scriptमुख्तार का काला साम्राज्य ढहाने वाले अनुराग बने बरेली के कप्तान, माफियाओं की खैर नहीं, सुशील एसटीएफ के एसएसपी | Patrika News
बरेली

मुख्तार का काला साम्राज्य ढहाने वाले अनुराग बने बरेली के कप्तान, माफियाओं की खैर नहीं, सुशील एसटीएफ के एसएसपी

मऊ आजमगढ़ समेत पूर्वांचल के माफिया मुख्तार और उसके गुर्गों का सफाया कर काला साम्राज्य ढहाने वाले तेज तर्रार आईपीएस अफसर अनुराग आर्या अब बरेली के नये कप्तान बने हैं।

बरेलीJun 25, 2024 / 08:42 pm

Avanish Pandey

एसएसपी घुले सुशील चंद्रभान और अनुराग आर्या (फाइल फोटो)

बरेली। मऊ आजमगढ़ समेत पूर्वांचल के माफिया मुख्तार और उसके गुर्गों का सफाया कर काला साम्राज्य ढहाने वाले तेज तर्रार आईपीएस अफसर अनुराग आर्या अब बरेली के नये कप्तान बने हैं। ईमानदार आईपीएस अफसर सुशील को एसटीएफ लखनऊ का एसएसपी बनाया गया है।
दबंग आईपीएस के रूप में जाने जाते हैं आईपीएस अनुराग आर्य
2013 बैच के आईपीएस अफसर अनुराग आर्य बागपत के रहने वाले हैं। आईपीएस अनुराग आर्य 2019 में मऊ के कप्तान बने थे। एक साल में उन्होंने मऊ सहित पूर्वांचल के कई जिलों में मुख्तार अंसारी के अपराध की जड़ों को काटना शुरू कर दिया था। मऊ में अवैध बूचड़खानों पर बड़ी कार्रवाई करते हुए 26 लोगों पर गैंगस्टर एक्ट लगाया था। मऊ में माफिया मुख्तार और उसके गुर्गों पर कार्रवाई के बाद शासन ने उन्हें तीन साल पहले पूर्वांचल के सबसे बड़े जिले आजमगढ़ की कमान सौंपी थी। गाजीपुर, मऊ, जौनपुर अन्य जगहों पर मुख्तार अंसारी का गैंग जिस तरह काम करता था। ठीक उसी अंदाज में आजमगढ़ में भी उसने काफी भौकाल बना रखा था। अपने काले कारनामों को वह जेल में बैठकर संचालित करता था। माफिया के खिलाफ आईपीएस अनुराग आर्य की कड़े एक्शन को देखते हुये योगी सरकार ने उन पर फिर भरोसा जताया। 2013 बैच के नये आईपीएस को बरेली जैसे बड़े जिले की कमान सौंपी है। अब बरेली में भी माफियाओं की खैर नहीं है।
प्रदेश भर में गुंडों माफियाओं पर कार्रवाई करेंगे आईपीएस सुशील
2012 बैच के आईपीएस अफसर घुले सुशील चंद्रभान को 30 जुलाई 2023 को कांवड़ यात्रा में हुए बवाल के बाद बरेली का एसएसपी बनाया गया था। इससे पहले वह सीतापुर में एसपी थे। बरेली में उन्होंने 0कानून व्यवस्था संभालते हुए कांवड़ यात्रा को सकुशल संपन्न कराया। एसएसपी बरेली रहते उन्होंने 11 माह का कार्यकाल पूरा किया। ईमानदार एसएसपी घुले सुशील चंद्रभान पुलिस से लेकर आम जनमानस में सरल और सादगी भरे व्यवहार के लिए जाने जाते हैं। हालांकि पिछले कुछ महीनों में पुलिस में भ्रष्टाचार और अनुशासनहीनता के काफी मामले बढ़े। जिस पर एसएसपी ने कड़ी कार्रवाई भी की, लेकिन इसकी शिकायतें शासन तक की गईं। इसके अलावा हाल ही में पीलीभीत बाईपास पर भू माफियाओं के द्वारा दिनदहाड़े घंटे भर तक फायरिंग और उपद्रव को लेकर भी शासन ने नाराजगी जाहिर की थी। प्रमुख सचिव गृह और डीजीपी ने इस पूरे मामले की रिपोर्ट आईजी डा. राकेश सिंह से तलब की थी। इसके बाद शासन ने एसएसपी घुले सुशील चंद्रभान का ट्रांसफर कर मंगलवार को एसटीएफ का एसएसपी बना दिया।

Hindi News/ Bareilly / मुख्तार का काला साम्राज्य ढहाने वाले अनुराग बने बरेली के कप्तान, माफियाओं की खैर नहीं, सुशील एसटीएफ के एसएसपी

ट्रेंडिंग वीडियो