समाज की लाइब्रेरी ने संवार दी दर्जनों युवाओं की जिंदगी

Om Prakash Mali | Updated: 14 Jul 2019, 06:09:04 AM (IST) Barmer, Barmer, Rajasthan, India

https://www.patrika.com/barmer-news/

समाज की लाइब्रेरी ने संवार दी दर्जनों युवाओं की जिंदगी

50-60 युवक युवतिया कर रहे सरकारी नौकरी
लाइब्रेरी में प्रतियोगी परीक्षाओं की सैकड़ों पुस्तके उपलब्ध

जटिया रैगर समाज कर रहा संचालन
बाड़मेर पत्रिका

शहर के चौहटन रोड स्थित जटिया समाज के हनुमान मंदिर परिसर में चल रही नि:शुल्क लाइब्रेरी से अध्ययन करने पर जटिया समाज के दर्जनों विद्यार्थी वर्तमान में सरकारी कार्मिक बन गए। जिनमें से अधिकांश ऐसे युवक युवतियां ऐसे है जिनके परिवार की आर्थिक स्थिती कमजोर होने के कारण प्रतियोगी परीक्षाओं की महंगी किताबे खरीदना उनके लिए दूर का सपना था। ऐसे में समाज की ओर से संचालित लाइब्रेरी में नि:शुल्क अध्ययन का मौका मिला तो आज सरकारी कार्मिक बन कर अपने परिवार का गूजारा कर रहे है। जो युवक युवती नौकरी में लगे है उनका यही कहना है कि लाइब्रेरी ने जीवन को एक नई दिशा दे दी। अन्यथा प्रतिस्पर्धा के युग में नौकरी मिलना कोसो दूर की बात थी।

वर्ष 2003 से हो रहा संचालन
जटिया रैगर समाज के कुछ युवाओं ने वर्ष 2003 में पैसा एकत्रित कर लाइब्रेरी का संचालन किया। इस दौरान 4 युवकों का सरकारी सेवा में चयन हुआ। इसके बाद धीरे धीरे लाइब्रेरी के प्रति क्रेज बढ़ता गया। वर्तमान में 50-60 युवक युवतिया व्याख्याता, अध्यापक, पुलिस, सूचना सहायक, कम्पाउडर सहित अन्य पदों पर कार्यरत है।

सभी पुस्तके उपलब्ध

लाइब्रेरी में पटवारी, रीट, एलडीसी, कांस्टेबल, सामान्य ज्ञान, मनोविज्ञान, करंट नोलेज सहित विभिन्न विषयों की पुस्तके उपलब्ध है। इसके अलावा नई भर्ती आने पर उससे सम्बधित पुस्तके मंगवाई जाती है। वर्तमान में लाइब्रेरी भवन को आधुनिक बनाने को लेकर कार्य योजना बनाई गई है।

अन्य समाजों के लिए भी प्रेरणा
जटिया समाज की ओर से संचालित लाइब्रेरी जरुरतमंदों के लिए कारगर साबित हुई। ऐसे में यह लाइब्रेरी अन्य समाजों के लिए भी प्रेरणा है। अन्य समाज इस प्रकार की मुहिम चलाकर शिक्षा के क्षेत्र में योगदान दे सकते है। इससे कमजोर वर्ग के विद्यार्थियों केा सम्बल मिल सकता है।

व्यु
भरपूर सहयोग मिला

समाज की ओर से संचालित लाइब्रेरी का भरपूर सहयोग मिला। सभी उपयोगी पुस्तके उपलब्ध है।
हरीश चौहान व्याख्याता

बेहतर सुविधा उपलब्ध

लाइब्रेरी में पुस्तकों के साथ बैठने व अध्ययन करने की बेहतर सुविधा है। विद्यार्थियों के लिए नि:शुल्क सुविधा है।
पिंकी खोरवाल अध्यापिका

50-60 लोगों का चयन

लाइब्रेरी में अध्ययन करने से 60 से अधिक लोगों का सरकारी सेवा में चयन हुआ है। समाज का विशेष सहयोग है।
विजय मोर्य लिपिक

जीवन को राह मिली

लाइब्रेरी में प्रतियोगी परीक्षा की पुस्तके नि:शुल्क मिलने से सरकारी सेवा में चयन हुआ है। जीवन को नई राह मिली है।
हरीश फुलवारिया वरिष्ठ अध्यापक

कोचिंग होती है संचालित

लाइब्रेरी के अलावा परिसर में प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी के लिए कोचिंग का संचालन भी नि:शुल्क है। परीक्षा की तैयारी हो जाती है।
कृष्णा बडेरा अध्यापिका

24 घंटे सुविधा उपलबध

लाइब्रेरी में विद्यार्थियों के पढऩे के लिए 24 घंटे सुविधा उपलब्ध है। सभी परीक्षाओं की पुस्तके उपलब्ध है।
गोपाल सिंघारिया सूचना सहायक

अनुकरणीय सहयोग

विद्यार्थियों के लिए प्रतियोगी परीक्षा की पुस्तके नि:शुल्क उपलब्ध करवाना समाज की ओर से अनुकरणीय सहयोग है।
भूपेन्द्र खोरवाल व्यवसायिक कर सहायक

सभी वर्गों के लिए उपलब्ध

समाज के युवाओं के लिए लाइब्रेरी की सुविधा उपलब्ध है। 60 से अधिक युवक युवतियों का चयन हुआ है। इसके अलावा अन्य समाज के विद्यार्थी जिनकों प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करनी है वे भी नि:शुल्क भाग ले सकते है। कोचिंग की सुविधा भी नि:शुल्क है।
उमाशंकर फुलवारिया अध्यक्ष जटिया समाज

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned