आपराधिक वारदातों के जरिये हिस्ट्रीशीटर कुरैशी ने हासिल की 20 करोड़ की संपत्ति, कुर्क

Highlights

- हिस्ट्रीशीटर वकील कुरैशी की 20 करोड़ 34 लाख रुपए की अवैध संपत्ति को कुर्क

- डीएम के आदेश पर पुलिस और प्रशासन ने की कार्रवाई

- सील की गई संपत्ति में 32 बीघा जमीन, सात दुकान और तीन प्लाट शामिल

By: lokesh verma

Published: 25 Nov 2020, 12:03 PM IST

बिजनौर. सीएम योगी के आदेश के बाद यूपी पुलिस और प्रशासन माफियाओं और हिस्ट्रीशीटर बदमाशों के खिलाफ लगातार कार्रवाई कर रहे हैं। मेरठ में बदन सिंह बद्दो की संपत्ति कुर्क करने के बाद अब बिजनौर के हिस्ट्रीशीटर वकील कुरैशी की 20 करोड़ 34 लाख रुपए की अवैध संपत्ति को कुर्क किया है। बिजनौर की शेरकोट पुलिस ने वकील कुरैशी की जमीन और दुकान समेत अन्य संपत्ति को कुर्क किया है। बता दें कि डीएम के आदेश पर पुलिस ने ढोल बजवाकर पहले सेे ही मुनादी कराकर वकील कुरैशी की संपत्ति कुर्क करने का ऐलान कर दिया था।

यह भी पढ़ें- उत्तर प्रदेश में 50 साल की उम्र पार कर चुके पुलिसकर्मियों की शुरू हो गई छंटनी, इनको किया गया जबरन रिटायर

एसडीएम धीरेंद्र सिंह ने बताया कि शेरकोट थाना क्षेत्र का रहने वाला वकील कुरैशी हिस्ट्रीशीटर बदमाश है। वकील कुरैशी के खिलाफ लोगों को धमकाकर अवैध वसूली समेत कई मामले दर्ज हैं। वकील कुरैशी अपने भाई इदरीश कुरैशी और भतीजे शमीम के साथ गैंग चलाता है। इन लोगों ने आपराधिक गतिविधियों को अंजाम देकर अकूत संपत्ति अर्जित की है। उन्होंने बताया कि इन लोगों के पास अपराध के अलावा आय का कोई श्रोत नहीं है। उन्होंने बताया कि पुलिस ने गैंगस्टर एक्ट के तहत कुरैशी के खिलाफ कार्रवाई करते हुए शेरकोट में दुकान और खाली पड़े प्लाट को कुर्क करते हुए सील किया गया है। सील की गई संपत्ति में 32 बीघा जमीन, सात दुकान और तीन प्लाट शामिल हैं, जिनकी कीमत 20 करोड़ 34 लाख रुपए है।

एसपी धर्मवीर सिंह ने बताया कि वकील कुरैशी हिस्ट्रीशीटर है। उसके खिलाफ गंभीर अपराधों के कई मुकदमे दर्ज हैं। उसने आपराधिक वारदातों को अंजाम देकर यह अवैध संपत्ति अर्जित की थी। उन्होंने बताया कि डीएम रमाकांत के आदेश के बादमंगलवार को प्रशासन ने कुरैशी की 20 करोड़ 34 लाख्र रुपए की संपत्ति को एडीएम प्रशासन विनोद कुमार गौड़ और एएसपी संजय कुमार की मौजूदगी में कुर्क किया।

यह भी पढ़ें- मथुरा के नंदबाबा मंदिर में नमाज पढ़ने वालों को बड़ा झटका, कोर्ट ने खारिज की जमानत याचिका

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned