रात में नींद खुली तो मां ने बेटी से पूछा- खड़ी क्यों हो..पास पहुंची तो देखकर उड़ गए होश

नर्सिंग कॉलेज की प्रिंसिपल की 24 साल की बेटी ने फांसी लगाकर की खुदकुशी...आत्महत्या का कारण अज्ञात

By: Shailendra Sharma

Published: 11 Sep 2021, 03:49 PM IST

भोपाल. भोपाल के मिसरोद इलाके में एक 24 साल की युवती ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। युवती की मां विदिशा के नर्सिंग कॉलेज में प्रिंसिपल हैं और पिता डीआरएम ऑफिस में ओएस के पद पर पदस्थ हैं। युवती ने सुसाइड का कदम क्यों उठाया फिलहाल इसका खुलासा नहीं हो पाया है। पुलिस को कोई सुसाइड नोट भी नहीं मिला है। बेटी की मौत से दुखी माता-पिता का रो-रोकर बुरा हाल है और अभी तक पुलिस उनके भी बयान नहीं ले पाई है जिससे कि आत्महत्या के कारणों का खुलासा हो सके।

 

मौत की नींद सो चुकी थी बेटी
पुलिस के मुताबिक मिसरोद के ईटन पार्क में रहने वाली 24 वर्षीय यशी भटनागर ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। यशी के पिता रोहताश भटनागर डीआरएम ऑफिस में ओएस हैं और मां प्रेमलता भटनागर विदिशा के एक नर्सिंग कॉलेज की प्रिंसिपल हैं। दोनों ही कॉलेज में पढ़ाई कर रही बेटी यशी से मिलने जुलने के लिए अक्सर आते रहते थे। शुक्रवार की रात करीब 10 बजे माता-पिता व यशी तीनों ने खाना खाया और सोने चले गए। रात करीब ढ़ाई बजे मां प्रेमलता की नींद खुली तो यशी कमरे में खड़ी नजर आई। उन्होंने बेटी को आवाज दी और पूछा कि यशी खड़ी क्यों हो। लेकिन यशी ने कुछ जवाब नहीं दिया, बेटी के जवाब न देने पर मां बेटी के पास पहुंची तो यशी दुपट्टे से फांसी लगा चुकी थी। बेटी को फांसी पर लटका देख मां की चीख निकल गई और चीख सुनकर पिता रोहताश भागते हुए कमरे में पहुंचे। जिसके बाद घटना की सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस मौके पर पहुंची और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर मामले की तफ्तीश शुरु की। घटनास्थल से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है जिसके कारण इस बात का खुलासा नहीं हो पाया है कि यशी ने खुदकुशी क्यों की। ये भी पता चला है कि यशी के दो भाई भी हैं जो जॉब करते हैं और अलग रहते हैं। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

ये भी पढ़ें- गर्लफ्रैंड के घर के दरवाजे पर प्रेमी ने लगाई फांसी, सुसाइड नोट में प्रेमिका को बताया....

Show More
Shailendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned