जहरीली शराब से मौतों का मामला

डॉ गोविंद सिंह बोले संघ से जुड़े एनजीओ की जांच हो

रावत ने कहा सरकार,प्रशासन और माफिया का गठजोड़ चला रहा शराब का अवैध कारोबार

 

 

By: Arun Tiwari

Published: 07 Apr 2021, 03:31 PM IST

भोपाल : जहरीली शराब से मौतों के मामले में कांग्रेस, प्रदेश सरकार पर हमलावर हो गई है। कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक डॉ गोविंद सिंह और कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष रामनिवास रावत ने पीसीसी में संयुक्त प्रेस कान्फ्रेंस कर सरकार और प्रशासन पर कई गंभीर आरोप लगाए। डॉ गोविंद सिंह ने कहा कि भिंड में उत्तर प्रदेश से शराब आ रही है। 8-10 शराब माफिया मिलकर कर शराब का अवैध कारोबार कर रहे हैं और जहरीली शराब बेच रहे हैं जिससे लोगों की मौत हो रही है। ये लोग 30- 40 गांव में रात को नकली शराब लाते हैं और लोगों को कम कीमत में बेचते हैं। पांच से दस लाख रुपए की रोजाना नकली शराब बेची जा रही है। डॉ गोविंद सिंह ने कहा कि एसपी-कलेक्टर सबको ये बात पता है। इसी शराब के कारण भिंड जिले में सात लोग मौत का शिकार हो गए।

पुलिस को बताया गया लेकिन कोई कार्यवाही नहीं की गई। 4 लोगों का तो पोस्ट मार्टम ही नहीं होने दिया गया। अभी तक कोई भी अधिकारी मृतकों के परिवार में नहीं गया और न हीं सरकार ने कोई आर्थिक मदद की है। डॉ गोविंद सिंह ने कहा कि नशामुक्ति के नाम पर संघ के अनुषांगिक संगठन एनजीओ चला कर करोड़ों का अनुदान ले रहे हैं,इनकी भी जांच होनी चाहिए। रामनिवास रावत ने कहा कि प्रशासन निरंकुश हो गया है। इस पूरे मामले की जांच हो और सरकार मौत बेचने वालों के खिलाफ मृत्युदंड जैसा कठोर कानून बनाए। रावत ने कहा कि शासन,प्रशासन और माफिया का गठजोड़ ये पूरा अवैध कारोबार चला रहा है। मिथाइल,थिनर,स्प्रिट जैसा प्रतिबंधित सामान कहां से आ रहा है इसकी भी जांच होनी चाहिए।

देवड़ा से की जांच की मांग :
डॉ गोविंद सिंह और रामनिवास रावत समेत कांग्रेस के नेता आबकारी मंत्री जगदीश देवड़ा के निवास पर पहुंचे। इन नेताओं ने देवड़ा को नकली शराब की बॉटल देकर जांच कराने की मांग की। देवड़ा ने सहमति जताते हुए दोषियों पर कार्रवाई की बात कही।

Arun Tiwari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned