scriptलोकसभा चुनाव: ये है राजस्थान की सबसे हॉट सीट, इस युवा नेता ने छुड़ाए भाजपा और कांग्रेस के पसीने | Rajasthan Barmer Lok Sabha Election 2024 : Triangular Contest BJP and Congress | Patrika News

लोकसभा चुनाव: ये है राजस्थान की सबसे हॉट सीट, इस युवा नेता ने छुड़ाए भाजपा और कांग्रेस के पसीने

locationबाड़मेरPublished: Apr 02, 2024 02:43:40 pm

Submitted by:

Kamlesh Sharma

Barmer Lok Sabha Election 2024 : राज्य के बड़े लोकसभा क्षेत्र में शुमार बाड़मेर सीट अब राज्य की हॉट सीट बनती जा रही ही है। यहां त्रिकोणीय मुकाबले की बढ़ती स्थिति ने राजनीतिक तापमान बढ़ा दिया है।

barmer_lok_sabha_election_2024_1.jpg
Rajasthan Lok Sabha Election 2024 : बाड़मेर। राज्य के बड़े लोकसभा क्षेत्र में शुमार बाड़मेर सीट अब राज्य की हॉट सीट बनती जा रही ही है। यहां त्रिकोणीय मुकाबले की बढ़ती स्थिति ने राजनीतिक तापमान बढ़ा दिया है। 37.2 डिग्री की तपिश में राजनीतिक गर्मी का यह आलम है कि तीनों ही प्रत्याशियों ने ताकत झोंक दी है और चुनाव को युद्ध की तरह लड़ने की तैयारियों में है।
कैसे बनी हॉट सीट
कांग्रेस-बाड़मेर और जैसलमेर में कांग्रेस ने इस सीट को गंभीरता से लेते हुए यहां एक बड़ा बदलाव कर राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के उम्मेदाराम को पहले कांग्रेस ज्वाइन करवाई और फिर उनको ही प्रत्याशी बना दिया। नए चेहरे के साथ में कांग्रेस खड़ी हो गई है। दिग्गज जो दावेदार थे वे सारे इस पर एकमत हो गए है।
भाजपा- भाजपा से यहां प्रत्याशी केन्द्रीय कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी है। विधानसभा चुनावों में कैलाश चर्चित रहे और मुख्यमंत्री और प्रदेशाध्यक्ष के चेहरों में उनका नाम शामिल हुआ। इसके बाद केन्द्रीय मंत्री पर दुबारा विश्वास कर भाजपा ने टिकट दिया,जबकि विधानसभा चुनावों में टिकट वितरण को लेकर बड़ा विवाद बन गया था।
निर्दलीय ने किया त्रिकोणीय संघर्ष
कांग्रेस भाजपा के सीधे मुकाबले के बीच में शिव से विधायक रविन्द्रसिंह भाटी निर्दलीय के तौर पर पर्चा दाखिल कर चुके है। रविन्द्र को मनाने के लिए राज्य स्तर पर भाजपा ने प्रयास किए थे लेकिन वे माने नहीं। रविन्द्र भी अपनी पूरी ताकत चुनावों में लगा रहे है।
अब सबके लिए नाक का सवाल
भाजपा 25-25 के टारगेट को लेकर चल रही है। इस बीच निर्दलीय के खड़ा होने से समीकरण प्रभावित हो रहे है। कांग्रेस इस सीट को अपने जातिगत समीकरण के हिसाब से ठीक मानने लगी थी लेकिन त्रिकोण से यहां पर भी प्रभाव होने लगा है। ऐसे में अब दोनों ही मुख्य दलों के लिए यह सीट नाक का सवाल हो गई है। निर्दलीय प्रत्याशी अभी शिव से विधायक है लेकिन विधायकी के तुरंत बाद ही लोकसभा के चुनाव में आने से अब उनके लिए भी बड़ा निर्णय माना जा रहा है।
प्रतिदिन की पहुंच रही खबर
नामांकन की अंतिम तिथि 4 अप्रेल है। उससे पहले ही यहां युद्ध की तरह चुनाव प्रचार-प्रसार प्रारंभ होने से अब इसको लेकर प्रतिदिन उच्च स्तरीय रिपोर्ट पहुंचने लगी है। इसमें हर दिन बदल रहे माहौल पर चर्चाएं बढ़ गई है। कांग्रेस-भाजपा के दिग्गजों ने भी अब बाड़मेर-जैसलमेर के चुनावी गणित पर ताकत झोंकने की तैयारी की है।
loksabha entry point

ट्रेंडिंग वीडियो