरेंडर करने पहुंचा हत्यारोपी, बोला- गोली मत मारना...

Highlights

- बड़ौत के गांव बावली में 9 नवंबर की शाम शिवम की गोली मारकर हत्या करने का मामला

- हत्या के मुख्य आरोपी ने सरेंडर के दौरान तमंचा भी पुलिस को सौंपा

- पुलिस क्षेत्राधिकारी के सामने कबूल किया जुर्म

By: lokesh verma

Published: 12 Nov 2020, 01:45 PM IST

बागपत. सीएम योगी के आदेश पर लगातार एनकाउंटर कर बदमाशों को पस्त करने वाली यूपी पुलिस का अब बदमाशों में भी खौफ देखने को मिल रहा है। बागपत में एनकाउंटर के डर से शिवम हत्याकांड के मुख्य आरोपी मोनित ने कोतवाली पहुंचकर सीओ आलोक कुमार के समक्ष सरेंडर कर दिया। बताया जा रहा है कि आरोपी पूर्व विधायक स्व. त्रिपाल धामा और सांसद पूर्व प्रतिनिधि अरुण धामा की गाड़ी से काेतवाली पहुंचा और सरेंडर करते करते हुए सीओ को एक तमंचा भी सौंपा। इसके बाद बड़ौत पुलिस ने हत्यारोपी मोनित को हिरासत में ले लिया।

यह भी पढ़ें- दिवाली पर बड़ी गड़बड़ी की आशंका, इन अतिसंवेदनशील जिलों में पीएसी की अतिरिक्त कंपनियां तैनात

उल्लेखनीय है कि बड़ौत के गांव बावली में 9 नवंबर की शाम शिवम की गोली मारकर हत्या की गई थी। मृतक के भाई बिट्टू ने बादल उर्फ कारतूस, मोनित उर्फ छोटू, अभिषेक और एक अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कराया था।पुलिस आरोपियों की धरपकड़ के प्रयास में जुटी ही थी कि बुधवार को शिवम हत्याकांड के मुख्य आरोपी मोनित ने परिजनों के साथ कोतवाली पहुंचकर सीओ आलोक सिंह के सामने सरेंडर कर दिया। कोतवाली पहुंचते ही आरोपी ने कहा कि उसका नाम मोनित है, जिसकी पुलिस तलाश कर रही है। हत्यारोपी को अचानक सामने देख पुलिस अलर्ट हो गई। एक सिपाही ने मोनित को पकड़ लिया और कोतवाली प्रभारी अजय शर्मा के पास लेकर पहुंचा। इस दौरान हत्यारोपी ने खुद गाड़ी से तमंचा निकालकर पुलिस को सौंप दिया। आरोपी ने कहा कि उसे पुलिस से एनकाउंटर का डर था। इसलिए वह खुद ही सरेंडर कर रहा है।

2 महीने में 40 से अधिक एनकाउंटर

बता दें कि पिछले दो महीने में बागपत पुलिस 40 से ज्यादा एनकाउंटर कर चुकी है। पुलिस मुठभेड़ में बड़े-बड़े बदमाशों को गोली मारकर सलाखों के पीछे पहुंचा चुकी है। यही वजह है कि पुलिस की गोली से बचने के लिए शिवम हत्याकांड के मुख्य आरोपी मोनित ने परिवार के साथ कोतवाली पहुंचकर सरेंडर कर दिया है। आरोपी ने अपना जुर्म भी सीओ के सामने कबूल कर लिया है।

गाड़ी के संबंध में होगी जांच

हत्यारोपी मोनित ने खुद ही गाड़ी से तमंचा निकालकर पुलिस को सौंपा है। सीओ आलोक कुमार का कहना है कि आरोपी ने एनकाउंटर के डर से कोतवाली में सरेंडर किया है। वह किसकी गाड़ी में आया बैठकर आया, इसकी जांच की जाएगी।

यह भी पढ़ें- महिला अधिकारी को 50 हजार की रिश्वत लेते मेरठ विजिलेंस ने किया गिरफ्तार

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned