ये क्या...अंता कांग्रेस में विद्रोह!

सियासी ड्रामा : अन्ता में पार्टी कार्यकर्ता आक्रोशित

By: mukesh gour

Published: 16 Dec 2020, 12:17 AM IST

अन्ता. कांग्रेस की ओर से पालिकाध्यक्ष पद के लिए मुस्तुफा खान को अधिकृत घोषित किए जाने के बाद यहां पार्टी में विद्रोह के स्वर गूंज उठे हैं। नामांकन दाखिल करने के तुरंत बाद चुनाव हारे पार्षदों सहित कई पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता नगर अध्यक्ष चन्द्र्रप्रकाश मीणा के आवास पर आ जुटे। जहां इन्होंने प्रेसवार्ता में कहा कि उनका विरोध किसी विशेष से नहीं है। किन्तु पिछले कार्यकाल में जिस पार्षद व्यक्ति के पास पालिकाध्यक्ष का 'रिमोट' था उसे प्रमोट कर इस बार पालिका की 'सम्पूर्ण चाबीÓ सौंपी जा रही है। जो जन भावनाओं के कतई विपरीत है।

read also : 1230 सरकारी कर्मचारी जीम रहे थे गरीबों का राशन
कांग्रेस के श्याम सोनी, मनोज त्यागी, बबलू मालव, ललित गालव, मुकेश गुप्ता, हरीश भंडारी, चन्दू माहेश्वरी, मनमोहन मीणा, रामावतार सोनी आदि ने स्पष्ट कहा कि पिछले कांग्रेस बोर्ड में जमकर हुआ एकतरफा भ्रष्टाचार जनता की आंखों में खटक रहा है। इस कारण यहां पहले से पार्टी की छवि धूमिल होने के कारण कई वार्डों में तो चुनाव लडऩे के इच्छुक प्रत्याशी ही नहीं मिले। उसके बावजूद कार्यकर्ताओं ने रात दिन एक कर मुकाबला 16-16 की बराबरी पर ला दिया। किन्तु अब उन सब सहित जनता की इच्छा के विपरीत प्रत्याशी अधिकृत कर दिए जाने से वह आक्रोशित हैं। कार्यकर्ताओं ने इसका दोष पार्टी पर्यवेक्षकों पर डालते हुए चेतावनी दी कि जिन वरिष्ठ नेताओं ने चुनाव में पार्टी प्रत्याशी को हराने का काम किया। उन्हें निष्कासित ना किए जाने पर वह कांग्रेस से सामूहिक त्यागपत्र दे देंगे। इस दौरान रजत जैन, पूर्व पार्षद मुर्तजा अंसारी सहित दर्जनों कांग्रेसी कार्यकर्ता मौजूद थे। जिन्होंने इस निर्णय के खिलाफ नारेबाजी भी की।

read also : परवन नदी में बजरी के अवैध करते पांच ट्रैक्टर समेत 6 गिरफ्तार

भाजपा की राह आसान कांग्रेस की मुश्किलें बढ़ी
अन्ता में कांगे्रस पदाधिकारियों सहित कार्यकर्ताओं में दोफाड़ हो जाने से अब यहां पालिकाध्यक्ष पद पर भाजपा प्रत्याशी रामेश्वर खण्डेलवाल की जीत सुनिश्चित मानी जा रही है। वहीं राजनीति के जानकार तो कांग्रेस में क्रॉस वोटिंग की संभावना भी जताने लगे हैं। ऐसे में जहां भाजपा की राह आसान हो गई। वहीं अन्ता विधायक एवं मंत्री कांगे्रस के दिग्गज नेता प्रमोद जैन भाया की मुश्किलें बढ़ चली हैं।

read also : कोटा रेल मंडल: 135 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से दौड़े नई डिजाइन के एलएचबी कोच
चुनाव जीते कांग्रेस नगर अध्यक्ष बाड़ाबंदी छोड़ घर लौटे
कांगे्रस में मची कलह की हलचल के बीच चुनाव जीते कांग्रेस नगर अध्यक्ष चन्द्रप्रकाश मीणा भी बाड़ाबंदी तोड़ घर आ गए हैं। हालांकि मीणा ने इसके पीछे अपने खराब स्वास्थ्य का हवाला दिया। किन्तु यह भी कहा कि पिछले कार्यकाल में पालिका में हुए भ्रष्टाचार के बावजूद फिर से पालिकाध्यक्ष प्रत्याशी का चयन करने में अधिकांश विजयी पार्षदों की राय दरकिनार कर दिए जाने से पार्टी पदाधिकारियों सहित यहां के दर्जनों कार्यकर्ताओं में रोष है। जिसके परिणाम आगामी किसी भी चुनाव में कांग्रेस पार्टी के लिए दुखदायी होंगे।

BJP Congress
Show More
mukesh gour
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned