पैर से ई-रिक्शा छूने पर चालक को पीट-पीटकर मार डाला, पूर्व जिला पंचायत सदस्य समेत तीन हिरासत में

Highlights

- बरेली में हाईवे पर सरेआम दिया गया वारदात को अंजाम

- ई-रिक्शा चालक की मौत के बाद ग्रामीणों ने किया हाईवे जाम करने का प्रयास

- पुलिस ने चार लोगों पर रिपोर्ट दर्ज करतेे हुुए पूर्व जिला पंचायत सदस्य समेत तीन को हिरासत में लिया

By: lokesh verma

Published: 25 Nov 2020, 01:18 PM IST

बरेली. शाहजहांपुर हाईवे पर सरेआम एक ई-रिक्शा चालक की पीट-पीटकर हत्या का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि गांव पदारथपुर निवासी फरजुद्दीन का ई-रिक्शा सामने की तरफ से आ रहे बाइक सवार के पैर से छू गया था। इसके बाद बाइक सवार ने अपने परिजनों के संग फरजुद्दीन को दिनदहाड़ेपीट-पीटकर मौत के घाट उतार दिया। फरजुद्दीन की मौत के बाद ग्रामीणों ने हाईवे जाम करने का भी प्रयास किया, लेकिन इससे पहले ही सीओ तृतीय स्वाति यादव ने कई थानाें की फोर्स को मौके पर तैनात कर दिया। पुलिस ने इस हत्याकांड में चार लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करतेे हुुए पूर्व जिला पंचायत सदस्य समेत तीन लोगों को हिरासत में लिया है।

यह भी पढ़ें- आपराधिक वारदातों के जरिये हिस्ट्रीशीटर कुरैशी ने हासिल की 20 करोड़ की संपत्ति, कुर्क

दरअसल, यह हृदय विदारक घटना शाहजहांपुर हाईवे स्थित नरियावल चौराहे की है। जानकारी के अनुसार, मंगलवार को करीबी दस बजे ई-रिक्शा चालक 35 वर्षीय फरजुद्दीन निवासी गांव पदारथपुर अपने रिक्शे के साथ नरियावल चौराहे से गुजर रहा था। इसी बीच नरियावल निवासी लियाकत सामने की तरफ से बाइक पर सवार होकर आ रहा था। फरजुद्दीन का रिक्शा उसके पैर से छू गया। इस पर लियाकत ने फरजुद्दीन को गालियां देनी शुरू कर दीं। फरजुद्दीन ने विरोध किया तो लियाकत ने शोर मचाते हुए अपने परिवार के पूर्व जिला पंचायत सदस्य जाकिर और उसके बेटे नाजिम को बुला लिया। इसके बाद आरोपियों ने फरजुद्दीन को जमीन पर गिराकर लात-घूंसों से जमकर पिटाई की। गंभीर हालत में फरजुद्दीन को अस्पताल ले जाया गया। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

हाईवे जाम करने का प्रयास

बता दें कि फरजुद्दीन नजदीकी गांव पदारथपुर का रहने वाला था। जैसे ही ग्रामीणों को फरजुद्दीन की मौत की जानकारी मिली तो वह जाम लगाने के लिए हाईवे पर एकत्रित होने लगे। वहीं, सीओ तृतीय स्वाति यादव को जैसे ही रिक्शा चालक को मृत घोषित करने की जानकारी मिली तो उन्होंने पहले से ही कई थानों की पुलिस फोर्स को मौके पर तैनात कर दिया, ताकि ग्रामीण हाईवे जाम न कर सकेेंं। फिलहाल पुलिस ने इस मामले में चार लोगों के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज करते हुए पूर्व जिला पंचायत सदस्य जाकिर समेत तीन को हिरासत में ले लिया है।

यह भी पढ़ें- शादी में दावत को लेकर दो जीजा भिड़े, पिट गई रोकने पहुंची पुलिस

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned